scriptExpensive goods are also getting cheaper here | महंगा होने के बाद भी पहले वाले दामों पर मिल रहा यहां हर सामान, देखें रेट लिस्ट, जानिये क्या है कारण | Patrika News

महंगा होने के बाद भी पहले वाले दामों पर मिल रहा यहां हर सामान, देखें रेट लिस्ट, जानिये क्या है कारण

महंगाई के बावजूद पहले वाले दामों पर मिल रहा यहां सामान

भोपाल

Updated: June 29, 2022 08:56:22 am

भोपाल. बाजार में कई वस्तुओं के दाम बढ़ गए हैं, लेकिन कंपनियों द्वारा उन्हें पहले वाले दाम पर ही बेचा जा रहा है, क्योंकि उन्होंने वस्तुओं के दाम बढ़ाने की जगह वजन में कमी कर दी है, ऐसे में उपभोक्ताओं पर महंगाई की मार तो पड़ रही है, लेकिन कंपनियों के चतुराई के कारण उपभोक्ता उसे समझ नहीं पा रहे हैं, उदाहरण के लिए अगर कोई चीज पहले 100 रुपए की 250 ग्राम आती थी, तो उसे अब 100 रुपए की 200 ग्राम कर दी है, ऐसे में उपभोक्ता को वह पैकिंग सामग्री पहले वाली कीमत पर ही मिल रही है, लेकिन असलियत में उसे वह चीज महंगी मिल रही है, क्योंकि उसे अब पहले से कम वजन मिल रहा है, ऐसे में वह सामग्री उसके घर में पहले की अपेक्षा 5-7 दिन पहले ही खत्म हो जाएगी।

महंगा होने के बाद भी पहले वाले दामों पर मिल रहा यहां हर सामान, देखें रेट लिस्ट, जानिये क्या है कारण
महंगा होने के बाद भी पहले वाले दामों पर मिल रहा यहां हर सामान, देखें रेट लिस्ट, जानिये क्या है कारण

आम उपभोक्ता सामान की कीमतें कम-ज्यादा होने में पेट्रोल या डीजल के दाम का योगदान होता है। ईंधन के दाम बढ़ते ही महंगाई बढ़ती है और कम होने पर कंपनियां वस्तुओं के दाम घटा देती हैं। पर इस बार महंगाई को लेकर बाजार बदला हुआ है। सरकार ने पेट्रोल-डीजल के बढ़ते दाम को रोकते हुए एक्साइज ड्यूटी घटा दी। इससे ईंधन के दाम तो कम हुए, पर उपभोक्ता वस्तुओं के दाम पहले जैसे हैं। एलपीजी सिलेंडर के दाम लगातार बढऩे से रसोई का बजट भी गड़बड़ हो गया।


कंपनियों ने घटाया वजन:

कई कंपनियों ने महंगाई कम करने का दूसरा रास्ता निकाला। उन्होंने सामान के दाम नहीं घटाए, वजन कम कर दिया। कुछ बिस्किट व साबुन बनाने वाली कंपनियों ने खासकर ऐसा किया है। ये कंपनियां एमआरपी पर माल बेच रही हैं।

महंगा होने के बाद भी पहले वाले दामों पर मिल रहा यहां हर सामान, देखें रेट लिस्ट, जानिये क्या है कारणबाजार मांग और आपूर्ति के पैटर्न पर चलता है। जिसकी मांग ज्यादा होती है, उसके भाव बढ़ते हैं। पेट्रोल-डीजल के दाम में कमी का सवाल है तो इसमें कई फैक्टर काम करते हैं। जैसे बढ़ा हुआ मालभाड़ा कम नहीं हुआ। अभी खाद्य तेल सस्ते हुए हैं, मसालों में तेजी है। कुछ वस्तुओं के दाम घटे हैं तो कुछ के बढ़े दाम नीचे नहीं आए है। आम उपभोक्ता को महंगाई से ज्यादा राहत नहीं मिल रही। कुछ कंपनियों ने रेट नहीं बढ़ाए तो एमआरपी पर माल बेचना शुरू कर दिया और वजन में कटौती कर दी।
आदित्य जैन मनयां

मानसून पर निर्भर:

दालों के थोक कारोबारी ईश्वर संगतानी का कहना है,दाल बाजार में मामूली तेजी-मंदी है, बारिश की लंबी खेंच होती है तो दाल महंगी हो जाएगी। कुछ माह में मूंग दाल, चना दाल में गिरावट आई है, जबकि उड़द और मसूर दाल के भावों में मामूली तेजी आई। तुअर दाल लंबे समय से स्थिर है।

सबसे लोकप्रिय

शानदार खबरें

Newsletters

epatrikaGet the daily edition

Follow Us

epatrikaepatrikaepatrikaepatrikaepatrika

Download Partika Apps

epatrikaepatrika

Trending Stories

Monsoon Alert : राजस्थान के आधे जिलों में कमजोर पड़ेगा मानसून, दो संभागों में ही भारी बारिश का अलर्टमुस्कुराए बांध: प्रदेश के बांधों में पानी की आवक जारी, बीसलपुर बांध के जलस्तर में छह सेंटीमीटर की हुई बढ़ोतरीराजस्थान में राशन की दुकानों पर अब गार्ड सिस्टम, मिलेगी ये सुविधाधन दायक मानी जाती हैं ये 5 अंगूठियां, लेकिन इस तरह से पहनने पर हो सकता है नुकसानस्वप्न शास्त्र: सपने में खुद को बार-बार ऊंचाई से गिरते देखना नहीं है बेवजह, जानें क्या है इसका मतलबराखी पर बेटियों को तोहफे में देना चाहता था भाई, बेटे की लालसा में दूसरे का बच्चा चुरा एक पिता बना किडनैपरबंटी-बबली ने मकान मालिक को लगाई 8 लाख रुपए की चपत, बलात्कार के केस में फंसाने की दी थी धमकीराजस्थान में ईडी की एन्ट्री, शेयर ब्रोकर को किया गिरफ्तार, पैसे लगाए बिना करोड़ों की दौलत

बड़ी खबरें

Bihar Political Crisis Live Updates: नीतीश कुमार के शपथ ग्रहण में अब मात्र 1 घंटे का समय बाकी, लालू यादव से फोन पर की बातबीजेपी का 'इतिहास' है, जिस राज्य में बढ़ाया कद उस राज्य में सहयोगी दल ने किया किनारानीतीश के NDA छोड़ने के बाद पी चिदंबरम ने बीजेपी पर किया हमला, ट्वीट करके कही ये 6 बातेंड्रग केस में फंसे अकाली नेता बिक्रम मजीठिया को बड़ी राहत , पंजाब और हरियाणा हाईकोर्ट से मिली जमानतफिनलैंड, स्वीडन NATO में शामिल, US President जो बाइडन ने किए इंस्ट्रूमेंट ऑफ रेटिफिकेशन पर हस्ताक्षर: अब क्या करेगा रूस?दिल्ली में हर दिन 6 रेप, इस साल के पहले 6 महीने में दर्ज हुए 1,100 से अधिक मामलेMaharashtra: कानून तोड़ने का अधिकार सिर्फ हमें है... केंद्रीय मंत्री नितिन गडकरी ने अफसरों को फटकारादूसरी बार कोरोना संक्रमित हुई कांग्रेस नेता प्रियंका गांधी, भाई राहुल गांधी भी अस्वस्थ, टला राजस्थान दौरा
Copyright © 2021 Patrika Group. All Rights Reserved.