Fact Check: पोल्ट्री फार्म्स के कारण फैल रहा कोरोना वायरस, बंद करने का आदेश, क्या है वायरल मैसेज की सच्चाई

सोशल मीडिया में दावा किया जा रहा है कि कोरोना वायरस की चपेट में पोल्ट्री फॉर्म भी आ गए हैं।

By: Pawan Tiwari

Published: 20 Jun 2020, 02:45 PM IST

भोपाल. मध्यप्रदेश में कोरोना संक्रमण के मामले बढ़ते जा रहे हैं। बढ़ते मामलों के बीच सोशल मीडिया में ये दावा किया जा रहा है कि पोल्ट्री फॉर्म में कोरोना वायरस का खतरा बढ़ा है। इसके साथ ही सोशल मीडिया में दावा किया जा रहा है कि कोरोना वायरस की चपेट में पोल्ट्री फॉर्म भी आ गए हैं।


विभाग ने वायरल मैसज का किया खंडन
कोरोना वायरस के संक्रमण से पोल्ट्री फार्म्स एवं कुक्कुट उत्पादनों को किसी भी प्रकार का कोई खतरा नहीं है। कुक्कुट उत्पादों का सेवन पूरी तरह से सुरक्षित है। संचालक पशुपालन आरके रोकड़े ने इस संबंध में स्वास्थ्य विभाग द्वारा जारी आदेश का हवाला देते हुए पोल्ट्री फार्म में कोरोना वायरस की वायरल खबर का खंडन किया।

रोकड़े ने कहा कि पशुपालन एवं डेयरी मंत्रालय भारत सरकार के संयुक्त सचिव द्वारा इस संबंध में पशुपालन विभाग के सचिवों को पत्र भी लिखा है। उन्होंने कहा कि पोल्ट्री फार्म में कोरोना वायरस कि वायरल हो रही खबर पूरी तरह भ्रामक और आधारहीन है।

स्वास्थ्य विभाग द्वारा अपने पत्र में पोल्ट्री बर्ड्स का उपयोग करने अथवा पोल्ट्री फार्मस् को शीघ्र बंद करने के संबंध में कोई दिशा निर्देश अथवा चेतावनी पत्र जारी नहीं किये गये हैं। उन्होंने कहा कि वायरल खबर में उल्लेखित भोपाल, ग्वालियर, देवास, इंदौर, उज्जैन, रतलाम, बड़नगर, सीहोर, बड़वानी और महू में विभाग द्वारा पोल्ट्री बर्ड्स की किसी भी प्रकार सेम्पलिंग नहीं की गई। रोकड़े ने कहा कि कुक्कुट उत्पादों का उपयोग पूरी तरह से सुरक्षित है इनसे अभी तक किसी भी प्रकार के कोरोना संक्रमण का कोई संकेत नहीं है।

Pawan Tiwari
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned