बैटरी की दुकान से बिना परमिशन चला रहा फर्जी गैस एजेंसी, 36 सिलेंडर जब्त

- एसडीएम और जिला आपूर्ति अधिकारी की कार्रवाई, बैटरी की एक चिंगारी करा सकती थी बड़ा हादसा

भोपाल. बैटरी की दुकान से बिना परमिशन, लायसेंस के फर्जी तरीके से गैस एजेंसी संचालित करने का मामला सामने आया है। एसडीएम बैरसिया राजीव नंदन श्रीवास्तव और जिला आपूर्ति नियंत्रक ज्योति शाह नरवरिया ने छापामार कर मौके से 36 कमर्शियल और घरेलू सिलेंडर जबत किए हैं। बैरसिया स्थित दुकान में राधे गैस एजेंसी का बोर्ड लगा था। दुकान संचालक मोहन सिंह कुशवाह ने बताया कि गैस एजेंसी से घरेलू और कमर्शियल सिलेंडर हर माह उसकी दुकान पर भेजे जाते थे। यहां से वह होटलों को सप्लाई करता था। इसके बदले उसे तीन हजार रुपए मिलते थे। अधिकारियों ने गैस एजेंसी के पते पर जांच कराई तो होटल वाली लाइन बस स्टैंड सुलभ कांप्लेक्स के पास कोई एजेंसी नहीं मिली। इसके बाद दुकानदार पर आवश्यक वस्तु अधिनियम के तहत कार्रवाई की गई। मौके से कुल 36 कमर्शिलय और घरेलू सिलेंडर जब्त किए गए हैं। जिला आपूर्ति अधिकारी ज्योति शाह नरवरिया ने बताया कि सौ किलो ग्राम से अधिक गैस एकत्र करने के लिए विस्फोटक लायसेंस लेना अनिवार्य है। दुकान पर बैटरी और इनवर्टर भी बेचे जाते हैं। जप्त सामग्री की कीमत 93 हजार 638 रुपए हैं प्रोपराइटर से पूछताछ में किसी भी गैस कंपनी से गैस विक्रय का अनुबंध भी नहीं मिला।

श्री राधे भारत गैस एजेंसी की मूल दुकान बैरसिया में दर्शाए गए पते 13,होटल वाली लाइन बस स्टैंड सुलभ कांप्लेक्स पर नहीं पाई गई गैस प्रदाय वितरण विनियमन आदेश 2000 के अंतर्गत तथा आवश्यक वस्तु अधिनियम 1955 की धारा 3/7 के अंतर्गत दंडनीय अपराध होने से प्रकरण दर्ज किया गया संबंधित के खिलाफ कड़ी कार्रवाई की जाएगी कलेक्टर न्यायालय में प्रस्तुत किया जाएगाजांच दल में ज्योति शाह नरवरिया जिला आपूर्ति नियंत्रक, संतोष दिनेश मयंक सहायता कनिष्ठ आपूर्ति अधिकारी उपस्थित रहे.्म से प्रोपराइटर मोहन सिंह कुशवाह की उपस्थिति में, 19 भरे कमर्शियल 19. किलोग्राम गैस क्षमता सिलेंडर प्रति कमर्शियल सिलेंडरlसडीएम बैरसिया राजीव नंदन श्रीवास्तव और जिला आपूर्ति नियंत्रक ज्योति शाह नरवरिया ने छापामार

प्रवेंद्र तोमर Reporting
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned