स्टेशन पर दुर्घटना होने पर तत्काल नहीं मिल पाती मदद

35 किलोमीटर दूर सीहोर में है जीआरपी थाना, आने में लग जाता है समय

भोपाल. संत हिरदाराम रेलवे स्टेशन को भोपाल रेल मण्डल में शामिल किए जाने के बाद भी यहां पर जीआरपी थाना नहीं शुरू किया गया। आरपीएफ थाना है, जिसका काम रेलवे की सम्पति की सुरक्षा करना है। कोई दुर्घटना होने पर 35 किलोमीटर दूर सीहोर से जीआरपी के आने का इंतजार करना होता है।

दरअसल, संत नगर से सैकड़ों गाडिय़ों का आवागमन रोजाना होता है। यहां से हजारों की संख्या में लोग यात्रा करते हैं। स्टेशन के विकास के साथ ही जीआरपी थाना बनाने की मांग सामाजिक संस्थाएं लंबे समय से कर रही हैं, इसके बाद भी आज तक इस ओर ध्यान नहीं दिया गया। इससे घटनाओं के दौरान सीहोर से जीआरपी पुलिस के आने का इंतजार करना पड़ता है। इसके बाद ही आगे की कार्रवाई हो पाती है। भोपाल रेल मण्डल में शामिल होने के बाद भी सुविधा नहीं मिल पाई है।

 

सर्विस कमेटी को कराया था अवगत
विगत दिनों ही रेलवे बोर्ड पैसेंजर सर्विस कमेटी के चेयरमैन रमेश चन्द्रा से यहां की सामाजिक संस्थाओं ने जीआरपी थाना बनाने की मांग की है। हालांकि इस ओर कोई ध्यान नहीं दिया गया है। समाजसेवियों का कहना है कि जल्द ही यहां पर जीआरपी थाना बनाया जाना चाहिए, इसके लिए अब जल्द ही दिल्ली में रेल मंत्री पियूष गोयल से मुलाकात करेंगे।

कई बार जीआरपी थाने की मांग संबंधित अधिकारियों से करते आए हैं। अब जल्द ही दिल्ली में रेल मंत्री पियूष गोयल से मुलाकात करेंगे, ताकि समस्या का समाधान हो सके।
नितेश लाल, सदस्य, रेलवे उपयोगकर्ता समिति

 

कोई भी घटना होने पर सीहोर से जीआरपी पुलिस के आने का इंतजार किया जाता है, जबकि यहां से सैकड़ों गाडिय़ों का प्रतिदिन आवागमन होता है। इसके बाद भी आज तक जीआरपी थाना बनाने की कोई योजना नहीं बनाई गई है।
दीपक तिवारी, स्थानीय रहवासी

भोपाल मण्डल में शामिल होने के बाद भी यहां पर जीआरपी थाना नहीं है। 35 किलोमीटर दूर सीहोर से पुलिस को आने में समय लग जाता है, इसलिए जल्द ही यहां पर जीआरपी थाना बनाना चाहिए।
सुरेश जसवानी, महासचिव सिंधी सेन्ट्रल पंचायत

Rohit verma
और पढ़े

MP/CG लाइव टीवी

खबरें और लेख पढ़ने का आपका अनुभव बेहतर हो और आप तक आपकी पसंद का कंटेंट पहुंचे , यह सुनिश्चित करने के लिए हम अपनी वेबसाइट में कूकीज (Cookies) का इस्तेमाल करते हैं। हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति (Privacy Policy ) और कूकीज नीति (Cookies Policy ) से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned