महिलाओं का फेडरेशन बांटेगा पोषण आहार

महिलाओं का फेडरेशन बांटेगा पोषण आहार

Ashok Gautam | Publish: Sep, 03 2018 09:03:36 AM (IST) Bhopal, Madhya Pradesh, India

महिलाओं का फेडरेशन बांटेगा पोषण आहार

भोपाल। आंगनबाड़ी केन्द्रों में पोषण आहर और टेक होम राशन (टीएचआर) वितरण की व्यवस्था में सरकार बदलाव करने की तैयारी कर रही है। अब आंगनबाड़ी केन्द्रों में पोषण आहर और टीएचआर फेडरेशन के माध्यम से बांटा जाएगा। जिलों में में विकासखंड स्तर पर संकुल लेवल फेडरेशन (सीएलएफ) का बनाया जाएगा। यह व्यवस्था सभी सरकारी संयत्रों में तैयार आहर बांटने पर लागू होगी। पंचायत एवं ग्रामीण विकास विभाग ने सभी मुख्य कार्यपालन अधिकारियों को ब्लाक स्तर पर फेडरेशन बनाने के निर्देश दिए हैं।

भोपाल संभाग को छोड़कर प्रदेश के सभी संभागों में टेक होम राशन वितरण की यह नई व्यवस्था शुरु हो जाएगी। इसके लिए प्रदेश के रीवा, सागर, मंडल, देवास, धार होशंगाबाद शिवपुरी सहित सात जिलों में पोषण आहर बनाने के लिए कारखाना लगाया जा रहा है। इनको चलाने के लिए जिला स्तरीय फेडरेशन गठित किया जाएगा। संकुल और जिला स्तरीय फेडरेशन किस तरह से काम करेगा, इसके लिए वाइलाज सहकारिता विभाग द्वारा तैयार किया जा रहा है। दोनों ही फेडरेशन का रजिस्ट्रेशन सहकारिता विभाग में किया जाएगा।

महिलाएं चलाएंगी कारखाना
पोषण आहर बनाने वाले कारखानों का संचालन महिलाओं द्वारा किया जाएगा। महिला अजीविका औद्योगिक सहकारी संस्था मर्यादित के नाम से संस्थाओं का गठन किया जाएगा। इसके सदस्य, संकुल स्तर पर महिला अजीविका मिशन संस्थाएं होंगी। अध्यक्ष का चयन चुनाव के माध्यम से होगा। रीवा और सागर सहित दूसरे संभागों में यह संस्थाएं रहेगी, जो पोषण आहर व टीएचआर वितरण का काम करेंगी।

संस्थाओं का होगा अडिट
इन संस्थाओं का सहिकारिता विभाग द्वारा आडिट कराया जाएगा। पंचायत एवं ग्रामीण विकास विभाग के दिशा-निर्देशन में काम करेंगी। पंचायत विभाग द्वारा इन संस्थाओं को अनुदान दिया जाएगा और संयंत्र भी इन्हीं संस्थाओं के हाथों में सौंपा जाएगा। इन संस्थान में किसी तरह की अनियमिताएं पाई जाने पर इनमें प्रशासक नियुक्त करने की व्यवस्था की गई है।

पंचायत एवं ग्रामीण विकास विभाग ने सभी मुख्य कार्यपालन अधिकारियों को ब्लाक स्तर पर फेडरेशन बनाने के निर्देश दिए हैं।


भोपाल संभाग को छोड़कर प्रदेश के सभी संभागों में टेक होम राशन वितरण की यह नई व्यवस्था शुरु हो जाएगी। इसके लिए प्रदेश के रीवा, सागर, मंडल, देवास, धार होशंगाबाद शिवपुरी सहित सात जिलों में पोषण आहर बनाने के लिए कारखाना लगाया जा रहा है। इनको चलाने के लिए जिला स्तरीय फेडरेशन गठित किया जाएगा। संकुल और जिला स्तरीय फेडरेशन किस तरह से काम करेगा, इसके लिए वाइलाज सहकारिता विभाग द्वारा तैयार किया जा रहा है। दोनों ही फेडरेशन का रजिस्ट्रेशन सहकारिता विभाग में किया जाएगा।

महिलाएं चलाएंगी कारखाना
पोषण आहर बनाने वाले कारखानों का संचालन महिलाओं द्वारा किया जाएगा। महिला अजीविका औद्योगिक सहकारी संस्था मर्यादित के नाम से संस्थाओं का गठन किया जाएगा। इसके सदस्य, संकुल स्तर पर महिला अजीविका मिशन संस्थाएं होंगी। अध्यक्ष का चयन चुनाव के माध्यम से होगा। रीवा और सागर सहित दूसरे संभागों में यह संस्थाएं रहेगी, जो पोषण आहर व टीएचआर वितरण का काम करेंगी।

संस्थाओं का होगा अडिट
इन संस्थाओं का सहिकारिता विभाग द्वारा आडिट कराया जाएगा। पंचायत एवं ग्रामीण विकास विभाग के दिशा-निर्देशन में काम करेंगी। पंचायत विभाग द्वारा इन संस्थाओं को अनुदान दिया जाएगा और संयंत्र भी इन्हीं संस्थाओं के हाथों में सौंपा जाएगा। इन संस्थान में किसी तरह की अनियमिताएं पाई जाने पर इनमें प्रशासक नियुक्त करने की व्यवस्था की गई है।

MP/CG लाइव टीवी

खबरें और लेख पड़ने का आपका अनुभव बेहतर हो और आप तक आपकी पसंद का कंटेंट पहुंचे , यह सुनिश्चित करने के लिए हम अपनी वेबसाइट में कूकीज (Cookies) का इस्तेमाल करते है । हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति (Privacy Policy ) और कूकीज नीति (Cookies Policy ) से सहमत होते है ।
OK
Ad Block is Banned