MOVIE REVIEW: हसीन पर खुदगर्ज़ इश्क है फितूर

बॉलीवुड अभिनेता आदित्य राय कपूर और कैटरीना कैफ  द्वारा अभिनित फिल्म ‘फितूर’ शुक्रवार (12 फरवरी) को रिलीज हो गई है।

बॉलीवुड अभिनेता आदित्य राय कपूर और कैटरीना कैफ  द्वारा अभिनित फिल्म ‘फितूर’ शुक्रवार (12 फरवरी) को रिलीज हो गई है। यह फिल्म लेखक चार्ल्स डिकेन्स के नॉवल द ग्रेट एक्सपेक्टेशन्स पर आधारित फिल्म है। दुनिया भर में इस उपन्यास पर कई फ़िल्में बनी हैं। फिल्म कश्मीरी लड़के नूर (आदित्य रॉय कपूर) और उनकी लव-इंटरेस्ट फिरदौस (कैटरीना कैफ) की कहानी है। 



कहानी
फिल्म की कहानी कश्मीर के बच्चे आदित्य रॉय कपूर की है। आदित्य की मुलाकात पहले कटरीना कैफ से होती है और फिर कैटरिना के जरिए उसकी अम्मी तब्बू से। मुलाकात के बाद आदित्य कटरीना के फितूर में डूब जाता है। बाद में दोनों अलग हो जाते हैं। लडक़ा अपने जीवन में व्यस्त हो जाता है, लेकिन इन व्यस्तता केर बाद भी वह अपने फितूर को नहीं भूल पाता है।

समय गुजरता है। दोनों जवान होते हैं, मुलाकातें होती हैं और फिर इस कहानियां में कई और किरदार जुड़ते चले जाते हैं। कहानी कश्मीर शुरू होकर दिल्ली और दिल्ली से लंदन होते हुए फिर कश्मीर आ जाती है। फिल्म के एक्टर -एक्ट्रेस को लगता है कि यह उनका फितूर है, लेकिन वे तो किसी और के ही फितूर को जी रहे होते हैं। 

पूरी लव स्टोरी में कश्मीर की खूबसूरती को बेहतर ढंग से दिखाया गया है। चाहे बेगम हजरत का बंगला हो या बर्फ गिरते हुए नजारे हों या फिर शिकारे पर जीवन। हर चीज आपको बांधने लगती है। इसके आखिर में प्यार की जीत होती है, लेकिन इसे जानने के लिए आपको पूरी फिल्म देखनी होगी।


क्यों देखें
फिल्म के गाने दिल को छू लेने वाले हैं। काई पो चे और रॉक ऑन जैसी फ़िल्में देने वाले अभिषेक कपूर की कड़ी मेहनत साफ़ दिखती है।

क्या है ख़ास
मुझे फिल्म में तब्बू का रोल बेहद पसंद आया। इतने सालों बाद उनकी एक्टिंग अच्छी लगी। 
शिवांगी सेंगर

क्यों देखें
मैं शुरू से लव स्टोरी देखता आया हूं। लव स्टोरी वाली कोई भी फिल्म मैं नही छोड़ता। ट्रेलर देखा तो फिल्म देखने का मन किया। सो आ गया।

क्या है ख़ास
फिल्म को आदित्य, कैटरीना और तब्बू की बेहतरीन एक्टिंग के लिए इसे देखा जा सकता है।
प्रियांश

क्यों देखें
वैसे मैं फिल्मों का बहुत बड़ा शौक़ीन हूं। जो फिल्म देखने का मन करता है उसकी फर्स्ट डे फर्स्ट शो देखता हूं। चाहे वो फ्लॉप ही क्यों न हो जाये। मैं रिव्यू का वेट नहीं करता। इसके गाने सुने थे अच्छे लगे तो आ गया।

क्या है खास
वैसे मिला जुलाकर फिल्म ठीक लगी। लेकिन इसकी कमजोर कड़ी उल्टी-पुल्टी स्क्रिप्ट और ढीला क्लाइमेक्स है। फिल्म में अजय देवगन का भी रोल है मैं तो उन्हें देखने आया था। लेकिन उनके किरदार को पूरी तरह से कैश नहीं किया गया।
अशेष प्रधान


क्या देखें
फिल्म की कहानी उतार-चढ़ाव से भरी है, लेकिन फिल्म में नयापन का अभाव दिखता है। फिल्म में कश्मीर शानदार ढंग से दिखाया गया है। इसकी सिनेमेटोग्राफी जबरदस्त है।

क्या है ख़ास
फिल्म में तब्बू की एक्टिंग जबरदस्त है। बेगम हजरत के किरदार में तब्बू ने खुद को साबित कर दिखाया है और वह सबपर भारी पड़ी है।
आरुषी

क्यों देखें
अभिषेक कपूर अच्छी फिल्म बनाने के लिए जाने जाते हैं। उनकी टकाई पो चे मुझे पसंद आई। फितूर में भी उनके निर्देशन की झलक साफ़ नजऱ आती है। इस लिहाज से फिल्म एक बार जरुर देखी जा सकती है।

क्या है ख़ास
इस साल की यह पहली लव स्टोरी है। सभी ने अच्छा रोल किया है। एक अलग तरह की फिल्म देखकर अगर आप मनोरंजन करना चाहें तो ये फिल्म देख सकते हैं।
शोभित


क्यों देखें
फितूर एक प्रेम कहानी है और आपको इस फिल्म को देखकर प्यार हो जाएगा....कश्मीर से।

क्या है ख़ास
आदित्य और कैटरीना के बचपन का किरदार निभाने वाले चाइल्ड आर्टिस्ट ने उम्दा अभिनय किया है। बाकी पूरी फिल्म लव स्टोरी के लिहाज से देखी जा सकती है। 
साक्षी
Ajay Devgan
Show More
Nitesh Tripathi
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned