Breaking: शिक्षा मंत्री के साथ पैसेफिक गेम्स खेलने ऑस्ट्रेलिया गए 5 भारतीय बच्चों की मौत की खबर

पैसेफिक स्कूल गेम्स चैंपियनशिप में भाग लेने गए थे भारतीय बच्चे, मध्यप्रदेश के शिक्षा मंत्री विजय शाह थे एचओडी...।

By: Manish Gite

Updated: 11 Dec 2017, 05:20 PM IST

 

भोपाल/नई दिल्ली। मध्यप्रदेश के शिक्षा मंत्री विजय शाह के नेतृत्व में ऑस्ट्रेलिया खेलने गए स्कूली बच्चों की सुरक्षा में बड़ी लापरवाही सामने आई है। देशभर से गए इन बच्चों के दल में से पांच बच्चे समुंदर की तेज लहरों मे डूब गए। प्राथमिक सूचना पांच बच्चों के डूब जाने की आने से देशभर में खलबली मच गई, बाद में खबर आई कि पांच बच्चों में से एक छात्रा की मौत हो गई। जबकि चार बच्चों की हालत गंभीर है। मृतक छात्रा का नाम इतिशा नेगी (15) है।

 

गौरतलब है कि इस भारतीय दल में मध्यप्रदेश के भी 19 बच्चे गए हुए थे। इस हादसे के बाद से ऑस्ट्रेलिया से लेकर मध्यप्रदेश तक खलबली मच गई है।

 

पैसीफिक स्कूल गेम्स चैंपियनशिप अंडर-18 में भाग लेने ते लिए भारतीय बच्चों का एक दल 3 दिसंबर से 9 दिसंबर तक ऑस्ट्रेलिया के एडिलेड गया था। खेल समाप्ति के बाद कुछ बच्चे एडिलेड के प्रसिद्ध समुंदी बीच पर घूमने चले गए। इस दौरान पांच भारतीय बच्चे समुंदर के किनारे खड़े थे, तभी तेज लहर में पांचों बच्चे पानी में बहने लगे। वहां तैनात गोताखोरों ने जैसे-तैसे चार बच्चों को तो बचा लिया, लेकिन एक छात्रा को बगचाया नहीं जा सका। जबकि चारों बच्चों की हालत गंभीर बनी हुई है।

 

 

Must Read:

बच्चों का हक मारकर मंत्री- अफसर जा रहे विदेश

Glenelg beach

ऑस्ट्रेलिया से मध्यप्रदेश तक खलबली
बच्चों के साथ हुए हादसे के बाद आस्ट्रेलिया से लेकर मध्यप्रदेश तक खलबली मच गई है। बच्चों के परिजन यहां परेशान हो रहे हैं। वे बच्चों का हाल जानने के लिए बार-बार शिक्षा विभाग में संपर्क कर रहे हैं और साथ गए कोच और अधिकारियों से बात करने की कोशिश कर रहे हैं।

Glenelg beach


पहले से विवादों में रहा ये टूर
गौरतलब है कि शिक्षा मंत्री विजय शाह के नेतृत्व में भेजा गया ये दल पहले ही विवादों में आ गया था। एडिलेड जाने से पहले शाह पर आरोप लगा था कि उन्होंने छात्राओं का नाम काटकर अपने सहयोगियों का नाम टूर में जोड़ दिया था।

 

स्कूली बच्चों के नाम पर मंजूर हुआ था पैसा
आस्ट्रेलिया में संपन्न हुई पैसेफिक स्कूल गेम्स चैंपियनशिप के लिए स्कूली बच्चों के नाम से मंजूर सरकारी राशि से मंत्री व अफसरों ने टूर प्लान बनाया था। स्कूल शिक्षा मंत्री विजय शाह सहित विभाग के आधा दर्जन अफसर इस दौरे पर गए थे। इस कवायद में 11 होनहार खिलाड़ी दरकिनार कर दिया गया था। इनमें से नौ खिलाडिय़ों को औपचारिकता पूरी नहीं होने का कारण बताकर रिजेक्ट कर दिया था।

 

रजिस्ट्रेशन लिस्ट में हुआ था खुलासा
मंत्री-अफसरों के इस कारनामे का खुलासा स्कूल गेम्स फेडरेशन आफ इंडिया की पंजीयन सूची में हुआ था। इसमें आस्ट्रेलिया दौरे के लिए स्कूल शिक्षा मंत्री विजय शाह का नाम एचओडी के तौर पर दर्ज किया गया था, जबकि विभाग की संचालक अनु भदौरिया, उप संचालक बृजभूषण सक्सेना, अपर संचालक राजेंद्र कुमार डेकाते, राजेश यादव जिला क्रीड़ा अधिकारी रायसेन, लिपिक आमिर अहमद खान का रजिस्ट्रेशन पदाधिकारी के तौर पर हुआ था। ये दल 19 खिलाडिय़ों को लेकर गया था।

 

29 चयनित, 11 रिजेक्ट
पैसेफिक स्कूल गेम्स चैंपियनशिप-2017 आस्टे्रलिया के एडिलेड शहर में 3 दिसंबर से 9 दिसंबर तक होनी थी। चैंपियनशिप के लिए सॉफ्टबाल, नेटबाल, स्वीमिंग, डायविंग और हॉकी के 29 खिलाडिय़ों का चयन हुआ था। पात्रता का आधार नेशनल स्कूल गेम्स में मिले पदकों को बनाया गया था। इनमें से 11 खिलाड़ी हिस्सा नहीं ले पाएंगे। दो खिलाडिय़ों ने खुद ही नाम वापस ले लिए, जबकि 9 की कागजी कार्यवाही पूरी नहीं होने पर उन्हें रिजेक्ट कर दिया गया था।

 

हर बच्चे के लिए मिलते हैं ढाई लाख
इसमें प्रत्येक प्रतिभागी के लिए 2.50 लाख रुपए स्कूल शिक्षा विभाग ने मंजूर किए हैं। इसके बाद से ही खेल शुरू हो गया था। 31 अक्टूबर, 2017 को स्कूल शिक्षा संचालक ने पत्र जारी कर सभी चयनित 29 खिलाडिय़ों से चैंपियनशिप के लिए तैयारी करने को कहा था। साथ ही पासपोर्ट की प्रति तीन दिन में उपलब्ध कराने के निर्देश दिए गए। परिजनों का भी आरोप है, अफसर जानते थे कि अधिकतर स्कूली बच्चों के पास पासपोर्ट नहीं हैं, ऐसे में अनेक बच्चे तो अपात्र हो जाएंगे।

Pacific Games
Show More
Manish Gite
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned