बड़ी खबरः भारी बारिश से नर्मदा नदी में बढ़ा खतरा, एमपी से लेकर गुजरात तक अलर्ट

बड़ी खबरः भारी बारिश से नर्मदा नदी में बढ़ा खतरा, एमपी से लेकर गुजरात तक अलर्ट

By: Manish Gite

Published: 24 Jul 2018, 11:55 AM IST

भोपाल। मध्यप्रदेश के कई जिलों में आने वाले 24 घंटे बेहद खतरनाक हो सकते हैं। इस समय पूरे प्रदेश में पानी बरस रहा है। भारी बारिश से मध्यप्रदेश की सबसे बड़ी नदी नर्मदा नदी उफान पर आ गई है, ऐसे में जबलपुर से बरगी डैम के गेट मंगलवार शाम को खोल दिए जाएंगे। ऐसी स्थिति में जिन जिलों से नर्मदा गुजरती है उन जिलों से लेकर गुजरात तक अलर्ट कर दिया गया है।

सारनी का सतपुड़ा और तवा डैम के गेट पहले ही खोले जा चुके हैं, ऐसे में अब नर्मदा में पानी बढ़ गया है। बरगी डैम खुलने के बाद करीब 8 से 10 घंटों के दौरान जबलपुर, सिवनी, नरसिंहपुर, होशंगाबाद, रायसेन, देवास, सीहोर, खंडवा व खरगोन में बाढ़ की स्थिति बन सकती है।

इस बीच मौसम विभाग ने भी आने वाले 24 घंटों के दौरान भारी बारिश की चेतावनी दी है। डैम खोलने और भारी बारिश की चेतावनी की बाद सरकार ने सभी जिलों के कलेक्टरों को अलर्ट कर दिया है। साथ ही बचाव कार्य के लिए भी तैयार रहने को कहा गया है।

 

flood

मध्यप्रदेश में पिछले कुछ दिनों से जारी बारिश से जनजीवन अस्त-व्यस्त हो गया है। मौसम विभाग ने आने वाले 24 घंटों के दौरान भारी बारिश की चेतावनी दी है। इधर, जबलपुर से बरगी बांध के गेट खोलने से पहले सभी जिलों को अलर्ट कर दिया गया है। सारनी का सतपुड़ा डैम, तवा नगर का तवा डैम खोल देने से तवा नदी से लेकर नर्मदा में पहले ही पानी बढ़ चुका है, ऐसे में जब बरगी डैम के गेट खोले जाएंगे तो होशंगाबाद के आसपास बाढ़ की आशंका से इनकार नहीं किया जा सकता है। बताया जाता है कि बरगी डैम खोलने के 8 घंटे बाद होशंगाबाद में जलस्तर काफी बढ़ जाता है।

 

कई जिलों में पहले ही है बाढ़
मध्यप्रदेश के कई जिलों में पहले ही बाढ़ आई हुई है, जनजीवन पहले से ही प्रभावित हो गया है। कई जिलों की निचली बस्तियां जलमग्न हैं। ऐसे में नर्मदा में यदि बाढ़ आती है तो इसे काफी गंभीर माना जाता है।

 

flood

कहां क्या स्थिति
ग्वालियर में भारी बारिश का दौर जारी है, कई निचली बस्तियों में पानी भरा हुआ है। पिछले दो दोनों से हो रही तेज बारिश से तो ग्वालियर के कई इलाकों में सड़क किनारे खड़ी कारें बह निकली थीं।
-दमोह जिले का भी ऐसा ही कुछ हाल है, यहां के लोग खतरे के मुहाने पर जी रहे हैं। लोगों को उफनते नालों को पार करने की मजबूरी है।
-इधर, गुना में भी मूसलाधार बारिश से पूरे जिलों में बाढ जैसे हालात बने हुए हैं। यहां 24 घंटे और लगातार बारिश हुई तो काफी तबाही हो सकती है।
-अशोक नगर से भी जलभराव की खबरें आ रही है। कई क्षेत्रों का संपर्क टूट गया है। मंगलवार को भी यहां बारिश शुरू हो गई थी।
-जबलपुर से मंडला जाने वाले रास्ते पर कई जगह रास्ता जाम है। झामुल, भदारी और गौर नदी उफान पर आ गई है। यहां पुल के ऊपर से पानी बह रहा है।

जबलपुर में बरगी डैम का जलस्तर खतरे के निशान पर पहुंच गया है, मंगलवार शाम को 5 बजे डैम के सभी गेट खोल दिए जाएंगे। इसके बाद नर्मदा में बाढ़ आ सकती है।

मध्य प्रदेश के ग्वालियर, टीकमगढ़, सागर, श्योपुर, दतिया, गुना, रीवा, रायसेन में तेज बारिश पिछले 24 घंटे से जारी है। मौसम विभाग ने भी कहा है कि आने वाले 48 घंटों के दौरान प्रदेश के कई इलाकों में काफी मुश्किल हो सकती है।

शाम को खुलेंगे बरगी के गेट
जबलपुर स्थित नर्मदा नदी पर बने बरगी डैम के गेट मंगलवार शाम को खोल दिए जाएंगे। इस डैम का जल स्तर खतरे के निशान तक पहुंच गया है। नर्मदा के कैचमेंट एरिया और बरगी बांध के आसपास के जिलों में भी भारी बारिश हो रही है। सूत्रों के मुताबिक बरगी बांध प्रबंधन ने फिलहाल 7 गेट खोलने का तैयारी है। बरगी डैम के वरिष्ठ अधिकारी के मुताबिक सभई जिलों को गेट खोलने की सूचना दे दी गई है। सभी को अलर्ट रहने को कहा गया है।

Show More
Manish Gite
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned