ये क्या: सबूत के लिए बैठक में सड़क ही उठा लाए, भ्रष्टाचार की खोली पोल

सड़क निर्माण में भ्रष्टाचार के आरोप को नकारे जाने के बाद भोपाल जिला पंचायत की साधारण सभा में फूटा सदस्यों का गुस्सा।

By: आसिफ सिद्दीकी

Published: 06 Jun 2017, 02:38 PM IST

भोपाल। ग्रामीण क्षेत्रों में हो रहे सड़क निर्माण में जब जिला पंचायत की बैठक में भ्रष्टाचार का मुद्दा उठा तो पीडल्यूडी के ईई ने इसे स्वीकारने से इंकार कर दिया था। मंगलवार को आयोजित हुई बैठक में जिला पंचायत सदस्य ईई को दिखाने के लिए सड़क का एक हिस्सा ही उखाड़ लाए। यह अनौखा मामला जिला पंचायत की साधारण सभा में सामने आया। 

भोपाल जिला पंचायत सदस्य अध्यक्ष के समक्ष लगातार निर्माण कार्यों में भ्रष्टाचार मुद्दा उठाते रहे हैं। मंगलवार को आयोजित साधारण सभा में सदस्यों का गुस्सा फूट पड़ा। सदस्यों ने लोक निर्माण विभाग, वन विभाग और शिक्षा विभाग को निशाना बनाया। सदस्यों ने बैठक में विभागों द्वारा की जा रही लापरवाही के मामलों को प्रमुखता उठाया। 

इसलिए बिफरे
जिला पंचायत सदस्य ग्रामीण क्षेत्रों में बनाई जा रही सड़कों को लेकर लगातार शिकायत करते आ रहे थे। सदस्यों की शिकायत को लोक निर्माण विभाग गंभीरता से नहीं ले रहा था। जब ईई बैठक में यह बोले कि कहां भ्रष्टाचार हो रहा है किसी के पास कोई सबूत है। इस पर भड़के सदस्य उस सड़क का एक हिस्सा ही बैठक में उठा लाए। इसके बाद इस्तेमाल किए गए मटेरियल की जांच की मांग करने लगे। 

वन विभाग पर कार्रवाई की मांग
सदस्यों ने बैठक में वन विभाग द्वारा लगातार लापरवाही किए जाने के मामले को भी जमकर उठाया। सदस्यों ने विभाग द्वारा भेजे गए फोल्डर दिखाकर कहा शेर की फोटो लगे यह फोल्डर भेजकर वन विभाग अपनी जिम्मेदारी से पल्ला झाड़ लेता है। विभाग ने खुद भी किसी बैठक का आयोजन नहीं किया। विभाग की इस लापरवाही पर अफसरों के विरुद्ध कार्रवाई की मांग भी की गई। 

...तो हम क्या करेंगे
ग्रामीण क्षेत्रों में शिक्षकों की कमी को लेकर भी सदस्यों ने सदन में सवाल खड़े किए। इस पर बताया गया कि जिला शिक्षा अधिकारी बता रहे हैं कि ऑनलाइन दावा आपत्ति ली जा रही है। इससे खिन्न हुए जिला पंचायत बोले- सब आप कर लोगे तो हम क्या करेंगे। क्या हम बेकार ही चुनकर आए हैं। 

ये मुद्दे भी छाए रहे
बीडीए द्वारा बनाई जा रही आंगनवाड़ी भवनों की गुणवत्ता लेकर सवाल खड़े होने के बाद अध्यक्ष ने कहा ग्राम पंचायत और बीडीए की आंगनबाड़ी में काफ ी अंतर है। खाताबेड़ी में नए भवन की दीवार गिरने का मामला भी उठा, लेकिन अधिकारी इसकी रिपोर्ट साथ नहीं लाए। इस पर सदस्यों ने कहा फोन पर बुला लो। बैरसिया सरकारी हॉस्पिटल में पीने का पानी नहीं होने पर अस्पताल के प्रतिनिधि ने बताया कि वहां आरओ वाटर प्लांट लगाया जा रहा है इसे सभी सदस्यों ने सफेद झूठ करार दिया। 

आसिफ सिद्दीकी
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned