scriptForeign degree will be able to study in the country | बड़ा फैसला- अब विदेश जाने की झंझट खत्म, देश में ही पढ़कर ले सकेंगे विदेशी डिग्री, जानिए UGC का नया प्लान | Patrika News

बड़ा फैसला- अब विदेश जाने की झंझट खत्म, देश में ही पढ़कर ले सकेंगे विदेशी डिग्री, जानिए UGC का नया प्लान

देश में रहकर ही दुनिया के शीर्ष विश्वविद्यालयों की पढ़ाई कर सकते हैं

भोपाल

Published: April 21, 2022 08:52:55 pm

भोपाल. रूस—यूक्रेन संकट की वजह से मध्यप्रदेश के सैंकड़ो छात्रों का भविष्य अधर में लटका हुआ है। प्रदेश के ये छात्र यूक्रेन में रहकर एमबीबीएस की पढ़ाई कर रहे थे पर विवाद के कारण उन्हें लौटना पड़ा। अब ऐसे छात्रों के लिए खुशी की खबर है जो विदेश में पढ़ने की इच्छा रखते हैं। अब वे देश में रहकर ही दुनिया के शीर्ष विश्वविद्यालयों की पढ़ाई कर सकते हैं। UGC के डुअल डिग्री प्रोग्राम के तहत ये मुमकिन हो सका है. इस प्लान से न केवल प्रदेश के छात्रों का विदेशी पढ़ाई का सपना हो सकेगा बल्कि उन्हें यूक्रेन जैसी समस्या का सामना भी नहीं करना पड़ेगा।

course.png

UGC ने इसके लिए भारतीय और विदेशी विश्वविद्यालयों (Foreign Universities) के बीच अकादमिक सहयोग के कुछ नए कदम उठाए हैं। इसके तहत नियमों में ढील देते हुए कुछ प्रमुख संशोधनों को मंजूरी दी गई है। UGC के अनुसार नई व्यवस्था के तहत तीन प्रकार के कोर्स करने की इजाजत दी जाएगी। इन कोर्सों में डुअल, जॉइंट और ट्विन डिग्री प्रोग्राम शामिल हैं।

डुअल डिग्री- इसके अंतर्गत एक भारतीय और दूसरा फॉरेन यूनिवर्सिटी डिग्री की पढ़ाई कराई जाएगी. सब्जेक्ट एक ही होगा. दोनों यूनिवर्सिटी अलग- अलग डिग्री जारी करेंगी।

ट्विन प्रोग्राम- इसमें छात्रों को कुछ सेमेस्टर की पढ़ाई संबंधित विदेशी विश्वविद्यालय में जाकर करनी होगी।

ज्वाइंट डिग्री- इसमें एक भारतीय और दूसरा विदेशी विश्वविद्यालय मिलकर डिग्री प्रोग्राम चलाएंगे। डिग्री इंडियन यूनिवर्सिटी की होगी, लेकिन उसमें दोनों यूनिवर्सिटी का लोगो लगा होगा।

ऐसे दी जाएगी डिग्री
कोई भी मान्यता प्राप्त भारतीय संस्थान ऐसे विदेशी संस्थान के साथ सहयोग कर सकता है. नेशनल इंस्टिट्यूट रैकिंग फ्रेमवर्क (NIRF) की यूनिवर्सिटी लिस्ट में टॉप 100 में शामिल संस्थान भी इसके लिए एलिजिबल होंगे।

यूजीसी के अनुसार ये प्रोग्राम ऑनलाइन और डिस्टेंस मोड से चलने वाले डिग्री प्रोग्राम में लागू नहीं होगा. ये सभी पूरी तरह से फिजिकल क्लासरूम में चलने वाले प्रोग्राम होंगे. इसके साथ ही इन प्रोग्राम में मेडिकल, लीगल और कृषि डिग्री प्रोग्राम शामिल नहीं किए जाएंगे।

कहा जा रहा है कि नए नियमों से प्रदेश के छात्रों को काफी फायदा होगा. पहले विदेशी डिग्री के लिए उन्हें विदेश जाना पड़ता था। इसमें लाखों रुपए का खर्च आता था. जाहिर है इस वजह से अधिकतर छात्र अपनी इच्छा मारकर विदेश नहीं जाते थे। यूजीसी के इस नए नियम ने इसे बेहद आसान बना दिया है. इसके साथ ही यूक्रेन की तरह लौटकर आने की झंझट भी खत्म हो गई है।

सबसे लोकप्रिय

शानदार खबरें

Newsletters

epatrikaGet the daily edition

Follow Us

epatrikaepatrikaepatrikaepatrikaepatrika

Download Partika Apps

epatrikaepatrika

Trending Stories

नाम ज्योतिष: ससुराल वालों के लिए बेहद लकी साबित होती हैं इन अक्षर के नाम वाली लड़कियांभारतीय WWE स्टार Veer Mahaan मार खाने के बाद बौखलाए, कहा- 'शेर क्या करेगा किसी को नहीं पता'ज्योतिष अनुसार रोज सुबह इन 5 कार्यों को करने से धन की देवी मां लक्ष्मी होती हैं प्रसन्नइन राशि वालों पर देवी-देवताओं की मानी जाती है विशेष कृपा, भाग्य का भरपूर मिलता है साथअगर ठान लें तो धन कुबेर बन सकते हैं इन नाम के लोग, जानें क्या कहती है ज्योतिषIron and steel market: लोहा इस्पात बाजार में फिर से गिरावट शुरू5 बल्लेबाज जिन्होंने इंटरनेशनल क्रिकेट में 1 ओवर में 6 चौके जड़ेनोट गिनने में लगीं कई मशीनें..नोट ढ़ोते-ढ़ोते छूटे पुलिस के पसीने, जानिए कहां मिला नोटों का ढेर

बड़ी खबरें

BJP राष्ट्रीय पदाधिकारी बैठक: PM नरेंद्र मोदी ने दिया 'जीत का मंत्र', जानें प्रधानमंत्री के संबोधन की बड़ी बातेंबिहार में बारिश व वज्रपात से 37 लोगों की मौत, जानिए बिहार में क्यों गिरती है इतनी आकाशीय बिजली?Pegasus Spyware Case: सुप्रीम कोर्ट ने जांच समिति का कार्यकाल 4 हफ्ते बढ़ाया, अब जुलाई में होगी सुनवाईRaj Thackeray Ayodhya Visit: राज ठाकरे की अयोध्या यात्रा स्थगित, पांच जून को रामलला का दर्शन करने वाले थे मनसे प्रमुखRohit Joshi Rape Case: राजस्थान के मंत्री पुत्र ने अब युवती पर लगाया हनीट्रेप का आरोप, हाईकोर्ट में याचिकापाकिस्तानी विदेश मंत्री बिलावल भुट्टो ने अमरीका में छेड़ा कश्मीर राग, आर्टिकल 370 का भी किया जिक्र, कहा शांति चाहता है पाकिस्तानलालू के ठिकानों पर CBI Raid; सामने आई RJD की पहली प्रतिक्रिया, मात्र 5 शब्द में पूरे सिस्टम को लपेटाअनिल बैजल के इस्तीफे के बाद कौन होगा दिल्ली का उपराज्यपाल? चर्चा में हैं ये 5 नाम
Copyright © 2021 Patrika Group. All Rights Reserved.