वन विभाग के समन को अश्विन शर्मा फिर हवा में उड़ाया, न पेश हुआ, न ही दिया जवाब

- वन विभाग के समन को अश्विन शर्मा फिर हवा में उड़ाया, न पेश हुआ, न ही दिया जवाब

- पिछले वर्ष मामले सामने आने के बाद भी यही था रुख, साल भर घनचक्कर होते रहे वन विभाग के अधिकारी

- एक साल बाद दर्ज हुए प्रकरण को गंभीरता से नहीं ले रहा आरोपी, अधिकारी बोले, कड़ा रुख अपनाएंगे

- वन्य प्राणियों की अवैध ट्राफियां और खाल रखने का आरोप

By: praveen malviya

Published: 05 May 2020, 11:35 PM IST

भोपाल. बीते साल आयकर छापों के बाद चर्चा में आए कारोबारी अश्विन शर्मा पर वन विभाग ने एक साल बाद प्रकरण तो दर्ज कर लिया लेकिन आरोपी विभाग को गंभीरता से लेने को तैयार नहीं है। विभाग के समन पर शर्मा को सोमवार को वन विभाग के अधिकारियों के सामने पेश होना था। लेकिन न तो आरोपी शर्मा आया न ही कोई जवाब ही दिया। इससे पहले पिछले वर्ष प्रकरण सामने आने पर भी विभागीय अधिकारियों ने उसे नोटिस दिए थे, लेकिन तब भी वह पेश नहीं हुआ था। अब अधिकारी इस मामले में कड़ा रुख अपनाने की बात कह रहे हैं। विभाग ने आयकर छापों के दौरान मिली वन्य प्राणियों की ट्रॉफियों और खाल के सम्बंध में एक साल की जांच के बाद 22 अप्रेल को शर्मा पर वन्य जीव अधिनियम के तहत प्रकरण दर्ज किया गया था। मामला दर्ज होने के साथ ही शर्मा को चार मई को कार्यालय में उपस्थित होकर बयान देने के लिए बुलाया गया था। नौ अप्रेल 2019 को अश्विन शर्मा के प्लेटिनम प्लाजा स्थित फ्लैट पर आयकर की छापेमारी के दौरान मिली बाघ, काले हिरण, चीतल, चिंकारा जैसे वन्यप्रणियों ट्रॉफी एवं खाल मिली थीं। इस मामले में वन विभाग ने एक साल बाद 22 अप्रेल को वन्य प्राणी अधिनियम के तहत अपराध दर्ज किया था। वन विभाग की ओर से अश्विनी शर्मा को नोटिस जारी करके चार मई को कार्यालय में उपस्थित होने के निर्देश दिए गए थे। अश्विन शर्मा को सोमवार को उपस्थित होना था, लेकिन वह न तो उपस्थित हुआ न ही नोटिस का कोई जवाब ही दिया। उस पर गंभीर मामले में अपराध दर्ज है, अब इस मामले में वरिष्ठ अधिकारियों का मार्गदर्शन लेकर कड़ा रुख अपनाया जाएगा।सुनील भारद्वाज, एसडीओ, वन विभाग

praveen malviya Reporting
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned