चार निष्ठावान चेहरे चुनने थे, पार्टी ने इनको चुना

माखन सिंह और चौधरी राकेश सिंह का आखिरी वक्त पर पत्ता कटने पर बोले सीएम...

By: anil chaudhary

Published: 13 Mar 2018, 09:14 AM IST

भोपाल. राज्यसभा नामांकन के आखिरी दिन सोमवार को भाजपा प्रत्याशी थावरचंद गेहलोत, धर्मेंद्र प्रधान, कैलाश सोनी और अजय प्रताप ङ्क्षसह के साथ ही कांग्रेस प्रत्याशी राजमणि पटेल ने अपना नामांकन दाखिल किया। भाजपा प्रत्याशी पहले प्रदेश कार्यालय पहुंचे, जहां से विधानसभा तक काफिले के साथ गए।

नामांकन के दौरान मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान , प्रदेश अध्यक्ष नंदकुमार सिंह चौहान और प्रदेश संगठन महामंत्री सुहास भगत भी मौजूद रहे। नामांकन दाखिल करने के बाद मुख्यमंत्री ने कैलाश सोनी को अपना सीनियर बताया। थावरचंद गेहलोत को जमीन से जुड़ा नेतृत्व बताया। माखन सिंह और चौधरी राकेश सिंह के नाम आखिरी वक्त पर कट जाने के सवाल पर मुख्यमंत्री ने कहा, पार्टी का हर कार्यकर्ता क्षमतावान है। हमें चार ही निष्ठावान लोगों का चयन करना था, इसलिए हमने इन्हें चुना।

आखिरी वक्त पर भरा पर्चा
कांग्रेस प्रत्याशी राजमणि पटेल ने आखिरी वक्त पर नामांकन दाखिल किया। हालांकि, राजमणि सुबह 11 बजे विधानसभा पहुंच गए थे। कुछ देर बाद प्रदेश कंागे्रस अध्यक्ष अरुण यादव पहुंचे, लेकिन राजमणि के नामांकन पत्र में कमी रह गई थी।

सूत्रों के मुताबिक नामांकन पत्र में सभी प्रस्तावक विधायकों के हस्ताक्षर नहीं हो पाए थे। इसी बीच विधानसभा में जीतू पटवारी के खिलाफ विशेषाधिकार हनन के मामले में हंगामा शुरू हो गया। एेसे हालात में कांग्रेसी विधायक बाहर नहीं निकल पाए। आखिरकार राजमणि को लौटना पड़ा। डेढ़ बजे लंच ब्रेक होने पर विधायकों ने पीसीसी पहुंचकर उनके नामांकन पत्र पर दस्तखत किए। राजमणि ने अंतिम २५ मिनट में अपना पर्चा दाखिल किया।

रामदास और रईस भी पहुंचे फॉर्म लेने
निवार्चन कार्यालय पर पहुंचे दो व्यक्तियों ने राज्यसभा का फॉर्म खरीदकर सभी को चौका दिया। उज्जैन से आए डी. रामदास ने कमलनाथ का समर्थक होने का दावा किया। उनका दावा था कि उनके समर्थन में कांग्रेस के २५ और बसपा के चार विधायक हैं। उधर, भोपाल के रईस खां ने भी फॉर्म खरीदा और कई विधायकों का समर्थन होने का दावा किया। रईस ३.१० बजे फॉर्म जमा करने भी पहुंचे। लेट होने पर पीठासीन अधिकारी एपी सिंह ने उन्हें लौटा दिया।

- सीएम बने सोनी और अजय के प्रस्तावक
कैलाश सोनी के प्रस्तावक- शिवराज सिंह चौहान, राजेंद्र शुक्ल, प्रदीप लारिया, अंतरसिंह आर्य, माया सिंह, जितेंद्र गेहलोत, शंकरलाल तिवारी, नारायण त्रिपाठी, ठाकुर दास नागवंशी और कल्याण सिंह ठाकुर।

अजय प्रताप ङ्क्षसह के प्रस्तावक- शिवराज सिंह चौहान, भूपेंद्र सिंह , पारस जैन, विजय शाह, सत्यपाल सिंह, कैलाश चावला, जसवंत सिंह हाड़ा, जालम सिंह पटेल, वीरसिंह पंवार और मनोज पटेल

धर्मेंद्र प्रधान के प्रस्तावक- गोपाल भार्गव, कैलाश जाटव, उमादेवी खटीक, चेतराम मानेकर, नागरसिंह चौहान, चंदर सिंह सिसोदिया, माधोसिंह डाबर, जयसिंह मरावी, यशपाल सिंह सिसोदिया और विजयपाल सिंह।

थावरचंद गेहलोत के प्रस्तावक- बाबूलाल गौर, जगदीश देवड़ा, वेलसिंह भूरिया, कालूसिंह ठाकुर, रामलाल रोतेल, अमर ङ्क्षसह यादव, संगीता चारेल, लखन पटेल, मीना सिंह और बालकृष्ण पाटीदार।

राममणि पटेल के प्रस्तावक- अजय सिंह, रामनिवास रावत, विक्रम सिंह नातीराजा, मुकेश नायक, आरिफ अकील, तरुण भनोत, गोंविद सिंह, योगेंद्र सिंह बाबा, जयवर्धन सिंह, रजनीश ङ्क्षसह

anil chaudhary Desk
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned