अमित शाह को बाइक पर घुमाया, 9 महीने पहले सांसद बने तो संसद में मोदी की तरह ही किया प्रवेश, अब हैं MP में BJP के 'BOSS'

पहली बार खजुराहो से लोकसभा चुनाव लड़े विष्णु दत्त शर्मा

भोपाल/ मध्यप्रदेश बीजेपी के नए बॉस विष्णु दत्त शर्मा होंगे। शनिवार को यह ऐलान हो गया है कि राकेश सिंह की जगह अब खजुराहो से सांसद विष्णु दत्त शर्मा प्रदेश अध्यक्ष होंगे। विष्णु दत्त शर्मा ने जिम्मेदारी मिलने के बाद राष्ट्रीय नेताओं का आभार जताया है। वीडी शर्मा बीजेपी से सात साल पहले ही जुड़े हैं। पहली बार उन्हें खजुराहो से लोकसभा चुनाव का टिकट मिला और अच्छे-खासे अंतर से चुनाव जीत गए।

खजुराहो से टिकट मिलने से पहले वीडी शर्मा पर्दे के पीछे रहकर ही संगठन के लिए काम करते रहे हैं। वह छात्र जीवन से ही अखिल विद्यार्थी परिषद से जुड़े रहे हैं। मूल रूप से वह मध्यप्रदेश के मुरैना जिले के रहने वाले हैं। विद्यार्थी परिषद में उन्होंने कई जिम्मेदारियों का निर्वहन किया है। 2019 के लोकसभा चुनाव में पार्टी ने उन्हें खजुराहो सीट से टिकट दिया। इससे पहले उन्होंने कभी कोई चुनाव नहीं लड़ा था।

7.jpg


एबीवीपी से की करियर की शुरुआत
विष्णुदत्त शर्मा 1987 में अखिल भारतीय विद्यार्थी परिषद में शामिल हुए। 1995 से फुल टाइमर राजनीति में विष्णुदत्त ने कदम रखे। 1993 से 1994 तक वह मप्र राज्य में सचिव रहे। विष्णुदत्त शर्मा 2001 से 2007 तक मप्र में ABVP राज्य संगठन सचिव रहे। इस दौरान विष्णुदत्त शर्मा एबीवीपी के राष्ट्रीय सचिव भी रहे। 2007 से 2017 तक मध्यप्रदेश और छत्तीसगढ़ के क्षेत्रीय संगठन सचिव रहे। 2007 से 2009 तक विष्णुदत्त शर्मा एबीवीपी केराष्ट्रीय महासचिव भी रहे।

4.jpg


इन वजहों से भी है पहचान
विष्णुदत्त शर्मा अपने राजनैतिक करियर के दौरान काफी आंदोलनों में भी शामिल हो चुके हैं। भ्रष्टाचार के खिलाफ आंदोलनों में उन्होंने पदयात्रा भी निकाली थी, जो बालाघाट से शुरू हुई थी। शिक्षा में व्यावसायीकरण और भ्रष्टाचार के खिलाफ आंदोलन में वह हमेशा सक्रिय रहे हैं। विष्णुदत्त शर्मा ने नर्मदा में प्रदूषण का अध्ययन किया है। साथ ही NGT में मामला दायर भी किया है। यही सब वजह हो सकती है कि भाजपा ने उन्हें खजुराहो से टिकट दिया है।

3_1.jpg


नेहरू युवा केंद्र से भी जुड़े
2015 में विष्णु दत्त शर्मा को नेहरू युवा केंद्र के बोर्ड ऑफ गवर्नर्स का उपाध्यक्ष नियुक्त किया गया था। उन्हें राज्य मंत्री का दर्जा प्राप्त था। केंद्र की मोदी सरकार द्वारा उन्हें यह नियुक्ति दी गई थी। तब विष्णु दत्त शर्मा ने कहा था कि कौशल विकास एनडीए सरकार की प्रमुख चिंताओं में से एक है। युवाओं में नेतृत्व की गुणवत्ता और देशभक्ति के सम्मान के साथ कौशल विकास प्रदान करने में एनवाईके अपना पूरा प्रयास करेगा।

2_6.jpg

अमित शाह को बाइक से घुमाया
टिकट मिलने से सात साल पहले विष्णु दत्त शर्मा बीजेपी से जुड़े थे। इस दौरान उन्होंने संगठन के लिए जमीनी स्तर पर खूब काम किया था। लोकसभा चुनावों के दौरान बीजेपी के तत्कालीन राष्ट्रीय अध्यक्ष अमित शाह के साथ भी उन्होंने खूब कैंपेन किया था। रोड शो के दौरान वीडी शर्मा ने अमित शाह को बुलेट पर बैठाकर घुमाया था। संघ के साथ-साथ वीडी शर्मा की पकड़ संगठन में भी जबरदस्त है। शायद इस बार उसी का फायदा उन्हें मिला है।

5.jpg

मोदी की तरह ही संसद में किया प्रवेश
2014 के लोकसभा चुनाव में जीत के बाद पहली बार प्रधानमंत्री मोदी जब संसद पहुंचे थे, तब उन्होंने दंडवत होकर संसद की सीढ़ियों को प्रणाम किया था। उसके बाद अंदर प्रवेश किया था। वीडी शर्मा भी नौ महीने पहले ही संसद पहुंचे हैं। 25 मई 2019 को जब वह चुनाव जीतकर संसद पहुंचे तो शपथ लेने वह मोदी की तरह ही संसद भवन में प्रवेश किया। वह सीढ़ियों को दंडवत करते हुए संसद भवन के अंदर पहुंचे।

6.jpg

मध्यप्रदेश बीजेपी के अध्यक्ष बने
सांसद बनने के नौ महीने बाद ही केंद्रीय नेतृत्व ने सांसद वीडी शर्मा को बड़ी जिम्मेदारी है। अब पार्टी ने उन्हें मध्यप्रदेश बीजेपी का अध्यक्ष नियुक्त किया है। बताया जाता है कि पूर्व सीएम शिवराज सिंह चौहान के साथ भी अच्छे रिश्ते हैं। दरअसल, मध्यप्रदेश प्रदेश अध्यक्ष की नियुक्ति के लिए तीन महीने पहले से ही सुगबुगाहट तेज हो गई थी। पार्टी के दो राष्ट्रीय महासचिव मध्यप्रदेश में नेताओं की सहमति लेने में लगे थे। उसके बाद वीडी शर्मा के नाम पर मुहर लगी है।

BJP
Show More
Muneshwar Kumar
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति (Privacy Policy ) और कूकीज नीति (Cookies Policy ) से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned