भोपाल/नाव पलटने से 11 लोगो की मौत : ये है 5 बड़े कारण, इस वजह से गई 11 लोगों की जान

भोपाल/नाव पलटने से 11 लोगो की मौत : ये है 5 बड़े कारण, इस वजह से गई 11 लोगों की जान

KRISHNAKANT SHUKLA | Updated: 13 Sep 2019, 03:40:59 PM (IST) Bhopal, Bhopal, Madhya Pradesh, India

capsizing of a boat at khatlapura ghat in bhopal - भोपाल नाव हादसा: 11 लोगों की मौत के 5 बड़े कारण, देखें LIVE वीडियो

भोपाल. मध्यप्रदेश की राजधानी भोपाल के पुलिस मुख्यालय से कुछ ही दूरी पर छोटे तालाब स्थित खटलापुरा मंदिर घाट पर शुक्रवार को तड़के करीब 4 बजे भोपाल नाव हादसे में 11 लोगों के पानी में डूबने मौत हो गई। हादसे में सूचना मिलते ही सुबह से नेता, अफसर, रहवासी सभी घटना स्थल पर मौजूद रहे। ये पहला हादसा नहीं है इसके पहले भी गणेश विसर्जन के दौरान हादसे हुये हैं। जिसको लेकर प्रशासन ने कोई सबक नहीं लिया। जिसके कारण गणेश प्रतिमा विसर्जन में बड़ा हादसा हुआ।

MUST READ : मौत पर राजनीतिक सियासत गर्म, नेता बोले- जितनों की ड्यूटी थी सब पर होगी कार्यवाई

 

 

निगम की लापरवाही, ड्यूटी से नदारद रहा स्टॉफ

बताया जा रहा है कि हादसे से पहले उन्हे रोकने वाला नगर निगम और प्रशासन का कोई भी स्टॉफ मौजूद नहीं था। हादसे के बाद सूचना मिलते ही हरकत में आये अफसरों ने कहा कि इस लापरवाही को लेकर ड्यूटी चार्ट में जितनों की ड्यूटी थी उन सब पर कार्यवाही होगी।

MUST READ : नाव पलटने से 11 की मौत, मुख्यमंत्री ने दिया मजिस्ट्रियल जांच के निर्देश

वहीं लोगों का कहना है कि डयूटी में रोकना, टोकना होता तो शायद हादसा रूक सकता था। वहीं ये बात भी सामने आई की बीते गुरूवार को दिनभर चले गणेश विसर्जन के बाद रात 12 बजे के बाद प्रशासन भोपाल शहर के खटलापुरा घाट से नदारद रहे। जिसकारण मूर्ति विसर्जन करने आये लोगों ने नाविक पर क्षमता से अधिक बैठक कर 10 फीट से अधिक लंबाई की मूर्ति लेकर बीच तालाब में पहुंचे।

MUST READ : मृतकों के परिजन को 4-4 लाख रुपये देने की घोषणा

Ganesh Visarjan Death: ये है 5 बड़े कारण, इस वजह से गई 12 लोगों की जान

 

1100 क्वार्टर में छाया मातम

पिपलानी क्षेत्र के पुराने 1100 क्वार्टर में मातम छा गया है। हर कोई इस घटना को सूनकर हैरान है। लोगों का कहना है कि कुछ घंटोें पहले इसी जगह पर जहां ढोल नगाड़ा बजा रहा था वहां अब लोगों की चीख पुकार सुनाई दे रही है। परिजनों का रो रो कर बुरा हाल है।

MUST READ : गणेश विसर्जन में हुआ बड़ा हादसा

हादसे के ये हैं 5 बड़े कारण

1. भोपाल के खटलापुरा घाट में बड़ी मूर्तियों का विसर्जन पर रोक है। फिर भी यहां 10 फीट से ज्यादा की मूर्ति विसर्जित करने की अनुमति किसने दी?
2. जब अनुमति नहीं तो खटलापुरा घाट पर इतनी बड़ी मूर्ति पर किसी ने रोका क्यों नहीं। नगर निगम और प्रशासन के साथ गार्ड, नाविक ड्यूटी पर सख्त क्यों नहीं थे।
3. दो नाव जोड़कर मूर्ति विसर्जन करना, हादसे को बुलावा देना था।
4. एक नाव में क्षमता से अधिक 19 लोग सवार थे।
5. लाईफ जैकेट नहीं पहने थे इससे हुई 11 लोगों की मौत।

MUST READ : 12 की मौत, हर आंखों में आंसू- देखें LIVE तस्वीरें

 

Ganesh Visarjan Death: ये है 5 बड़े कारण, इस वजह से गई 12 लोगों की जान

 

नाव चलने वाले पर प्रकरण दर्ज

नाव हादसे में फरियादी निर्मल कुमार दास पिता दिलीप कुमार दास निवासी 1100 क्वाटर पिपलानी की रिपोर्ट पर नाव चलाने वाले (नाविक) आकाश बाथम एवं चंगु बाथम के विरुद्ध थाना जहांगीराबाद में अपराध क्रमांक 1033/19 धारा 304(A) भादवि० का पंजीबद्ध किया गया है।

मृतकों के नाम व पते :-

1- परवेज़ पिता सईद खान उम्र 15 साल निवासी 1100 क्वाटर पिपलानी।

2- रोहित मौर्य पिता नंदू मौर्य उम्र 30 साल निवासी 1100 क्वाटर पिपलानी।

3- करण पिता...... उम्र 16 साल निवासी 1100 क्वाटर पिपलानी।

4- हर्ष पिता ..... उम्र 20 साल निवासी 1100 क्वाटर पिपलानी।

5-सन्नी ठाकरे पिता नारायण ठाकरे उम्र 22 साल निवासी 1100 क्वाटर पिपलानी।

6- राहुल वर्मा पिता मुन्ना वर्मा उम्र 30 साल निवासी 1100 क्वाटर पिपलानी।

7- विक्की पिता रामनाथ उम्र 28 साल निवासी 1100 क्वाटर पिपलानी।

8-विशाल पिता राजू उम्र 22 साल निवासी 1100 क्वाटर पिपलानी।

9-अर्जुन शर्मा पिता......उम्र 18 साल निवासी 1100 क्वाटर पिपलानी।

10-राहुल मिश्रा पिता ......उम्र 20 साल निवासी 1100 क्वाटर पिपलानी।

11- करण पिता पन्नालाल उम्र 26 साल निवासी 1100 क्वाटर पिपलानी।

12- नाम नहीं पता चला, जांच जारी। (मिली जानकारी के अनुसार)

 

Show More

MP/CG लाइव टीवी

खबरें और लेख पढ़ने का आपका अनुभव बेहतर हो और आप तक आपकी पसंद का कंटेंट पहुंचे , यह सुनिश्चित करने के लिए हम अपनी वेबसाइट में कूकीज (Cookies) का इस्तेमाल करते हैं। हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति (Privacy Policy ) और कूकीज नीति (Cookies Policy ) से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned