scriptgaumukh tapovan glacier adventure trek uttarakhand | रोमांच के शौकीनों की पहली पसंद, हर पल रहता है यहां मौत का खौफ...! | Patrika News

रोमांच के शौकीनों की पहली पसंद, हर पल रहता है यहां मौत का खौफ...!

gaumukh tapovan trek- गौमुख -तपोवन ग्लेशियर पर 60 किमी ट्रैकिंग कर लौटा दल...। पत्रिका को बताए रोमांचक अनुभव...।

भोपाल

Updated: June 19, 2022 09:01:57 am

भोपाल। गौमुख ग्लेशियर भारत का दूसरा सबसे बड़ा ग्लेशियर है। इस स्थान पर जाने की चाह हर पर्वतारोही की होती है। एडवेंचर के शौकीन युवा ही इस पूरे ट्रैक को सफलतापूर्वक कर पाते हैं। क्योंकि इस स्थान पर जीरो डिग्री के नीचे तापमान रहता है और ऑक्सीजन की कमी हो जाती है। मौत का साया साथ चलता है। राजधानी से गए 9 साहसी ट्रेकर्स ने गौमुख-तपोवन (Gaumukh Tapovan Trek) का ट्रैक चार दिन में फतह कर लिया। दल के सदस्यों ने पहाड़ों की चोटी पर तिरंगा भी लहराया।

go2.png
गौमुख से तपोवन के पहाड़ों पर लहराया तिरंगा...।

उत्तराखंड के खूबसूरत पहाड़ और पवित्र गंगा के उद्गम गौमुख का रास्ता आसान नहीं है। हमेशा ग्लेशियर से ढंके रहने वाला यह डेस्टिनेशन पर्वतारोहियों की पहली पसंद है। राजधानी के 9 साहसी ट्रेकर्स ने भी 6 जून से 13 जून के बीच यह ट्रैक पूरा किया। इस ग्रुप के सदस्य स्वाभिमान शुक्ला ने पत्रिका के साथ अपने अनुभव साझा किए।

गोमुख तपोवन का 60 किमी लंबा

स्वाभिमान शुक्ला बताते हैं कि गोमुख-तपोपन का पूरा ट्रैक 60 किलोमीटर लंबा है। गंगोत्री से इसकी शुरुआत की गई। यह ट्रैक चीड़, बासा, भोज, बासा होते हुए गोमुख तपोवन तक जाता है। गोमुख से तपोवन 2.5 किमी का ट्रैक बहुत ही दुर्गम है, जिसमें 75 से 80 डिग्री के खड़े पहाड़ों को पार करना होता है।

go3.png

पत्थर गिरते गए हम बढ़ते गए

एलआईसी के अधिकारी शुक्ला ने बताया कि यहां पर एडवेंचर ऐसा है कि एक तरफ कुआं और एक तरफ खाई है। यानी एक तरफ खाई में फिसलने का खतरा तो दूसरी तरफ पहाड़ों पर चढ़ते हुए ऊपर से गिरने वाले पत्थरों से खतरा। ऐसा कई बार हुआ जब चढ़ाई करते हुए हमारे ग्रुप के ऊपर पत्थर गिरने लगे। लेकिन हम बढ़ते गए। जबकि कई बार ऐसा लगा कि कहीं हम खाई में न समा जाएं। कई बार हम चोटिल होने से भी बचे। रास्ते में एक तरफ आकाश गंगा नदी थी, जिसे तेज धारा को दो बार क्रास करने का रोमांच हासिल किया। यह भी अपने आप में दुर्लभ क्षण था। 7 जून को सुबह शुरू हुई चढ़ाई की यात्रा को 10 जून को तपोवन में खत्म किया। यहां जीरो डिग्री तापमान और कड़कड़ाती ठंड में रात गुजारी। यहां कई वर्षों से तपस्या में लीन चित्रकूट के स्वामी मौनी बाबा से भी मिले। यहां कदम-कदम पर रोमांच था, जिसे सभी ने सुरक्षा उपकरणों के साथ पूरा किया।

go6.png

 

ग्लेशियर पिघलने का दुख

शुक्ला ने बताया कि हम सभी ट्रेकर्स ग्लेशियर में ट्रैकिंग के लिए रोमांचित थे, लेकिन हम सभी को चार किलोमीटर का वो हिस्सा भी देखने को मिला, जो प्रदूषण और ग्लोबल वार्मिग के कारण खत्म हो रहा था। इस पूरे इलाके में ग्लेशियर खत्म ही हो गया था। यहां सिर्फ बंजर पहाड़ ही नजर आ रहे थे।

go1.jpg

यह लोग भी थे शामिल

गोमुख तपोवन पर जाने वालों में भोपाल के दवा व्यवसायी अजय वर्मा, साइक्लिस्ट अंकुर सक्सेना, एलआइसी के शिरीष दुबे, हरीश फुलवानी, सुरेंद्र सिंह यादव, सत्यम द्विवेदी, अविनाश डोंगरे, भगवान संगतानी भी मौजूद थे।

सबसे लोकप्रिय

शानदार खबरें

Newsletters

epatrikaGet the daily edition

Follow Us

epatrikaepatrikaepatrikaepatrikaepatrika

Download Partika Apps

epatrikaepatrika

Trending Stories

मौसम अलर्ट: जल्द दस्तक देगा मानसून, राजस्थान के 7 जिलों में होगी बारिशइन 4 राशियों के लोग होते हैं सबसे ज्यादा बुद्धिमान, देखें क्या आपकी राशि भी है इसमें शामिलस्कूलों में तीन दिन की छुट्टी, जानिये क्यों बंद रहेंगे स्कूल, जारी हो गया आदेश1 जुलाई से बदल जाएगा इंदौरी खान-पान का तरीका, जानिये क्यों हो रहा है ये बड़ा बदलावNumerology: इस मूलांक वालों के पास धन की नहीं होती कमी, स्वभाव से होते हैं थोड़े घमंडीबुध जल्द अपनी स्वराशि मिथुन में करेंगे प्रवेश, जानें किन राशि वालों का होगा भाग्योदयमोदी सरकार ने एलपीजी गैस सिलेण्डर पर दिया चुपके से तगड़ा झटकाजयपुर में रात 8 बजते ही घर में आ जाते है 40-50 सांप, कमरे में दुबक जाता है परिवार

बड़ी खबरें

Maharashtra Political Crisis: खतरे में MVA सरकार! समर्थन वापस लेने की तैयारी में शिंदे खेमा, राज्यपाल से जल्द करेंगे संपर्क?Maharashtra Political Crisis: एकनाथ शिंदे की याचिका पर SC ने डिप्टी स्पीकर, महाराष्ट्र पुलिस और केंद्र को भेजा नोटिस, 5 दिन के भीतर जवाब मांगाMaharashtra Political Crisis: सुप्रीम कोर्ट से शिंदे खेमे को मिली राहत, अब 12 जुलाई तक दे सकते है डिप्टी स्पीकर के अयोग्यता नोटिस का जवाब"BJP से डर रही", तीस्ता की गिरफ़्तारी पर पिनाराई विजयन ने कांग्रेस की चुप्पी पर साधा निशानाअंबानी परिवार की सुरक्षा को लेकर सुप्रीम कोर्ट कल करेगा सुनवाई, जानिए क्या है पूरा मामलाMumbai News Live Updates: सुप्रीम कोर्ट के फैसले पर एकनाथ शिंदे ने कहा- यह बालासाहेब के हिंदुत्व और आनंद दिघे के विचारों की जीत हैMaharashtra Political Crisis: शिंदे खेमा काफी ताकतवर, उद्धव ठाकरे के लिए मुश्किल होगा दोबारा शिवसेना को खड़ा करनासचिन पायलट बोले-गहलोत मेरे पितातुल्य, उनकी बातों को अदरवाइज नहीं लेता
Copyright © 2021 Patrika Group. All Rights Reserved.