scriptGovernment schemes will also be affected due to increase in wheat pric | Market में गेहूं की कीमतें बढऩे से पड़ेगा Government योजनाओं पर भी असर | Patrika News

Market में गेहूं की कीमतें बढऩे से पड़ेगा Government योजनाओं पर भी असर

- तीन की जगह पर अब दो किलो मिलेगा गेहूं
- समर्थन मूल्य पर 40 लाख मीट्रिक टन की खरीदी, प्रति वर्ष 30 लाख मीट्रिक टन का वितरण

भोपाल

Published: May 21, 2022 10:24:19 pm

भोपाल।international market में Wheat की कीमतें बढऩे सेpoor को मुफ्त में अनाज बाटने, टेक होम राशन सहित अन्य योजनाओं पर भी प्रभाव पडऩे के आसार नजर आने लगे हैं। केन्द्र सरकार ने अब दो किलो चावल की जगह पर तीन किलो Rice तथा तीन किलो गेहूं की जगह पर दो किलो गेहू वितरण करने के संबंध में राज्य सरकारों को निर्देश दिए हैं। सरकार इस व्यवस्था को अगले माह से लागू करने पर विचार कर रही है।
मप्र में इस वर्ष करीब 40 लाख मीट्रिक टन गेहूं की खरीदी हुई है। समर्थन मूल्य पर गेहूं बेचने की तारीख बढ़ाने के बाद भी खरीदी केन्द्र खाली पड़े रहते हैं। इससे यह अनुमान लगाया जा रहा है कि 30 मई तक एक-दो लाख मीट्रिक टन गेहूं की खरीदी और हो सकती है। बाजार में गेहूं की कीमतें होने से मंडियों में गेहूं जा रहा है, बड़े किसान अभी गेहूं नहीं बेच रहे हैं, क्योंकि उन्हें लग रहा है कि बारिश के बाद गेहूं के दाम में एकदम से उछाल आएगा।

gggg.jpg

तीस लाख मीट्रिक टन वितरण
सरकार प्रदेश में एक करोड़ 18 लाख गरीब परिवारों और टेकहोम राशन में करीब 30 लाख मीट्रिक टन से अधिक प्रति वर्ष गेहूं का वितरण करती है। इसके अनुसार तो वर्तमान में स्थिति बेहतर है, लेकिन अगर यही स्थिति रही तो अगले वर्ष गरीबों को अनाज वितरण में गेहूं की कमी हो सकती है।

सरकार ने रोके बिक्री
सरकार के पास वर्तमान में डेढ़ सौ लाख मीट्रिक टन अनाज का भंडारण है। इसमें से सरकार करीब 30 लाख मीट्रिक टन गेहूं खुले बाजार में बेच रही थी। करीब 12 लाख मीट्रिक टन के आस-पास गेहूं बेच भी दिया था, अब समर्थन मूल्य में गेहूं की खरीदी कम होने और बाजार में इसकी कीमत बढऩे से सरकार ने खुले बाजार में बेचने का फैसला भी वापस ले लिया है।

मंडी में 45 लाख मीट्रिक टन गेहूं
प्रदेश की 259 मंडियों और 297 उप मंडियों में इस गेहूं सीजन में 45 लाख मीट्रिक टन गेहूं की खरीदी हुई हैं। यह आंकड़ा पिछले वर्ष की तुलना में करीब 650 फीसदी से अधिक है। जानकारों के अनुसार इस वर्ष गेहूं का उत्पादन भी पिछले वर्षों की तुलना में कम हुआ है। पिछले वर्ष सिर्फ समर्थन मूल्य पर 130 लाख मीट्रिक टन गेहूं की खरीदी हुई थी।

सबसे लोकप्रिय

शानदार खबरें

Newsletters

epatrikaGet the daily edition

Follow Us

epatrikaepatrikaepatrikaepatrikaepatrika

Download Partika Apps

epatrikaepatrika

Trending Stories

Weather. राजस्थान में आज 18 जिलों में होगी बरसात, येलो अलर्ट जारीसंस्कारी बहू साबित होती हैं इन राशियों की लड़कियां, ससुराल वालों का तुरंत जीत लेती हैं दिलशुक्र ग्रह जल्द मिथुन राशि में करेगा प्रवेश, इन राशि वालों का चमकेगा करियरउदयपुर से निकले कन्हैया के हत्या आरोपी तो प्रशासन ने शहर को दी ये खुश खबरी... झूम उठी झीलों की नगरीजयपुर संभाग के तीन जिलों मे बंद रहेगा इंटरनेट, यहां हुआ शुरूज्योतिष: धन और करियर की हर समस्या को दूर कर सकते हैं रोटी के ये 4 आसान उपायछात्र बनकर कक्षा में बैठ गए कलक्टर, शिक्षक से कहा- अब आप मुझे कोई भी एक विषय पढ़ाइएUdaipur Murder: जयपुर में एक लाख से ज्यादा हिन्दू करेंगे प्रदर्शन, यह रहेगा जुलूस का रूट

बड़ी खबरें

Domestic cylinder price: घरेलू गैस सिलेंडर महंगा, कमर्शियल सिलेंडर के दाम घटेMp local body elecation: इंदौर में तोडफ़ोड़, भाजपा नेता ने वायरल कर दी ईवीएम की फोटोMumbai News Live Updates: मुंबई में लगातार दूसरे दिन भी हो रही तेज बारिश, बांद्रा इलाके में भारी जलभरावLalu Prasad Yadav की तबीयत में नहीं हो रहा सुधार, आज एयर एंबुलेंस से लाए जाएंगे दिल्लीMaharashtra Politics: शिवसेना चीफ उद्धव ठाकरे पर सीएम एकनाथ शिंदे ने कसा तंज, कहा- ऑटोरिक्शा ने मर्सिडीज को पीछे छोड़ दियाराजस्थान के 7 जिलों में आज भारी बारिश का अलर्ट, मौसम विभाग सुझावखाद्य मंत्रालय की आज खाद्य तेल कंपनियों के साथ बैठक, और सस्‍ता होगा खाने का तेलउत्तर प्रदेश विधान परिषद आज हो जाएगा कांग्रेस मुक्त
Copyright © 2021 Patrika Group. All Rights Reserved.