scriptGovernment will issue identity cards to transgenders | नकली किन्नरों की जबरिया उगाही से मिलेगी मुक्ति, ट्रांसजेंडरों की पहचान के लिए सरकार का बड़ा कदम | Patrika News

नकली किन्नरों की जबरिया उगाही से मिलेगी मुक्ति, ट्रांसजेंडरों की पहचान के लिए सरकार का बड़ा कदम

सभी ट्रांसजेंडर को पहचान पत्र जारी किए जाएंगे

भोपाल

Published: March 27, 2022 08:37:27 am

भोपाल. मध्यप्रदेश में अब सभी ट्रांसजेंडर को पहचान पत्र जारी किए जाएंगे। भोपाल जिले से इसकी शुरुआत हो रही है। हालांकि सरकार ने यह कदम ट्रांसजेंडर को सरकारी योजनाओं का लाभ देने के लिए उठाया है पर पहचान पत्र जारी किए जाने के बाद नकली किन्नरों की जबरिया उगाही से मुक्ति मिलने की भी उम्मीद जताई जा रही है। दरअसल खासतौर पर भोपाल में इलाकों में वसूली को लेकर अक्सर किन्नरों में विवाद होते हैं और सबसे ज्यादा झगड़े असली बनाम नकली किन्नरों के सामने आते हैं।
kinnar.png
ट्रांसजेंडर को पहचान पत्र
अधिकारियों के अनुसार इस पहचान पत्र की मदद से ट्रांसजेंडर को सरकार की योजनाओं का लाभ मिलेगा। जिला मजिस्ट्रेट को अधिनियम की धारा-6 व 7 में पहचान प्रमाण पत्र, पहचान पत्र जारी करने के लिए अधिकृत किया गया है। प्रमाण पत्र भारत सरकार के नेशनल पोर्टल से जारी किया जाना है। इस संबंध में सामाजिक न्याय एवं निशक्तजन कल्याण विभाग द्वारा आदेश जारी किये गये हैं। जिले में लगभग 190 ऐसे ट्रांसजेंडर हैं जिनके वोटर कार्ड बने हुए हैं।
देश में अब सर्जरी कराकर ट्रांसजेंडर बनने का चलन भी तेजी से बढ़ रहा है। कई मॉडल या चर्चित लोग अपने सेक्स को मेडिकल साइंस के मदद से परिवर्तित करवा रहे हैं। भारतीय किन्नर भी अपने शरीर में मामूली परिवर्तन करके सामान्य पुरुष या महिला दिखने के लिए सर्जरी करवा रहे हैं। ताकि उसे भी समाज में प्रतिष्ठा मिल सके।
जन्मजात किन्नर का जन्म होने का पता लगते ही किन्नर समाज उसे घर से उठाकर ले जाते हैं और अपने साथ ही रखने लगते हैं। सदियों तक किन्नर समाज के लोगों को भीख मांगने के लिए मजबूर किया गया पर अब कई किन्नर विभिन्न पेशों में आ रहे हैं और किन्नर समाज के लिए बड़ी उपलब्धि हासिल कर रहे हैं।
भारत सरकार के ट्रांसजेंडर पर्सनल बिल 2016 के अनुसार ऐसे लोगों को कहा जाता है ट्रांसजेंडर
— जो शारीरिक रूप से न तो पूरी तरह से पुरुष है और न ही महिला
— महिला और पुरुष दोनों का सम्मिलित रूप हो
— जिसे न तो पुरुष और न ही महिला के तौर परिभाषित किया जा सके
— जिस व्यक्ति का सेक्स जन्म के समय नियत सेक्स से मेल नहीं खाता हो।
— जो ट्रांस-मेल या ट्रांस फीमेल हो
— इंटरसेक्स विभिन्नता के साथ सेक्स विलक्षणताओं वाले व्यक्ति

सबसे लोकप्रिय

शानदार खबरें

Newsletters

epatrikaGet the daily edition

Follow Us

epatrikaepatrikaepatrikaepatrikaepatrika

Download Partika Apps

epatrikaepatrika

बड़ी खबरें

राजस्थान में इंटरनेट कर्फ्यू खत्म, 12 जिलों में नेट चालू, पांच जिलों में सुबह खत्म होगी नेटबंदीनूपुर शर्मा पर डबल बेंच की टिप्पणियों को वापस लिया जाए, सुप्रीम कोर्ट के चीफ जस्टिस के समक्ष दाखिल की गई Letter PettitionENG vs IND Edgbaston Test Day 1 Live: ऋषभ पंत के शतक की बदौलत भारतीय टीम मजबूत स्थिति मेंMaharashtra Politics: महाराष्ट्र बीजेपी अध्यक्ष चंद्रकांत पाटिल ने देवेंद्र फडणवीस के डिप्टी सीएम बनने की बताई असली वजह, कही यह बातजंगल में सर्चिंग कर रहे जवानों पर नक्सलियों ने की फायरिंगपंचायत चुनाव: दो पुलिस थानों ने की कार्रवाई, प्रत्याशी का चुनाव चिन्ह छाता तो उसने ट्राली भर छाता बंटवाने भेजे, पुलिस ने किए जब्तMonsoon/ शहर में साढ़े आठ इंच बारिश से सडक़ों पर सैलाब जैसा नजारा, जन जीवन प्रभावित2 जुलाई को छ.ग. बंद: उदयपुर की घटना का असर छत्तीसगढ़ में, कई दलों ने खोला मोर्चा
Copyright © 2021 Patrika Group. All Rights Reserved.