राज्यपाल के बुलावे पर भी नहीं पहुंचे विधानसभा स्पीकर, गर्माया मुद्दा

हम से बढ़कर कौनः भाजपा विधायक प्रहलाद लोधी का मामला, गुस्साए राज्यपाल ने चुनाव आयोग को लिखा पत्र

 

भोपाल। मध्यप्रदेश के राज्यपाल ( governor of MP ) के बुलावे पर विधानसभा अध्यक्ष अब तक उनसे मिलने नहीं पहुंचे हैं। इस पर गुस्साए राज्यपाल ने नाराजगी जाहिर करते हुए चुनाव आयोग को पत्र लिखा है।

कुछ दिन पहले भाजपा के पवई से विधायक प्रहलाद लोधी ( prahlad lodhi ) को कोर्ट ने दो साल की सजा सुनाई थी। इस पर विधानसभा अध्यक्ष नर्मदा प्रसाद प्रजापति ( NP Prajapati ) ने विधायक की सदस्यता बर्खास्त कर दी थी। विधायक लोधी इस पर हाईकोर्ट चले गए, जहां कोर्ट ने उन्हें राहत देते हुए सजा पर कुछ समय के लिए रोक लगा दी। इस स्थिति के बाद जब प्रहलाद लोदी की सदस्यता पुनः बहाल करने का आवेदन लेकर भाजपा के उपाध्यक्ष शिवराज सिंह चौहान, प्रदेश अध्यक्ष राकेश सिंह और विपक्ष के नेता गोपाल भार्गव राज्यपाल से मिलने पहुंचे थे।

 

विधानसभा अध्यक्ष को किया तलब
सूत्रों के मुताबिक भाजपा नेताओं के आवेदन पर राज्यपाल लालजी टंडन ने विधानसभा अध्यक्ष नर्मदा प्रसाद प्रजापति को बुलाया। 16 नवंबर को उन्होंने मिलने के लिए बुलाया था, लेकिन व्यस्तता की हवाला देते हुए वे उनसे मिलने नहीं पहुंचे। इसके बाद 18 नवंबर की दोपहर तक भी वे नहीं पहुंचे तो राज्यपाल लालजी टंडन बेहद नाराज नजर आए। उन्होंने चुनाव आयोग को पत्र लिखकर इस मुद्दे पर राय मांगी है। जिसमें उन्होंने मांगा है कि क्या हाईकोर्ट के स्टे के बाद क्या विधायक प्रहलाद लोधी सुचारू रूप से अपना कार्य कर रहे हैं।

 

यह भी है खास
पन्ना जिले की पवई सीट से भाजपा विधायक प्रहलाद लोधी की सदस्यता समाप्त करने के मामले में राज्यपाल लालजी टंडन ने विधानसभा स्पीकर एनपी प्रजापति को चर्चा के लिए बुलाया था। लेकिन वे राजभवन नहीं पहुंचे।

-गौरतलब है कि भाजपा विधायक प्रहलाद लोधी तहसीलदार से मारपीट और बलवे के मामले में विशेष अदालत ने दोषी करार दिया था। इसके बाद उन्हें हाईकोर्ट से राहत मिल गई है।

Show More
Manish Gite
और पढ़े

MP/CG लाइव टीवी

खबरें और लेख पढ़ने का आपका अनुभव बेहतर हो और आप तक आपकी पसंद का कंटेंट पहुंचे , यह सुनिश्चित करने के लिए हम अपनी वेबसाइट में कूकीज (Cookies) का इस्तेमाल करते हैं। हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति (Privacy Policy ) और कूकीज नीति (Cookies Policy ) से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned