हर माह एक लाख रुपए कम वेतन लेंगे राज्यपाल टंडन

कोरोना संकट के चलते रहने तक प्रधानमंत्री राहत कोष में राशि देने का किया एलान

भोपाल। राज्यपाल लालजी टंडन ने कोरोना संकट के चलते अपने वेतन की तीस प्रतिशत राशि प्रधानमंत्री राहत कोष में देने की घोषणा की है। यह राशि करीब एक लाख रुपए होती है। उन्होंने कहा कि कोरोना संकट के चलते रहने तक वे प्रतिमाह यह राशि देते रहेंगे। राज्यपाल ने राष्ट्रपति रामनाथ कोविंद को पत्र लिखकर इसकी जानकारी दे दी है। साथ ही उन्होंने कोरोना वायरस से उत्पन्न संकट से निपटने के लिए सरकार की प्रयासों की सराहना भी की है।

शिवराज 30 फीसदी कम लेंगे वेतन —

मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने देशव्यापी कोरोना संकट से निपटने में सहयोग स्वरूप एक साल तक अपने वेतन की 30 प्रतिशत राशि सहायता कोष में देने का निर्णय लिया है। उन्होंने कहा है कि मेरी विधायक निधि भी कोरोना संक्रमण से निपटने में व्यय की जाएगी।

मुख्यमंत्री चौहान ने कहा कि देश में कोरोना वायरस संक्रमण के कारण असाधारण स्थिति बनी हुई है। इससे अर्थ-व्यवस्था की स्थिति भी प्रभावित हुई है। उन्होने कहा कि इस समय आवश्यकता है कि सम्पूर्ण शक्ति और संसाधन कोरोना वायरस के संक्रमण से निपटने में लगाई जाए। चौहान ने सभी वर्गों से भी अपील की है कि अपने खर्चों में कटौती कर पैसा बचाकर कोरोना संकट से जूझने के लिए मुख्यमंत्री सहायता कोष को प्रदान करें।

सांसदों को भी मिलेगा कम वेतन —
कोरोना वायरस के कारण आयी महामारी से लड़ने के लिए केन्द्रीय सरकार ने सांसदों के वेतन में 30 प्रतिशत कटौती करने का निर्णय लिया है। यह कटौती एक साल तक जारी रहेगी। जिसका इस्तेमाल कोरोना वायरस से लड़ने में किया जाएगा।

Corona virus
दीपेश अवस्थी Reporting
और पढ़े

MP/CG लाइव टीवी

हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned