अब शादी के लिए दूल्हा दुल्हन को करना होगा इंतजार, 11 दिसंबर से बजेगी शहनाई

अब शादी के लिए दूल्हा दुल्हन को करना होगा इंतजार, 11 दिसंबर से बजेगी शहनाई

By: Ashtha Awasthi

Published: 20 Jul 2018, 03:02 PM IST

भोपाल। अगर आप आने वाले दिनों में किसी विवाह संस्कार या मांगलिक कार्यक्रम को करने के बारे में सोच रहे हैं तो आपको बता दें कि 21 जुलाई के बाद से कोई भी मांगलिक कार्य संपन्न नही किया जा सकेगा। इस दिन के बाद से दूल्हा-दुल्हन को शादी के लिए इंतजार करना पड़ेगा। बता दें कि गुरू और शुक्र के अस्त होने के कारण आने वाले पांच महीने में विवाह का कोई भी मुहूर्त नहीं है। शहर के ज्योतिषाचार्य पंडित जगदीश शर्मा बताते है कि 21 जुलाई को भड़लिया नवमी पर शादी का आखिरी श्रेष्ठ और अबूझ मुहूर्त है। इसके बाद 23 जुलाई को देवशयनी एकादशी से सभी मांगलिक कार्य बंद हो जाएंगे। फिर 11 दिसंबर से शादियों की शहनाई बजेगी। पंडित जी के अनुसार 11 दिसंबर से मार्च के महीने तक शादी-विवाह के कई शुभ मुहूर्त हैं।

love astrology

वर्जित होते हैं मांगलिक कार्य

आने वाली 23 जुलाई को देव शयन एकादशी है। ज्योतिष के अनुसार इस दिन से देवी-देवताओं के शयन का समय शुरू हो जाता है, जिसके कारण कोई भी मांगलिक कार्य संपन्न नहीं किए जाते हैं। वहीं दूसरी ओर इस बार गुरु और शुक्र अस्त होने के कारण देवोत्थान एकादशी पर भी किसी मांगलिक कार्यक्रम का शुभ मुहूर्त नहीं बन रहा है। 11 दिसंबर से ही मांगलिक कार्य के लिए शुभ योग हैं।

होंगे दो मलमास के महीने

आने वाली 27 जुलाई से चातुर्मास शुरू होगा। पंडित जी का कहना है कि इस बार दो मलमास के महीने होने के कारण भी योग कम हैं। वे बताते है कि समातन धर्म के लोग विवाह संस्कार के लिए शुभ मुहूर्त की तलाश करते हैं। जुलाई के महीने में 21 तारीख को सर्वार्थ सिद्धि योग में सबसे ज्यादा विवाह होंगे। फिर देवोत्थान एकादशी 19 नवंबर को अबूझ मुहूर्त से शादियों की शुरुआत हो जाएगी लेकिन अच्छे शुभ योग 11 दिसंबर से मार्च के महीने तक रहेंगे। जनवरी, फरवरी और मार्च में अच्छे मुहूर्त हैं, इन्हीं महीनों में मांगलिक कार्यक्रम शुभ होगा।

Ashtha Awasthi
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned