शहर में आधा दर्जन मैरिज गार्डन, नगर पालिका के रिकॉर्ड में एक भी नहीं

पंजीयन कराते ही गार्डन संचालकों को चुकाना होगा व्यावसायिक कर

 

भोपाल. औद्योगिक शहर में अलग-अलग स्थानों पर आधा दर्जन से ज्यादा मैरिज गार्डन संचालित हो रहे हैं, लेकिन नगर पालिका के राजस्व रिकार्ड में एक भी गार्डन दर्ज नहीं हैं। शहर के ज्यादातर गार्डन बिना पंजीयन के धड़ल्ले से चल रहे हैं। इससे नपा को जहां राजस्व की क्षति हो रही है, वहीं गार्डन संचालक बिना सुविधाओं के लोगों से मनमाने तरीके से पैसे वूसल रहे हैं।

मैरिज गार्डन में मिलने वाली सुविधा नाम मात्र की रहती है, भुगतान पूरा करना पड़ता है। मैरिज गार्डन पर लगने वाला टैक्स लोगों से तो ले लेते हैं।, पर नगर पालिका परिषद में पंजीयन नहीं होने से व्यवसायिक कर नहीं जमा करते। यह स्थिति वर्षों से चल रही है। इसकी जानकारी नपा परिषद के जिम्मेदारों को होने के बाद भी अब तक पंजीयन नहीं कराया गया। इससे विवाह मुहूर्त के समय हर दिन की बुकिंग करने वाले गार्डन नपा को ठेंगा दिखा रहे हैं। इसके साथ ही नियमों को भी ताक पर रखते हैं।

 

टैक्स जमा करते हैं पर मद का पता नहीं
शहर में आधा दर्जन मैरिज गार्डन कई धर्मशालाएं हैं, लेकिन नगर पालिका परिषद में पंजीयन एक भी मैरिज गार्डन का नहीं, जिसका व्यवसायकि टैक्स जमा करते हैं। जबकि नियम अनुसार सभी मैरिज गार्डनों को व्यवसायकि टैक्स करने का नियम है, परन्तु हौसले बुलंद होने के चलते गार्डन संचालक बिना टैक्स जमा किए ही लगातार बुकिंग ले रहे हैं।

मैरिज गार्डन के लिए यह नियम जरूरी
शासन द्वारा तय नियमोंके अनुसार मैरिज गार्डन के लिए न्यूनतम भूमि एक हेक्टेयर होना अनिवार्य है। सामने की ओर सड़क की न्यूनतम चौड़ाई 18 मीटर होना चाहिए। परिसर का न्यूनतम हिस्सा सामने की ओर 40 मीटर अनिवार्य है। अग्निशमन यंत्र अनिवार्य। बोर्ड पर गार्डन में नियमों की जानकारी लिखना अनिवार्य होता है। जबकि शहर में कई गार्डन इन नियमों की अनदेखी कर रहे हैंं।

बिना अनुमति चल रहे हैं तो कार्रवाई करेंगे
शहर में कितने मैरिज गार्डन नपा में रजिस्टर्ड हैं, इसकी जानकारी राजस्व विभाग से प्राप्त कर देता हूं, अगर मैरिज गार्डन बिना अनुमति के चल रहे हैं तो उनके खिलाफ कार्रवाई की जाएगी।
केएल सुमन, नपा सीएमओ मंडीदीप

Rohit verma Desk
और पढ़े

MP/CG लाइव टीवी

हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned