अस्थमा के मरीजों के लिए वरदान है ये चाय, बस दिन में एक बार पी लें

अस्थमा के मरीजों के लिए वरदान है ये चाय, बस दिन में एक बार पी लें

Astha Awasthi | Publish: Sep, 07 2018 05:41:30 PM (IST) Bhopal, Madhya Pradesh, India

अस्थमा के मरीजों के लिए वरदान है ये चाय, बस दिन में एक बार पी लें

भोपाल। अस्थमा यानि दमा एक ऐसी बीमारी है, जिससे सांस लेने में तकलीफ होती है। इसके कारण श्वास नलियों में सिकुड़न और सूजन आ जाती है, जिससे सांस लेने में परेशानी, सांस लेते समय आवाज आना, सीने में जकड़न, खांसी आदि समस्‍याएं होने लगती हैं। अस्थमा रोगी को अपने खान-पान का ख्याल रखना पड़ता है क्योंकि गलत खान-पान के कारण यह समस्या और भी बढ़ जाती है। शहर की डॉयटीशियन रश्मि श्रीवास्तव बताती है कि अस्थमा के मरीजों को दिन में एक बार तुलसी की चाय का सेवन जरूर करना चाहिए। तुलसी की चाय पीने से श्वास संबंधी परेशानियों को दूर किया जा सकता है। ब्रोंकाइटिस और अस्थमा के मरीजों के लिए तुलसी की चाय बहुत लाभकारी होती है। इसके साथ ही कफ की समस्या दूर करने में भी तुलसी की चाय लाभकारी होती है।

तनाव दूर होगा

कई तरह के अध्ययनों से यह सामने आया है कि तुलसी की चाय तनाव दूर करने में भी असरदार होती है। यह तनाव बढ़ाने वाले हार्मोंन कार्टिसोल को नियंत्रित करने का काम करती है। इस तरह डिप्रेशन और एंजाइटी से बचने के लिए तुलसी की चाय का सेवन किया जाना चाहिए।

ब्लड शुगर रहेगा नियमित

सामान्य दूध वाली की जगह तुलसी चाय पीने से ब्लड शुगर को नियमित किया जा सकता है। तुलसी की चाय काब्र्स एवं फैट्स का मेटाबॉलिज्म बढ़ाने का काम भी करती है। इस तरह ब्लड शुगर भी नहीं बढ़ती और शरीर को एनर्जी भी मिलती है।

डेंटल और ओरल हेल्थ

तुलसी की चाय में एंटी-माइक्रोबियल प्रॉपर्टीज भी होती हंै। यह बैक्टीरिया और जम्र्स से बचाने में लाभकरी है। इसका इस्तेमाल माउथ फ्रेशनर के रूप में भी किया जा सकता है। साथ ही मुंह की दुर्गंध को दूर करने में भी तुलसी की चाय कारगर है।

आर्थराइटिस से बचाएं

हेल्थ एक्सपट्र्स के अनुसार आर्थराइटिस की समस्या से बचने लिए भी तुलसी की चाय पीना कारगर है। दरअसल, तुलसी में यूरेनॉल तेल होता है, जो एक तरह से एंटी-इंफ्लेमेटरी तत्व की तरह काम करता है। यह जोड़ों की सूजन दूर करने में असरदार है।

Ad Block is Banned