कोरोना संदिग्ध के शव को नहीं छू पाएंगे परिजन, विभाग ही करेगा अंतिम संस्कार

स्वास्थ्य आयुक्त ने जारी किया आदेश, बिना कारण मर्चुरी में शव रखे जाने पर होगी कार्रवाई

By: govind agnihotri

Published: 18 Apr 2020, 01:12 AM IST

भोपाल. प्रदेश में कोरोना के संक्रमण को रोकने के लिए स्वास्थ्य विभाग ने महत्वपूर्ण कदम उठाया है। अब कोरोना वायरस संदिग्ध की मौत के बाद अंतिम संस्कार के लिए कोरोना रिपोर्ट का इंतजार नहीं किया जाएगा। संदिग्ध की मौत पर भी स्वास्थ्य विभाग ही पूरे प्रोटोकॉल के साथ शव का अंतिम संस्कार कराएगा। स्वास्थ्य आयुक्त फैज अहमद किदवई ने सभी मुख्य चिकित्सा एवं स्वास्थ्य अधिकारी (सीएमएचओ) और सिविल सर्जन को कोरोना के संदिग्ध और कन्फर्म मरीज की मौत के मामले में शव को डिसइन्फेक्ट करने से लेकर अंतिम संस्कार करने की पूरी गाइडलाइन भेजी है। इसके मुताबिक अब संदिग्ध मरीज की मौत के बाद शव को मर्चुरी में नहीं रखकर उसका अंतिम संस्कार कर दिया जाएगा।

गाइडलाइन के मुताबिक संदिग्ध और पुष्ट मरीज के शव को एक परसेंट हाइपोक्लोराइड घोल से संक्रमण मुक्त करें। इसके साथ ही मरीज जहां भर्ती था वार्ड के साथ उपयोग किए गए साधनों को संक्रमण मुक्त करने को कहा गया है। शव को रिसावरोधी बोडी बैग में पैक कर अंतिम संस्कार के लिए भेजा जाए।

परिजनों को बिना छुए दे सकते हैं अंतिम विदाई
स्वास्थ्य विभाग द्वारा जारी निर्देशों में ये कहा गया है कि मृतक के परिजनों को बिना छुए दूर से अंतिम दर्शन कराए जा सकते हैं। अंतिम संस्कार कराने वाले शमशान घाट/कब्रिस्तान के कर्मचारियों को संक्रमण से बचाने के लिए ग्लव्ज, मास्क तथा चश्मा पहनना चाहिए। शव ले जाने वाले वाहन को भी संक्रमणमुक्त किया जाना चाहिए। मालूम हो कि भोपाल में अब तक कोरोना से छह मौतें हो चुकी हैं जिनमें से पांच की रिपोर्ट मौत के दो तीन दिन बाद आई।

Corona virus
govind agnihotri Reporting
और पढ़े

MP/CG लाइव टीवी

हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned