मुख्यमंत्री के आश्वासन के बाद आशा कार्यकर्ताओं की हड़ताल खत्म

छह सूत्रीय मांगों के जल्द निराकरण का मिला आश्वासन, काम पर लौटीं

भोपाल। बीते 6 दिनों से चल रही आशा कार्यकर्ताओं की हड़ताल सातवें दिन समाप्त हो गई। मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान के आश्वासन के बाद आशा-उषा कार्यकर्ताओं ने हड़ताल वापस लेने का फैसला लिया है। मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान से मिले आश्वासन के बाद आशा उषा कार्यकर्ता हड़ताल समाप्त कर काम पर वापस लौट गई है। आशा उषा कार्यकर्ताओं के प्रतिनिधि मंडल ने रविवार को मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान से मुख्यमंत्री आवास में मुलाकात की । आशा, उषा सहयोगिनी कार्यकर्ता संगठन की प्रदेश अध्यक्ष विभा श्रीवास्तव का कहना है कि 6 सूत्रीय मांगों को लेकर मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान से आज मुलाकात की थी।

आशा कार्यकर्ताओं ने बताया कि मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने उन्हें आश्वासन दिया है कि उनकी सभी छह सूत्रीय मांगों को जल्द से जल्द पूरा किया जाएगा। समस्याओं का भी जल्द निराकरण किया जाएगा। विभाग की बैठक बुलाकर आप सभी की मौजूदगी में मांगों पर बातचीत की जाएगी। जल्द से जल्द संभावित मांगें पूरी करने का प्रयास किया जाएगा। सीएम के आश्वासन के बाद अब आशा उषा कार्यकर्ताओं ने 6 दिनों से चली आ रही अपनी हड़ताल वापस ले ली है।

आशा उषा कार्यकर्ताओं को दो दिन पहले किया गया था गिरफ्तार

अपनी मांगों को लेकर आशा-उषा कार्यकर्ताओं ने दो दिन पहले (1250) जेपी अस्पताल के बाहर जमकर हंगामा किया था। बड़ी संख्या में आशा-उषा कार्यकर्ताएं धरने पर बैठी थी। मांगों को लेकर धरना प्रदर्शन कर रही महिला कार्यकर्ताओं को पुलिस में हिरासत में लिया था। हिरासत में लेने के बाद हड़ताल खत्म करने की हिदायत भी दी गयी थी। मांगो को लेकर सीएम से मुलाक़ात के बाद मिले आश्वासन के बाद अब कार्यकर्ताएं काम पर लौट आई हैं।

ये हैं मांगें
- आशा-उषा कार्यकर्ताओं को 25 दिन की जगह 30 दिन का पूरा भुगतान दिया जाए।

- आशा एवं सहयोगी कर्मचारियों को शासकीय कर्मचारी मान्य किया जाए।
- डिलीवरी के लिए 600 की जगह 1200 रुपये का भुगतान किया जाए।

- शहरी एवं ग्रामीण आशा कार्यकर्ताओं को समान वेतन दिया जाए।
-आशा सहयोगिनी को 15 हजार और आशा कार्यकर्ता को 10 हजार रुपए प्रति माह दिए जाएं।

सुनील मिश्रा
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned