स्वास्थ्य सेवाएं बदहाल - कमलनाथ

हवा-हवाई दावे छोड़ ठोस काम करे सरकार : कमलनाथ

 

By: Arun Tiwari

Published: 18 Apr 2020, 07:46 PM IST

भोपाल : पूर्व मुख्यमंत्री कमलनाथ ने मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान पर निशाना साधा है। कमलनाथ ने ट्वीट कर कहा कि शिवराज जी, कोरोना महामारी को लेकर प्रदेश की स्थिति को लेकर भले बड़े-बड़े दावे करें, हवा-हवाई बातें करें लेकिन यह सब सच्चाई व वास्तविकता से परे है। उन्होंने कहा कि आज भी स्वास्थ्य सेवाएं बदहाल हंै, लोगों को इलाज नहीं मिल पा रहा है, गंभीर मरीजों को दर-दर भटकना पड़ रहा है। मृत्यु का आंकड़ा बढ़ता जा रहा है, प्रदेश कोरोना को लेकर देश भर में चर्चित होकर नित नए रिकॉर्ड बना रहा है, डॉक्टर्स, स्वास्थ्य कर्मी, पुलिस कर्मी पीपीई किट, मास्क व अन्य संसाधनों के अभाव में प्रतिदिन संक्रमित हो रहे हंै, लोगों को राशन -दवाई व अन्य आवश्यक वस्तु नहीं मिल पा रही हैं। अस्पतालों से मरीज़ों को भगाया जा रहा है, लोगों की टेस्टिंग ही नहीं हो पा रही है, लोग आगे आकर ख़ुद टेस्टिंग की गुहार लगा रहे हंै, हेल्पलाइन नं. व्यवस्था फेल है, कोई सुनवाई नहीं हो रही है।

अब तो कोरोना से सम्बंधित आंकड़ों में भी हेर-फेर का खेल चालू हो गया है। उन्होंने कहा कि इलाज व एम्बुलेंस के अभाव में मरीज दम तोड़ रहे हंै, चंद दिनों की सरकार ने प्रदेश की तस्वीर ही बदल कर रख दी है, पता नहीं शिवराज सरकार कब इस सच्चाई को स्वीकार करेगी। उन्होंने कहा कि शिवराज सरकार हवा-हवाई दावे छोड़ ज़मीनी स्तर पर ठोस कार्य योजना बनाकर काम करे।

वहीं कमलनाथ ने प्रदेश से बाहर फंसे मजदूरों और छात्रों की वापसी का मुद्दा भी उठाया। उन्होंने कहा कि यूपी सरकार ने राजस्थान के कोटा में फंसे अपने प्रदेश के छात्रों को वापस लाने के लिये बसें भेजी हंै। मध्यप्रदेश सरकार को भी देश के अन्य राज्यों में फंसे प्रदेश के छात्रों, नागरिकों व मजदूरों को वापस लाने के लिये आवश्यक गाइडलाइन का पालन कर गंभीर प्रयास करना चाहिये।

Arun Tiwari
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned