Weather Updates: अब भारी बारिश का दौर, कई जिलों में नदी-नाले उफान पर

Weather Updates: अब भारी बारिश का दौर, कई जिलों में नदी-नाले उफान पर
Indian Meteorological Department

Manish Geete | Publish: Jul, 26 2019 11:49:08 AM (IST) | Updated: Jul, 26 2019 12:51:48 PM (IST) Bhopal, Bhopal, Madhya Pradesh, India

मानसूनी सिस्टम प्रदेश में मजबूत हो गया है। गुरुवार को ही मानसून सक्रिय हो गया और कई जगहों पर तेज बारिश हुई।मौसम विभाग का कहना है कि आने वाले तीन-चार दिनों में औसत से अधिक बारिश की संभावना है। इसके बाद उमस और गर्मी भी कम हो जाएगी।

भोपाल। मानसूनी सिस्टम मध्यप्रदेश ( madhya pradesh ) में मजबूत हो गया है। गुरुवार को ही मानसून सक्रिय ( monsoon ) हो गया और कई जगहों पर तेज बारिश ( heavy rain ) हुई। मौसम विभाग ( Indian Meteorological Department ) का कहना है कि आने वाले तीन-चार दिनों में औसत से अधिक बारिश की संभावना है। इसके बाद उमस और गर्मी भी कम हो जाएगी।

एक दिन में गिरा 6 डिग्री पारा
भोपाल समेत कई शहरों में हुई बारिश से कुछ ही घंटों में छह डिग्री तक पारा गिर गया। इससे लोगों को थोड़ी राहत मिली, लेकिन अब भी सामान्य से अधिक तापमान होने के कारण गर्मी का असर भी बरकरार है।

रतलाम में सबसे अधिक बारिश
मौसम विभाग ( IMD ) के आंकड़ों के मुताबिक प्रदेश में रतलाम जिला ऐसा हैं, जहां सबसे अधिक बारिश दर्ज की गई है। यहां 538.7 मिमी बारिश दर्ज की गई है, जो सामान्य से 232.4 मिमी अधिक है। प्रदेश में सबसे कम 189.4 मिमी बारिश सीधी जिले में दर्ज की गई है, जो सामान्य से भी 202 मिमी कम है।

 

प्रदेश में कहां-कहां हुई बारिश
जबलपुर में गुरुवार को हुई बारिश से तापमान काबू में आ गया। दिन और रात दोनों पक्त का तापमान सामान्य से बराबर हो गया। इससे पिछले कुछ दिनों से उमस और गर्मी से परेशान हो रहे लोगों को राहत मिली। लोगों के छाते और बरसाती निकल आई। मौसम विभाग के मुताबिक शाम 5.30 बजे तक 33.9 मिमी बारिश रिकॉर्ट की जा चुकी थी। मौसम वैज्ञानिकों के मुताबिक बंगाल की खाड़ी के ऊपर निर्मित चक्रवात के कारण संभाग के आसपास कम दबाव का क्षेत्र बना हुआ है। इसके प्रभाव से बारिश हो रही है। शुक्रवार को भी जबलपुर संभाग के जिलों में बारिश की संभावना जताई गई है।

 

मौसम विभाग के मुताबिक मध्यप्रदेश के ज्यादातर जिलों में मानसून सक्रिय होने से बारिश शुरू हो गई है। फिलहाल किसी भी जिले में बाढ़ की स्थिति नहीं है। गुरुवार को प्रदेश के शिवपुरी, इंदौर, सागर और भोपाल में तेज बारिश हुई। जहां सड़कों पर पानी भर गया था।

 

इधर, ग्वालियर से खबर है कि गुरुवार रात को झमाझम बारिश के बाद लोगों को तापमान में काफी राहत मिली। पिछले दिनों 39 डिग्री के आसपास चल रहे ग्वालियर का तापमान 31.1 डिग्री और न्यूनतम तापमान 24.4 डिग्री पर आ गया। ग्वालियर क्षेत्र में शाम 5.30 बजे तक 9.6 मिमी बारिश रिकार्ड की गई। मौसम विभाग का कहना है कि बारिश का दौर शुक्रवार को भी जारी रहने का अनुमान है।

 

कई गांवों का संपर्क टूटा
अशोक नगर से गुजरी सूखी नदी उफान पर आ गई है। अशोक नगर से जुड़े आधा दर्जन गांवों के रास्ते बंद हो गए हैं। बताया जा रहा है कि जिले में गुरुवार से अब तक करीब 4 इंच बारिश हो चुकी है।, जबकि अशोक नगर शहर और मुंगावली में 5 इंच बारिश हुई है।

ASHOK NAGAR

गुना में नदी नाले उफने
गुना से खबर है कि गुरुवार रात से सुबह 8.30 बजे तक 6 घंटे में 145 मिलीमीटर यानी 5.7 इंच पानी गिरा। बीते 24 घंटे के भीतर देश में सर्वाधित बारिश वाले 10 शहरों में गुना दूसरे नंबर पर है। इससे प्यासे खेत, खाली तालाब और सूखी नदियों में पानी आ गया है। गुना में उद्योग विभाग के आवास, म्याना स्कूल और बमोरी के कन्या हॉस्टल में पानी भर गया।

GUNA

 

 

यहां हुई सामान्य बारिश
प्रदेश के भोपाल समेत रायसेन, मंडला, राजगढ़, डिंडौरी, सतना, रीवा, सिंगरौली, नरसिंहपुर, सीहोर, बुरहानपुर, खरगोन, आगर-मालवा, उज्जैन, भिंड, दमोह, बड़वानी, खंडवा, धार, ग्वालियर, शाजापुर, दतिया, शिवपुरी, अलीराजपुर, जबलपुर में सामान्य बारिश हुई।

यह भी है खास
-भोपाल के तालाब का जल स्तर 1652.35 फीट है, इसका फुल टैंक लेवल 1666.80 है। अभी इसमें करीब 14 फीट पानी भरना बाकी है।

MP/CG लाइव टीवी

खबरें और लेख पढ़ने का आपका अनुभव बेहतर हो और आप तक आपकी पसंद का कंटेंट पहुंचे , यह सुनिश्चित करने के लिए हम अपनी वेबसाइट में कूकीज (Cookies) का इस्तेमाल करते हैं। हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति (Privacy Policy ) और कूकीज नीति (Cookies Policy ) से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned