प्री-मानसून की हल्की बारिश के बाद उमस ने तड़पाया, जानिये अब कहां होने जा रही है भारी बारिश...

प्री-मानसून की हल्की बारिश के बाद उमस ने तड़पाया, जानिये अब कहां होने जा रही है भारी बारिश...

Deepesh Tiwari | Updated: 16 Jun 2019, 05:13:26 PM (IST) Bhopal, Bhopal, Madhya Pradesh, India

मौसम विभाग का पूर्वानुमान: अब इन शहरों में होगी बारिश...

भोपाल। मध्यप्रदेश के कई हिस्सों में पिछले 24 घंटों के दौरान हल्की व तेज बारिश हुई। इसमें मध्यप्रदेश के जबलपुर संभाग के जिलों में अनेक स्थानों पर व सागर, इंदौर, और भोपाल संभागों के जिलों में कुछ स्थानों पर जबकि शहडोल, रीवा, इंदौर, होशंगाबाद, व ग्वालियर संभागों के जिलों में कहीं कहीं वर्षा हुईं ।


वहीं इस दौरान प्रदेश में अधिकतम तापमान खरगौन व खजुराहो में 44 डिग्री दर्ज किया गया। मौसम विभाग के पूर्वानुमान के अनुसार अगले 24 घंटों में ग्वालियर, शहडोल, जबलपुर,चम्बल,रीवा, सागर संभागों के जिलों में कुछ स्थानों पर जबकि बाकि संभागों में कहीं कहीं वर्षा, गरज चंमक के
साथ बौछारें गिर सकती हैं, वहीं कुछ जगहों पर तेज हवा या आंधी ( हवा की गति 40 से 50 किमी/घंटा) चल सकतीं हैं। और तकरीबन यही स्थिति 19 जून तक बनी रह सकती है।

weather

इससे पहले शुक्रवार और शनिवार को हुई हल्की बारिश के बाद मध्यप्रदेश की राजधानी भोपाल में आज उमस भरा मौसम रहा। कुल मिलाकर तापमान में जरूर गिरवट देखने को मिली, लेकिन उमस ने आम लोगों का जीवन मुहाल कर दिया।

वहीं दूसरी ओर भिंड में रविवार की सुबह से उमस भरी गर्मी के बाद दोपहर होते-होते तेज आंधी के साथ झमाझम बारिश हुई। लगभग 20 मिनट से लगातार जोरदार बारिश ने कुछ ही पलों में नगर पालिका की पोल खोल कर रख दी।

दरअसल इस 20 मिनट की तेज बारिश के चलते जगह जगह कॉलोनियों व सड़कों पर पानी भी गया। जिसके चलते आवागमन में परेशानियां आने लगीं।

bhopal weather

इधर, दो दिन में 30 मिलीमीटर
इससे पहले प्री-मानसून के असर से राजधानी में दूसरे दिन भी झमाझम की स्थिति रही। शनिवार दोपहर दो बजे से शुरू हुआ बूंदाबांदी का सिलसिला तेज बारिश का अहसास भी दिलाता रहा। मौसम विभाग के मुताबिक शनिवार शाम साढ़े छह बजे तक 5.7 मिलीमीटर बारिश दर्ज की गई।

उम्मीद थी कि रविवार को भी बारिश के आंकड़े में बढ़ोतरी होगी। प्री-मानसून की आमद के साथ ही शनिवार सुबह से बादल डेरा जमाए थे। लेकिन ये रविवार को नहीं बरसे। जिसके चलते शहर में उमस का माहौल बन गया। वहीं शनिवार को सूरज और बादलों की लुकाछिपी के बीच दोपहर दो बजे से बूंदाबांदी शुरू हुई।

शहर के कई हिस्सों में तेज तो कहीं-कहीं हल्की बारिश हुई। तीन बजे बारिश का एक और दौर आया। 40 से 45 मिनट तक हुई बारिश ने मौसम खुशनुमा बना दिया। हालांकि उमस लोगों को पसीना-पसीना करती रही। मौसम विभाग के अनुसार दो दिन में राजधानी में 30 मिमी बारिश दर्ज की गई है।

 

2013 में अधिक तो 2014 में कम बरसा प्री-मानसून
जून मे? मानसून ?? की आमद के साथ ही इस महीने की शुरुआती बारिश को मौसम विभाग प्री मानसून में शामिल करता है। विभाग के मुताबिक शनिवार तक 30 मिलीमीटर बरसात दर्ज की गई।

शनिवार शाम साढ़े छह बजे तक पांच मिलीमीटर बारिश हुई। रविवार सुबह तक प्री-मानसून बारिश का आंकड़ा 40 मिमी तक पहुंचने का अनुमान है।

खास बात है कि वर्ष 2014 में जून में 23.2 मिलीमीटर बरसात दर्ज की गई थी। उस वर्ष मानसून सात जुलाई को आया था। वर्ष 2013 में प्री-मानसून की 460 मिलीमीटर बरसात दर्ज हुई थी, जो 10 वर्षों में सबसे अधिक थी।

बारिश आते ही पारे ने लगाया गोता
दो दिन से जारी प्री-मानसून की बारिश ने गर्मी से राहत दी है। शनिवार को अधिकतम तापमान में गिरावट दर्ज की गई।
यह शुक्रवार की तुलना में तीन डिग्री कम यानी 36.2 डिग्री दर्ज किया गया। यह सामान्य से 0.6 डिग्री कम था। न्यूनतम तापमान 27.2 डिग्री रहा।


दो दिन में 30 मिलीमीटर बारिश दर्ज...
इससे पहले प्री-मानसून के असर से राजधानी में दूसरे दिन यानि शनिवार को भी झमाझम की स्थिति रही।

शनिवार दोपहर दो बजे से शुरू हुआ बूंदाबांदी का सिलसिला तेज बारिश का अहसास भी दिलाता रहा। मौसम विभाग के मुताबिक शनिवार शाम साढ़े छह बजे तक 5.7 मिलीमीटर बारिश दर्ज की गई। उम्मीद है कि रविवार को भी बारिश के आंकड़े में बढ़ोतरी होगी।

प्री-मानसून की आमद के साथ ही शनिवार सुबह से बादल डेरा जमाए थे। सूरज और बादलों की लुकाछिपी के बीच दोपहर दो बजे से बूंदाबांदी शुरू हुई।

शहर के कई हिस्सों में तेज तो कहीं-कहीं हल्की बारिश हुई। तीन बजे बारिश का एक और दौर आया। 40 से 45 मिनट तक हुई बारिश ने मौसम खुशनुमा बना दिया। हालांकि उमस लोगों को पसीना-पसीना करती रही। मौसम विभाग के अनुसार दो दिन में राजधानी में 30 मिमी बारिश दर्ज की गई है।

2013 में अधिक तो 2014 में कम बरसा प्री-मानसून
जून में मानसून की आमद के साथ ही इस महीने की शुरुआती बारिश को मौसम विभाग प्री मानसून में शामिल करता है। विभाग के मुताबिक शनिवार तक 30 मिलीमीटर बरसात दर्ज की गई।

शनिवार शाम साढ़े छह बजे तक पांच मिलीमीटर बारिश हुई। रविवार सुबह तक प्री-मानसून बारिश का आंकड़ा 40 मिमी तक पहुंचने का अनुमान है। खास बात है कि वर्ष 2014 में जून में 23.2 मिलीमीटर बरसात दर्ज की गई थी। उस वर्ष मानसून सात जुलाई को आया था। वर्ष 2013 में प्री-मानसून की 460 मिलीमीटर बरसात दर्ज हुई थी, जो 10 वर्षों में सबसे अधिक थी।

बारिश आते ही पारे ने लगाया गोता
दो दिन से जारी प्री-मानसून की बारिश ने गर्मी से राहत दी है। शनिवार को अधिकतम तापमान में गिरावट दर्ज की गई।

यह शुक्रवार की तुलना में तीन डिग्री कम यानी 36.2 डिग्री दर्ज किया गया। यह सामान्य से 0.6 डिग्री कम था। न्यूनतम तापमान 27.2 डिग्री रहा।

Show More

MP/CG लाइव टीवी

खबरें और लेख पढ़ने का आपका अनुभव बेहतर हो और आप तक आपकी पसंद का कंटेंट पहुंचे , यह सुनिश्चित करने के लिए हम अपनी वेबसाइट में कूकीज (Cookies) का इस्तेमाल करते हैं। हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति (Privacy Policy ) और कूकीज नीति (Cookies Policy ) से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned