बंगाल की खाड़ी से मिल रही हैं नमी, अगले 32 घंटों में इन 18 जिलों में भारी बारिश के आसार

जानिए कैसा रहेगा मौसम का हाल....

By: Ashtha Awasthi

Published: 24 Sep 2020, 06:07 PM IST

भोपाल/कटनी। मध्यप्रदेश के अधिकांश जिलों में बारिश का सिलसिला जारी है। शहर में सुबह से ही झमाझम बारिश (Weather forecast) का दौर जारी है, जिसके बाद लोगों ने उमस भरी गर्मी से राहत की सांस ली। दूसरी ओर बारिश के बाद धान की फसल एक बार फिर संजीवनी मिल गई है। बता दें कि जिले के अलग-अलग स्थानों पर लगातार दो दिन से बारिश से हो रही है।

किसानों का कहना है कि बारिश धान के लिए फायदेमंद है, रबी फसल की बोअनी की तैयारी में लगे किसानों को भी इससे लाभ होगा। बारिश से सब्जी उगाने वाले किसानों को भी बड़ी राहत मिली है। जिले में लंबे अंतराल के बाद मेघ मेहरबान हुए हैं। बीते कई दिनों से बारिश नहीं होने के कारण लोग तेज गर्मी और उमस से परेशान रहे।

photo6296279596621999037.jpg

मौसम विभाग का कहना है कि कम दबाव का क्षेत्र पश्चिमी मध्य प्रदेश के मध्य में है। मानसून द्रोणिका (ट्रफ) राजस्थान से कम दबाव के क्षेत्र से होकर बंगाल की खाड़ी तक जा रही है। दक्षिणी महाराष्ट्र से उप्र तक एक ट्रफ बना हुआ है। दक्षिणी महाराष्ट्र पर एक ऊपरी हवा का चक्रवात मौजूद है।

इन चार सिस्टम के असर से बंगाल की खाड़ी और अरब सागर से नमी मिल रही है। मौसम विज्ञानियों ने गुरुवार को रीवा, सागर संभाग के जिलों में कहीं-कहीं भारी बारिश के आसार जताए हैं।

इन जिलों जारी किया गया अलर्ट

मौसम विभाग ने आगामी 24 घंटों में रीवा एवं सागर संभागों के जिलों में अधिकांश स्थानों पर वर्षा या गरज चमक के साथ बौछारे पड़ सकती है। मौसम विभाग ने इसके साथ ही शहडोल, जबलपुर, इंदौर, उज्जैन, होशंगाबाद एवं भोपाल संभाग के जिलों में अनेक स्थानों पर वर्षा या गरज चमक के साथ बौछारे पड़ सकती है।

वहीं ग्वालियर एवं चंबल संभागों के जिलों में कहीं-कहीं वर्षा या गरज चंमक के साथ बौछारे पड़ सकती है। इसके अलावा रीवा संभाग के जिलों में तथा अनूपपुर, शहडोल, पन्ना एवं छतरपुर जिलों में कहीं-कहीं भारी वर्षा हो सकती है।

Weather forecast
Show More
Ashtha Awasthi
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned