scriptHoardings put on some area again and again | होर्डिंग हटाने पर शासन का जोर, लेकिन कुछ हिस्सों में कार्रवाई नहीं | Patrika News

होर्डिंग हटाने पर शासन का जोर, लेकिन कुछ हिस्सों में कार्रवाई नहीं

- जोन 13 के वार्ड 55 में कई स्थानों पर अभी तक लगे हैं होर्डिंग्स
- फ्लेक्स और होर्डिंग से पाट दी गईं कुछ सड़कें, हटाने का प्रयास नहीं

भोपाल

Updated: February 05, 2020 04:33:19 pm

भोपाल. अतिक्रमण के खिलाफ कार्रवाई करने में बीएमसी का अमला और स्टाइल इंदौर के नगर निगम से काफी पीछे है। पिछले कुछ दिनों ने इंदौर में जहां बड़े माफिया पर कार्रवाई कर अवैध निर्माण ध्वस्त किए गए, वहीं भोपाल में कार्रवाई के चंद दिन बाद कई कारोबार फिर से संचालित हैं।

hordings.jpg
,,

इसी तरह नगर निगम क्षेत्र में होर्डिंग भी लगाए जा रहे हैं। नगर निगम अमला होर्डिंग उतार ले जाता है और संबंधित लोग फिर से होर्डिंग लगा लेते हैं। इंदौर और भोपाल नगर निगम की कार्रवाई के तरीके में फर्क होने के कारण ऐसा हो रहा है कि इंदौर में जहां अतिक्रमण खत्म हो जाता है और भोपाल में दो दिन बाद फिर से कब्जा कर लिया जाता है।

उल्लेखनीय है कि दिसंबर 2019 में नगर निगम अमले ने पुलिस बल लेकर रातीबड़ थाना क्षेत्र में 32 डिग्री एनई, कंट्रीवाइड मीडोज, नेचर कॉटेज आदि रेस्टोरेंट्स ढहा दिए थे। चार दिन बाद ही ये सब संचालित होने लगे। अब अधिकारी भी इनपर हाथ डालने से और कुछ बोलने से कतराते हैं।

इन रेस्ट्रां लाउंज में पहले वाली गतिविधियां भी संचालित की जा रही हैं। इसी तरह शहर को होर्डिंग मुक्त करने के लिए अभियान तो चलाया गया, लेकिन अभी तक जोन 13 के वार्ड 55 में बाग मुगालिया एक्सटेंशन दशहरा मैदान और अरविंद विहार पेट्रोल पम्प के आगे बड़े-बड़े होर्डिंग लगे हुए हैं। स्थानीय नागरिकों का कहना है कि ये होर्डिंग बार-बार लगाए जा रहे हैं। ये होर्डिंग शहर की छवि तो खराब करते ही हैं, आवागमन में भी दिक्कत पैदा करते हैं।

इस तरह नहीं करते कार्रवाई
इंदौर नगर निगम अमला अतिक्रमण हटाते समय अपने साथ क्रशिंग मशीन रखता है, जिससे ठेल, गुमठी आदि जब्त कर वहीं पर क्रश कर स्क्रैप बना देता है। इससे उस ठेल या गुमठी से दोबारा अतिक्रमण की गुंजाइश ही नहीं रहती। इसी तरह होर्डिंग को हटाते समय एंगल काटकर पूरा ढांचा ही हटा दिया जाता है, जिससे दोबारा अतिक्रमण नहीं हो पाता। ऐसी व्यवस्था भोपाल नगर निगम अमले के पास नहीं है।


इंदौर की तर्ज पर अतिक्रमण करने वालों से निपटने के लिए क्रशिंग मशीन जैसे प्रयोग पर विचार चल रहा है।
- कमल सोलंकी, अपर आयुक्त, नगर निगम

दोबारा होर्डिंग लगाने वालों पर अधिकारियों से बात कर जल्द कार्रवाई की जाएगी।
- कमर साकिब, प्रभारी अतिक्रमण अधिकारी, नगर निगम

सबसे लोकप्रिय

शानदार खबरें

Newsletters

epatrikaGet the daily edition

Follow Us

epatrikaepatrikaepatrikaepatrikaepatrika

Download Partika Apps

epatrikaepatrika

Trending Stories

मौसम अलर्ट: जल्द दस्तक देगा मानसून, राजस्थान के 7 जिलों में होगी बारिशइन 4 राशियों के लोग होते हैं सबसे ज्यादा बुद्धिमान, देखें क्या आपकी राशि भी है इसमें शामिलस्कूलों में तीन दिन की छुट्टी, जानिये क्यों बंद रहेंगे स्कूल, जारी हो गया आदेश1 जुलाई से बदल जाएगा इंदौरी खान-पान का तरीका, जानिये क्यों हो रहा है ये बड़ा बदलावNumerology: इस मूलांक वालों के पास धन की नहीं होती कमी, स्वभाव से होते हैं थोड़े घमंडीबुध जल्द अपनी स्वराशि मिथुन में करेंगे प्रवेश, जानें किन राशि वालों का होगा भाग्योदयमोदी सरकार ने एलपीजी गैस सिलेण्डर पर दिया चुपके से तगड़ा झटकाजयपुर में रात 8 बजते ही घर में आ जाते है 40-50 सांप, कमरे में दुबक जाता है परिवार

बड़ी खबरें

Maharashtra Political Crisis: खतरे में MVA सरकार! समर्थन वापस लेने की तैयारी में शिंदे खेमा, राज्यपाल से जल्द करेंगे संपर्क?Maharashtra Political Crisis: एकनाथ शिंदे की याचिका पर SC ने डिप्टी स्पीकर, महाराष्ट्र पुलिस और केंद्र को भेजा नोटिस, 5 दिन के भीतर जवाब मांगाMaharashtra Political Crisis: सुप्रीम कोर्ट से शिंदे खेमे को मिली राहत, अब 12 जुलाई तक दे सकते है डिप्टी स्पीकर के अयोग्यता नोटिस का जवाब"BJP से डर रही", तीस्ता की गिरफ़्तारी पर पिनाराई विजयन ने कांग्रेस की चुप्पी पर साधा निशानाअंबानी परिवार की सुरक्षा को लेकर सुप्रीम कोर्ट कल करेगा सुनवाई, जानिए क्या है पूरा मामलासचिन पायलट बोले-गहलोत मेरे पितातुल्य, उनकी बातों को अदरवाइज नहीं लेताPunjab Budget 2022: 1 जुलाई से फ्री बिजली; यहां पढ़ें पंजाब सरकार के पहले बजट में क्या-क्या है खासमुकुल रॉय ने पश्चिम बंगाल विधानसभा के पब्लिक अकाउंट्स कमेटी के चैयरमैन पद से दिया इस्तीफा
Copyright © 2021 Patrika Group. All Rights Reserved.