Alert: स्कूलों ने भी बंद कर दिए जूम एप, आप भी तत्काल इसे हटा दें

साइबर सेल का अलर्ट, चंदा मांगने वाली वेबसाइट और मीटिंग वाले मोबाइल एप से सावधान...।

By: Manish Gite

Published: 18 Apr 2020, 05:00 PM IST

भोपाल। कोरोना संक्रमण काल में गरीब लोगों की सहायता के लिए चंदा मांगने वाली अनजान वेबसाइट के जाल में फंसकर लोग अपने खून पसीने की कमाई गंवा रहे हैं। पीएचक्यू साइबर शाखा ( Phq cyber branch ) ने इस मामले में प्रदेश की सभी इकाइयों को अलर्ट किया है कि इस मामले में जिला स्तर पर फर्जी व असली वेबसाइट की पहचान के लिए लोगों में जागरूकता का प्रचार-प्रसार किया जाए।

 

डीजीपी विवेक जौहरी ने साइबर फ्रांड मामलों की रोकथाम के लिए सभी पुलिस अधीक्षकों से एहतियात बरतने को कहा है। आम लोगों की सहायता के लिए साइबर शाखा ने निर्देश जारी किए हैं कि किसी भी चंदा मांगने वाली वेबसाइट पर आर्थिक लेन-देन नहीं किया जाए। सरकार की ओर से जारी हेल्पलाइन नंबरों पर वेबसाइट व बैंक खातों की पुष्टि कर लेने के बाद ही किसी प्रकार का लेनदेन किया जाए, जिससे धोखाधड़ी के मामलों की रोकथाम की जा सके।

 

ऐसे करें पहचान
साइबर विशेषज्ञों ने आम लोगो की सुविधा के लिए बताया है कि किसी भी वेबसाइट के नाम से पहले लिखे शुरुआती अक्षरों को ध्यान से पढ़ें। सुरक्षित और रजिस्टर्ड वेबसाइट एचटीटीपी (http) यानी हाइपर टेक्स्ट ट्रांसफर प्रोटोकॉल के बाद अपना नाम प्रदर्शित करती हैं। इसी प्रकार फर्जी वेबसाइट या असुरक्षित वेबसाइट में एचटीटीपी प्रोटोकॉल दिखाई नहीं देता है। इस तरह की वेबसाइट पर किसी भी प्रकार की ऑनलाइन व्यवहार करने से पहले दिए गए मोबाइल नंबरों पर फोन कर जांच कर लेना चाहिए।

 

जूम ऐप से ऑनलाइन मीटिंग और टीचिंग बंद
गृह मंत्रालय की एडवाइजरी के बाद स्कूल शिक्षा विभाग ने शुक्रवार से जूम ऐप का उपयोग रोक दिया। लॉकडाउन के दौरान प्रदेश में सैकड़ों निजी स्कूलों समेत शक्षा विभाग की ओर से ऑनलाइन टीचिंज में जूम ऐप का उपयोग किया जा रहा था। स्कूल शिक्षा विभाग की ओर से जूम ऐप से की जा रही ऑनलाइन मीटिंग रोकने के साथ ऑनलाइन टीचिंग में भी इसका प्रयोग बंद कर दिया है। कई निजी स्कूलों ने भ विद्यार्थियो को ऑनलाइन क्लासेज बंद करने के मैसेज भेज दिए हैं। गृह मंत्रालय ने गुरुवार को चेतावनी जारी की थी कि जूम ऐप का डाटा थर्ड पार्टी एक्सेस हो सकता है, इसके साथ ही साइबर अपराधी यहां से पर्सनल डाटा में भी सेंध लगा सकते हैं।

 

 

गृह मंत्रालय की एडवायजरी के बाद बंद की क्लासेस
भोपाल के सुभाष उत्कृष्ट विद्यालय के प्रिंसिपल सुधाकर पाराशर के मुताबिक गृह मंत्रालय की एडवायजरी के बाद जूम ऐप से ऑनलाइन क्लास बंद कर दी गई है। माइक्रोसॉफ्ट के टीम ऐप को ऑनलाइन क्लास के लिए अपनाया गया है।

Show More
Manish Gite
और पढ़े

MP/CG लाइव टीवी

हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned