Honeytrap case : जवान दिखने के लिए श्वेता ने कराई थी ये खास सर्जरी, कई चौंकाने वाले वीडियो फुटेज उजागर

Honeytrap case : जवान दिखने के लिए श्वेता ने कराई थी ये खास सर्जरी, कई चौंकाने वाले वीडियो फुटेज उजागर
Honeytrap case : जवान दिखने के लिए श्वेता ने कराई थी ये खास सर्जरी, कई चौंकाने वाले वीडियो फुटेज उजागर

Faiz Mubarak | Updated: 06 Oct 2019, 01:36:47 PM (IST) Bhopal, Bhopal, Madhya Pradesh, India

पुलिस ने उन नामों पर खास फोकस किया है, जिनसे ये युवतियां लगातार संपर्क में रहीं। जांच में ये भी सामने आया कि, इन्हीं में से एक हस्ती के साथ एक युवती ने कुछ दिनों पहले ही नेपाल यात्रा भी की थी, पुलिस अब नेपाल टूर का कारण और उसके स्पष्ट प्रमाण टटोलने में जुटी हुई है।

भोपाल/ मध्य प्रदेश के हाई प्रोफाइल हनीट्रैप केस में रोज़ाना नए और चौंकने वाले खुलासे हो रहे हैं। जैसे जैसे जांच आगे बढ़ रही है, पुलिस के सामने ऐसी ऐसी बातें सामने आ रही है, मानों कोई ड्रामा चल रहा हो। अब तक हुई पुलिसिया जांच में सामने आया कि, आरोपी आरती के घर से बेरियाट्रिक सर्जरी से संबंधित कुछ दस्तावेज मिले थे। ये सर्जरी मुख्य रूप से शरीर और खासकर टमी फैट घटाने के लिए की जाती है, ताकि, सुंदर, सुडौल और आकर्षक दिखा जा सके। इसके बाद ये भी सामने आया कि, श्वेता विजय जैन भी इसी तरह की सर्जरी इंदौर में करा चुकी हैं। वहां के एक निजी अस्पताल में श्वेता विजय के नाम से जून में 5 दिन एडमिट रहने की जानकारी भी मिली है। इस सर्जरी के एवज में उनके द्वारा करीब 1 लाख 90 हजार रुपए नकद राशि जमा भी की गई थी।

 

पढ़ें ये खास खबर- हनीट्रैप केस में सबसे बड़ी खबर, बरखा के पति ने खोले कई बड़े राज


फोन डिटेल में कई नामी हस्तियों के नंबर

फोन रिकॉर्ड के आधार पर भी पुलिस और एसआईटी की संयुक्त टीम ने हर आरोपी महिला की कॉल डिटेल निकल वाई है। पुलिस के पास हनी टैर्प से जुड़ी हर महिला की एक एक हज़ार पेज की कॉल डिटेल मौजूद है, जिसमें कई नामवर लोगों के मोबाइल नंबरों के रिकॉर्ड मौजूद हैं। पुलिस ने उन नामों पर खास फोकस किया है, जिनसे ये युवतियां लगातार संपर्क में रहीं। जांच में ये भी सामने आया कि, इन्हीं में से एक हस्ती के साथ एक युवती ने कुछ दिनों पहले ही नेपाल यात्रा भी की थी, पुलिस अब नेपाल टूर का कारण और उसके स्पष्ट प्रमाण टटोलने में जुटी हुई है।

 

पढ़ें ये खास खबर- हनीट्रेप कैस : जिसके नाम का मंगलसूत्र और सिंदूर लगाती है आरती, वो दयाल है किसी और का पति

सीसीटीवी से मिले प्रमाण

अब तक की जांच में ये बात तो सामने आ ही चुकी है कि, आरोपी युवतियां लगातार कई बड़े अफसरों और नेताओं के संपर्क में रही हैं। इसकी प्रमाणिकता के लिए एसआइटी ने साइबर टीम की मदद से उन अफसर-नेताओं के घरों और दफ्तरों में लगे सीसीटीवी कैमरों को खंगालना भी शुरु कर दिया है। अब तक खंगाले गए सीसीटीवी कैमराज में कुछ नेता और अधिकारियों को वीडियो फुटेज मिल भी गए हैं, जिसमें किसी न किसी महिला आरोपी की आवाजाही दर्ज की गई, लेकिन ये महिलाएं इन अफसर नेताओं के घरों या दफ्तरों में क्यों आई थी, इसकी जांच करने के लिए साइबर सेल मुस्तैदी से उस समय उस जगह पर मौजूद लोगों की कॉल डिटेल्स की पड़ताल कर रही है।

Honeytrap case : जवान दिखने के लिए श्वेता ने कराई थी ये खास सरजरी, कई चौंकाने वाले वीडियो फुटेज उजागर

...तो फंस जाएंगे साहब

पुलिस ने अब तक हुई कॉल डिटेल की जांच के आधार पर कुछ बड़ी हस्तियों को चिह्नित कर लिया है, जिनकी पूर्व में रही पोस्टिंग और जिम्मेदारी की डिटेल संबंधित विभाग से मांगी गई है। कॉल डिटेल से लगातार संपर्क स्थापित हो रहा है। सूत्रों की माने तो, अगर पुलिस को मिले सीसीटीवी फुटेज कॉल डिटेल और अन्य साक्ष्यों के आधार पर पूरी तरह प्रमाणित होते हैं, तो वो ही सबसे पुख्ता सबूत बन जाएगा।

 

पढ़ें ये खास खबर- आपको भी खाना खाते समय आता है पसीना ...तो हो जाएं सतर्क, जानिए कारण और इलाज

 

इस तरह हुआ था मामला उजागर

बता दें कि, इस पूरे मामले से पर्दा उस समय उठा जब नगर निगम के एक अधिकारी की शिकायत पर इंदौर के पलासिया पुलिस थाने में ब्लैकमेलिंग का मामला दर्ज किया था। फरियादी द्वारा आरोप लगाए गए कि, एक महिला उससे दोस्ती करने के बाद उसे ब्लैकमेल करने की कोशिश कर रही है। महिला ने कुछ रिकॉर्डिंग भी कर रखी थी, जिसके आधार पर वो शिकायतकर्ता से तीन करोड़ रुपये मांग रही थी। अधिकारी ने पुलिस को बताया था कि, उसपर दबाव बनाकर धमकी दी जा रही है कि, अगर मांगी गई रकम नही दी गई तो वीडियो वायरल कर देगी। मामले पर संज्ञान लेते हुए एसएसपी ने बताया था कि, पीड़ित की शिकायत पर पुलिस ने मामला दर्ज किया और जांच की, जिसमे शुरुआत में तीन करोड़ की रकम में से पहली किस्त के तौर पर 50 लाख रुपये लेने इंदौर आई एक युवती के साथ दो अन्य को एक महिला और एक पुरुष को हिरासत में लिया गया। साथ ही राजधानी भोपाल से तीन अन्य महिलाओं को गिरफ्तार किया गया। पुलिसिया जांच में सामने आया कि, महिला के साथ कई अन्य महिलाएं भी शामिल थी, जिन्होंने कई नेताओं, अफसरों, कारोबारियों और रसूखदारों को जाल में फंसाकर अपना शिकार बनाया है। पुलिस के सूत्रों की माने तो अब भी कई हैरान कर देने वाले खुलासे होना बाकि है।

Show More

MP/CG लाइव टीवी

खबरें और लेख पढ़ने का आपका अनुभव बेहतर हो और आप तक आपकी पसंद का कंटेंट पहुंचे , यह सुनिश्चित करने के लिए हम अपनी वेबसाइट में कूकीज (Cookies) का इस्तेमाल करते हैं। हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति (Privacy Policy ) और कूकीज नीति (Cookies Policy ) से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned