ऐसे साफ करें अपनी धमनियों के ब्लॉकेज! हार्ट की परेशानी को दूर करने के लिए अपनाएं ये घरेलू उपाय

ऐसे साफ करें अपनी धमनियों के ब्लॉकेज! हार्ट की परेशानी को दूर करने के लिए अपनाएं ये घरेलू उपाय

Deepesh Tiwari | Publish: Jun, 13 2019 07:13:29 AM (IST) | Updated: Jun, 13 2019 07:55:17 AM (IST) Bhopal, Bhopal, Madhya Pradesh, India

हृदय रोग के लगभग 80 प्रतिशत मामलों को...

भोपाल। जीवन शैली में आ रहे बदलाव व खानपान में अनियमितता सहित कई कारण आज हमारे शरीर में रोगों को बढ़ावा दे रहे हैं। इन्हीं में से एक समस्या है हार्ट अटैक या हार्ट से जुड़ी वे समस्याएं जिनके चले ह्दय में अत्यधिक दबाव के चलते कई बार मौत तक आ जाती है।

जानकारों के अनुसार जीवनशैली में बदलाव और चिकित्‍सा उपचारों में परिवर्तन से हार्ट अटैक की शुरुआत को इनकार नहीं किया जा सकता है। लेकिन हृदय रोग के लगभग 80 प्रतिशत मामलों को जीवन शैली में परिवर्तन करके रोका जा सकता है। ऐसी ही एक समस्या है रक्त वाहिकाओं में ब्लॉकेज का आना...

आयुर्वेद डॉ. राजकमार के अनुसार शरीर के विभिन्न हिस्सों की रक्त वाहिकाओं बंद होने के कारण कई प्रकार की स्‍वास्‍थ्‍य समस्‍याएं जैसे कोरोनरी धमनी रोग, मन्या धमनी रोग, परिधीय धमनी रोग और यहां तक कि दिल का दौरा या स्‍ट्रोक हो सकता है। इसलिए इसका समय पर निदान बहुत महत्‍वपूर्ण होता है।

heart attack

दरअसल हमारी आयु बढ़ने के साथ, शरीर के विभिन्न हिस्सों की रक्त वाहिकाओं भरने के कारण कई प्रकार की स्‍वास्‍थ्‍य समस्‍याएं जैसे कोरोनरी धमनी रोग, मन्या धमनी रोग, परिधीय धमनी रोग और यहां तक कि दिल का दौरा या स्‍ट्रोक पैदा हो सकती है।

बंद धमनियों का धीरे-धीरे और उत्तरोत्तर विकास होता है, इसलिए इसका समय पर निदान बहुत महत्‍वपूर्ण होता है। आधुनिक दवाएं और उपचारों के साथ ही घरेलू उपचार बिगड़ती हुई स्थिति को रोकने और गंभीर हृदय रोग के जोखिम को कम करने में आपकी मदद कर सकते हैं।

Signals of blood vessels Blockage

रक्त नलिकाओं में ब्लॉकेज के ये होते हैं लक्षण: Symptoms of Blockage in blood vessels...

हालांकि भरी हुई धमनियां में तब तक किसी भी प्रकार के लक्षण दिखाई नहीं देते, जब तक कि समस्‍या गंभीर नहीं हो जाती। इसके लक्षणों में सीने में दर्द (एनजाइना), सांस की तकलीफ, दिल की धड़कन तेज होना, कमजोरी, चक्कर आना, भूख, चिंता, मतली और पसीना आदि शामिल हैं।

विभिन्न प्रकारों में भरी हुई धमनियों से संबंधित अन्य लक्षणों में पैर में दर्द, पैरों का ठंडा होना, बॉडी की एक तरफ सून हो जाना, एक हाथ या एक पैर को उठना मुश्किल होना और एक आंख की रोशनी खोना शामिल है।

Good food for heart

ये हैं उपचार: Treatment of of blood vessels Blockage

आयुर्वेद के जानकारों के अनुसार रक्त धमनियों में आ रही रुकवटों के मामले में कई ऐसी चीजें हैं, जो इन्हें दूर करने में मदद करती हैं। और इन के लिए बहुत ज्यादा परेशान होने की भी जरूरत इसलिए नहीं होती, क्योंकि एक तो ये आसानी से बाजार में मिल जाती हैं, या अधिकांश घरों में किसी न किसी स्थिति में इनका प्रयोग भी होता है।

1. लहसुन : लहसुन बंद धमनियों साफ करने के लिए सबसे अच्‍छे उपचारों में से एक है। यह रक्‍त वाहिकाओं को चौड़ा करने और रक्त परिसंचरण में सुधार में मदद करता है।

2007 में बर्मिंघम में अलबामा यूनिवर्सिटी में किए गए एक अध्ययन के अनुसार, लहसुन रक्त वाहिकाओं को आराम पहुंचने में मदद करती है। इसके अलावा, लहसुन खराब कोलेस्ट्रॉल के स्तर को कम करने और दिल के दौरे या स्ट्रोक का खतरा कम करने में मदद करता है।

ये करें: समस्‍या होने पर तीन लहसुन की कली को काटकर एक कप दूध में मिलाकर उबाल लें। थोड़ा सा ठंडा होने पर इसे सोने से पहले पीयें। इसके अलावा, अपने आहार में लहुसन को शामिल करें।

healthy heart

2. हल्दी : हल्दी एक और ऐसा मसाला है जो बंद धमनियों के इलाज में मदद करने और आपके दिल को स्वस्थ और अधिक कार्य करने में मदद करता है।

करक्यूमिन, हल्‍दी का मुख्‍य घटक, में एंटी-ऑक्‍सीडेंट और एंटी इंफ्लेमेंटरी गुण ब्‍लड प्‍लेटलेट्स को थक्‍के बनने से रोकने में मदद करता है। इसके अलावा, हल्‍दी का अर्क कम घनत्व लिपो प्रोटीन (एलडीएल), या 'खराब कोलेस्ट्रॉल के स्तर को कम करने, धमनियों को बंद होने से रोकने में मदद करता है।

साथ ही यह रक्त वाहिकाओं को आराम पहुंचाकर दिल का दौरा या स्ट्रोक के खतरे को कम करने में मदद करता हैं। इसके लिए ए‍क गिलास गुनगुने दूध में एक चम्‍मच हल्‍दी पाउडर और थोड़ा सा शहद मिलाकर दिन में एक या दो बार सेवन करें। इसके अलावा अपने आहार में हल्‍दी पाउडर को शामिल करें।

 

3. लाल मिर्च : लाल मिर्च में मौजूद कैप्‍सेसिन नामक तत्‍व खराब कोलेस्ट्रॉल, या एलडीएल ऑक्सीकरण से बचाता है। यह रक्त में खराब कोलेस्ट्रॉल के स्तर को कम करता है, जो बंद धमनियों के मुख्य कारणों में से एक है।

इसके अलावा यह ब्‍लड सर्कुलेशन में सुधार करने और दिल के दौरे और स्‍ट्रोक का खतरा कम करने में मदद करता है। गर्म पानी के एक कम में आधा या एक चम्‍मच लाल मिर्च मिलाकर, कुछ हफ्तों के लिए इसे नियमित रूप से लें। इसके अलावा आप चिकित्‍सक की सलाह से लाल मिर्च के सप्‍लीमेंट भी ले सकते हैं।


4. अलसी के बीज : अलसी के बीज रक्तचाप और सूजन को कम करने में आपकी मदद करते हैं कि यह अल्फा-लिनोलेनिक एसिड (ALA) का सबसे अच्छे स्रोतों में से एक हैं।

यह बंद धमनियों को साफ रखने और समग्र दिल के स्वास्थ्य में सुधार करने में मदद करता है। इसके अलावा, अलसी में मौजूद बहुत अधिक मात्रा में फाइबर एलडीएल कोलेस्ट्रॉल को बांधकर बंद धमनियों को साफ करने में मदद करता है।

इसे इस्‍तेमाल करने के लिए आप एक चम्‍मच अलसी के बीज की नियमित रूप से पानी के साथ लें। इसके अलावा आप इसको जूस, सूप या स्‍मूदी में मिलाकर भी ले सकते हैं।

5. अनार : अनार में गुणकारी फाइटोकेमिकल्स होते हैं जो एंटीऑक्सीडेंट के रूप धमनियों की परत की किसी प्रकार की क्षति से रक्षा करते हैं।

2005 में नेशनल अकादमी ऑफ साइंस में छपे एक अध्ययन के अनुसार, एंटीऑक्सीडेंट युक्त अनार का रस शरीर में नाइट्रिक ऑक्साइड के उत्पादन को बढ़ाता है, जो धमनियों को खुला रखने तथा रक्त को ठीक प्रकार बहने में मदद करता है।

आप 1 ताजे अनार को नियमित रूप से खायें। इसके अलावा आप नियमित रूप से दिन में एक बार अनार का जूस भी पी सकते हैं।


6. नींबू : नींबू विटामिन सी से भरपूर ए‍क शक्तिशाली एंटीऑक्‍सीडेंट है, जो रक्तचाप में सुधार लाने और धमनियों की सूजन को कम करने में मदद करता है। इसके अलावा, नींबू ब्‍लड कोलेस्ट्रॉल के स्तर को कम करने और रक्त प्रवाह में ऑक्‍सीडेटिंव के नुकसान को रोककर धमनियों को साफ करता हैं।

इसके लिए आप गुनगुने पानी के एक गिलास में थोड़ा सा शहद, काली मिर्च पाउडर और एक नींबू का रस मिलाकर, कुछ हफ्तों के लिए दिन में एक या दो बार लें।

 

7. अदरक : अदरक धमनियों को साफ करने वाला एक और कारगर उपाय है। इसमें मौजूद गिंगरोल और शोगोल जैसे तत्‍व हृदय रोग में बहुत लाभकारी होते हैं।

इसके अलावा अदरक कुल कोलेस्ट्रॉल कम करने और एलडीएल के ऑक्सीकरण को अवरुद्ध करके मौजूदा प्‍लॉक को कम करने में मदद करता है। इसके लिए आप नियमित रूप से दिन में 2 से 3 कप अदरक की चाय लें। या अदरक का छोटा सा टुकड़ा नियमित रूप से खाली पेट लें।


8. मेथी के बीज : आप बंद धमनियों के इलाज के लिए मेथी के बीज का उपयोग कर सकते हैं। इन बीजों में मौजूद सैपोनिन धमनी को बंद करने वाले एलडीएल कोलेस्ट्रॉल के स्तर को कम करने में मदद करते हैं।

इसके अलावा, मेथी के बीज में फाइबर की उच्‍च मात्रा खराब कोलेस्‍ट्रॉल के स्तर को कम करने में महत्वपूर्ण भूमिका निभाता है। इसके लिए मेथी के बीज का एक चम्‍मच रात भर थोड़ से पानी में भिगोकर, सुबह खाली पेट पानी के साथ बीज को भी खा लें।

धमनियां बंद होने के ये भी हैं इशारे: Signals of blood vessels Blockage ...

A. गंजापन : सुनने में आपको शायद अजीब लगे, लेकिन गंजापन धमनियों के बंद होने का इशारा करती है। लगभग 37,000 लोगों पर हुए एक व्‍यापक अध्‍ययन के अनुसार, गंभीर गंजापन दृढ़ता किसी भी उम्र में मूक सीएचडी की उपस्थिति की भविष्‍यवाणी करता है। 7,000 से अधिक लोगों पर हुए एक अन्‍य अध्‍ययन के अनुसार, गंभीर गंजेपन से दोनों प्रकार के लिंगों में हृदय रोग से मरने का खतरा दोगुना हो जाता है।

 

B. पैरों में दर्द : चलते समय पैरों में दर्द होना भी धमनियों के बंद होने का संकेत देता है। एथेरोस्‍केलेरोसिस (arteriosclerotic vascular disease or ASVD) एक ऐसी समस्‍या है जो धमनियों के बंद होने से जुड़ी है और यह समस्‍या धूम्रपान करने वालों को अधिक होती है। इसके कारण ही पैरों की पिंडलियों में चलते वक्‍त दर्द होता है।

इसके निदान के लिए चिकित्‍सक पैरों की नसों की धड़कन की जांच करते हैं। यह कोई गंभीर समस्‍या नहीं है, एक या दो सप्‍ताह के उपचार के बाद इसका उपचार आसानी से हो सकता है।


C. कानों की समस्‍या : कान की निचली परत में सिकुडन भी धमनियों के अवरुद्ध होने के इशारे करता है। कान की निचली परत में सिकुड़न तब होती है जब रक्‍त का संचार ठीक तरह से नहीं होता, यह समस्‍या दिल से भी जुड़ी है।

यह बढ़ती उम्र से संबंधित समस्‍या भी मानी जाती है। कई शोधों में यह बात साबित हो चुकी है कांनों के सिकुड़ने के कारण दिल की समस्‍या भी होती है और ज्‍यादातर मामलों में यह समस्‍या धूम्रपान और बढ़ती उम्र से जुड़ी है।

ये हैं धमनियों को साफ करने वाले आहार! food which clear blood vessels Blockage...

जानकारों का मानना है कि धमनियों हमारे शरीर की पाइपलाइन प्रणाली हैं - वे हर कोशिका को रक्त से भरे ऑक्सीजन और पोषक तत्वों को पहुंचाती है। जिस तरह घर में पाइपलाइन के बंद होने से गंभीर समस्‍याएं आ जाती है, वैसे ही धमनियों के कठोर या बंद होने से शरीर के साथ होता है। लेकिन, सही भोजन का चयन करके आप असानी से धमनियों को बंद होने से बचा सकता है। यहां कुछ खाद्य पदार्थों की सूची दी गई है जो धमनियों को अवरूद्ध होने से रोकने में मदद कर सकते हैं।

1- कीवी और कैन्टलोप : यह दोनों एंटीऑक्‍सीडेंट युक्त फल रक्त में एलडीएल कोलेस्‍ट्रॉल ('खराब कोलेस्ट्रॉल') के स्‍तर को कम करने में मदद करते हैं। और धमनियों की दीवारों से प्‍लॉक को कम करने में मदद करते हैं। इसलिए कीवी और कैन्‍टलोप को अपने आहार में शामिल करें।

2- मछली : सामन, ट्यूना और हेरिंग यह सभी ओमेगा-3 फैटी एसिड से भरपूर होती है और अच्‍छे फैट का अच्‍छा स्रोत है। यह धमनियों को बंद होने से बचाती हैं। लेकिन फार्म सामन को खरीदने से बचें क्‍योंकि इसके मांस में आमतौर पर जहरीले केमिकल और कम ओमेगा-3 फैटी एसिड होता हैं।

3- सेब और पके फल : आपने भी सुना ही होगा कि कहा जाता है रोजाना एक सेब का सेवन डॉक्‍टर को दूर करने में मदद करता है। इन फलों में पाया जाने पेक्टिन (घुलनशील फाइबर) खराब कोलेस्‍ट्रॉल को कम करता है और इसमें मौजूद मिनरल पोटेशियम और मैग्‍नीशियम रक्तचाप को नियंत्रित करने में मदद करता है।


4- पालक : पालक विटामिन ए और सी से समृद्ध होता है, यह धमनियों को अवरूद्ध होने से रोकता है। प्रसिद्ध कार्टून पॉपऑय का पसंदीदा आहार पालक में पोटेशियम और फोलिक एसिड भी होता है जो रक्तचाप को कम करने में मदद करता है।

MP/CG लाइव टीवी

खबरें और लेख पढ़ने का आपका अनुभव बेहतर हो और आप तक आपकी पसंद का कंटेंट पहुंचे , यह सुनिश्चित करने के लिए हम अपनी वेबसाइट में कूकीज (Cookies) का इस्तेमाल करते हैं। हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति (Privacy Policy ) और कूकीज नीति (Cookies Policy ) से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned