99 प्रतिशत ब्लॉकेज को भी रिमूव कर देता है पीपल का पत्ता

99 प्रतिशत ब्लॉकेज को भी रिमूव कर देता है पीपल का पत्ता

Astha Awasthi

September, 2801:06 PM

Bhopal, Madhya Pradesh, India

भोपाल। इस बात को तो सभी जानते है कि हिन्दू धर्म में पीपल के पेड़ का बहुत ज्यादा धार्मिक महत्व होता है। हिन्दू धर्म के कई त्योहारों और परम्पराओं में पीपल के पेड़ की पूजा भी की जाती है। पूजा के साथ ही साथ इस पेड़ के पत्ते को प्रयोग कई बीमारियों को दूर करने के साथ-साथ आपकी स्किन को भी खूबसूरत बनाने के लिए भी किया जाता है। शहर के वैध आचार्य शिरोमणि त्रिपाठी बताते है कि पीपल में कई स्वास्थ्यवर्धक गुण होते हैं। यह पेड़ हमें 24 घंटे ऑक्सिजन देता है। पीपल के पत्तों का प्रयोग आयुर्वेद में कई दवाओं को बनाने में होता है। इसके अलावा दिल को कई प्रकार के रोगों से बचाने के लिए भी पीपल का पत्ते फायदेमंद होते हैं।

ब्लॉकेज को भी रिमूव करने के लिए करें ये काम

पीपल के 10 पत्तों को लेकर एक गिलास पानी में अच्छी तरह से उबालें लें। इस पानी को तब तक उबालें जब तक वह 1/3 शेष रह जाए। अब उसे ठंडा करके छान लें। साफ कपड़े से छान लें और उसे ठंडे स्थान पर रख दें, दवा तैयार। अब इस काढ़े की तीन खुराक बना लें। सुबह हर 3 घंटे के बाद लें। ऐसा करने से हृदय संबंधी रोगों का खतरा कम हो जाता है। हार्ट अटैक के बाद कुछ समय हो जाने के पश्चात लगातार पंद्रह दिन तक इसे लेने से हृदय पुनः स्वस्थ हो जाता है और फिर दिल का दौरा पड़ने की संभावना नहीं रहती। दिल के रोगी इस नुस्खे का एक बार प्रयोग अवश्य करें।

peepal ke patte ke fayde

दमा में भी होता है असरदार

आपको बता दें कि दमा रोगियों के लिए पीपल का पेड़ एक दवा का काम करता है। इसके प्रयोग के लिए पीपल के तने की छाल के अंदर के हिस्से को निकाल कर सुखा लें और इसके सूखने के बाद इसका बारीक चूर्ण बना लें और दमा से ग्रसित रोगी को यह चूर्ण पानी के साथ दें। थोड़े दिनों में दमा की बीमारी दूर हो जाएगी।

 

peepal ke patte ke fayde

जुकाम में असरदार

अगर मौसम बदलने के साथ आपको खांसी-जुकाम होने की समस्या है तो इस दूर करने के लिए आप पीपल के पत्तों का प्रयोग कर सकते है। इसके प्रयोग के लिए पीपल के 5 पत्तों को दूध के साथ अच्छी तरह से उबाल लें, अब इसमें चीनी डालकर सुबह-शाम पिएं। आपको जल्द ही आराम मिलेगा।

Ashtha Awasthi
और पढ़े

MP/CG लाइव टीवी

खबरें और लेख पढ़ने का आपका अनुभव बेहतर हो और आप तक आपकी पसंद का कंटेंट पहुंचे , यह सुनिश्चित करने के लिए हम अपनी वेबसाइट में कूकीज (Cookies) का इस्तेमाल करते हैं। हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति (Privacy Policy ) और कूकीज नीति (Cookies Policy ) से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned