इस तरह आंखें खोल देती हैं कई बीमारियों के राज़, यूं पहचाने संकेत

इस तरह आंखें खोल देती हैं कई बीमारियों के राज़, यूं पहचाने संकेत

भोपालः कहते हैं लोगों के मन की बात उनकी आंखें बयान कर देती हैं, यानी आंखें मन का दर्पण होती हैं। लेकिन क्या आपको पता हैं कि, आंखें नम ही नहीं सेहत का दर्पण भी कराती हैं। हेल्थ एक्सपर्ट्स के अनुसार आंखों के जरिये कई गंभीर बीमारियों के संकेतों का पता लगाया जा सकता है। इसीलिये कई बीमारियों का पता लगाने में आंखों की खास जांच की जाती है। राजधानी भोपाल के निजी अस्पताल के नेत्र चिकित्सक अंबर मेहतो के अनुसार, आंखों के जरिये व्यक्ति की कई बीमारियों के बारे में सांकेतिक रूप से पता लगाया जा सकता है। कई बीमारियों का स्पष्टीकरण आंखों द्वारा की गई जांच से ही किया जाता है। डॉ. मेहतो के अनुसार, रेटिना की जांच करके दिल की बीमारी, कैंसर, मधुमेह जैसी अन्य कई गंभीर बीमारियों के बारे में पता लगाया जा सकता है। आइये जानते हैं उन बीमारियों के बारे में...।

आंखों से मिलते हैं इन बीमारियों के संकेत

-ब्रेन ट्यूमर

कई केसेज में सामने आया है कि, ब्रेन ट्यूमर होने पर धुंधला दिखाई देने लगता है। ऐसी स्थिति में आंखों के रंग में बदलाव आ जाता है। इसके अलावा सिरदर्द, थकान, आलस्य आदि ब्रेन ट्यूमर के खास लक्षण होते हैं।


-पीलिया

आंखों में तीखा सा पीलापन और भूरापन आने का मतलब पीलिया की समस्या मानी जाती है। हालांकि अधिक मात्रा में वसायुक्‍त भोजन करने और फलों-सब्जियों का कम सेवन करने से भी आंखें पीली नजर आने लगती हैं। लेकिन भोजन के कारण हुए पीलेपन से देखने की क्षमता कम नहीं होती, ये सिर्फ पीलिया का ही लक्षण कहलाता है।


-दिल का दौरा

कुछ समय पहले डेनमार्क में हुए एक शोध के मुताबिक, जैनथेलास्माटा नाम से पहचाने जाने वाले पलकों पर धब्बे होने से 10 साल के भीतर दिल का दौरा पड़ने की आशंका ज्यादा होती है। रिसर्च में सामने आया कि, ये धब्बे शरीर में कोलेस्ट्रोल बढ़ जाने के कारण होते हैं जो मुलायम और बिना दर्द वाले होते हैं।


-कंजंक्टीवाइटिस

आंखों की रोशनी का हल्का होना, आंखों से पानी आना, पलकों का मोटा होना या बढ़ जाना, आंखों से लसलसा, पीला, चिकना पदार्थ आना आदि तकलीफें कंजंक्टीवीटा की सूजन के कारण हो सकती हैं। इस कारण कभी-कभी आंखों में लालिमा भी हो सकती है।


-थॉइरॉइड

आंखें सूजने के एक मतलब थॉइरॉइड के संकेत भी हो सकते हैं। आंखों की सूजन का अर्थ आमतौर पर यही होता है कि कोई चीज आंखों में तनाव पैदा कर रही है या आंखें किसी एलर्जी की शिकार हो गई हैं। हालांकि, कई बार ये लक्षण थॉइरॉइड के भी हो सकते हैं।


-हाईब्लडप्रेशर

ब्लडप्रेशर बढ़ जाने के कारण भी आंखों का रंग लाल पड़ जाता है। ऐसे में रक्त वाहिकाओं में फैलाव के कारण आंखों में सूजन हो जाती है। इसलिए लंबे समय तक आंखों की सूजन को नजरअंदान नहीं करना चाहिए, जल्दी ही चिकित्सकीय परामर्श लेना चाहिए।


-मोतियाबिंद

मोतियाबिंद एक ऐसी बीमारी है, जिसमें पीड़ित को दिखाई देना भी बंध हो जाता है। बीमारी की शुरुआत हल्का धुंधला दिखाई देने से होती है, जो बढ़ते बढ़ते अनेकों धुंधले धब्बों में बदल जाते है, ये धुंधले धब्बे मोतियाबिंद के लक्षण होते हैं।

 

-पक्षाघात

यदि आंखों की पलके लटक जाएं तो यह पक्षाघात का संकेत हो सकता है। साथ ही आवाज में लडखड़ाहट और ब्लड प्रेशर अचानक बढ़ जाने पर पैरालिसिस का खतरा बढ़ जाता है। ऐसे में खानपान पर विशेष ध्यान देना चाहिए और तुरंत जांच करानी चाहिए।


-पथरी

राजधानी भोपाल के एक होम्योपैथ चिकित्सक डॉ. नाजिम अली ने बताया कि, किडनी या पित्ते में पथरी के लक्षण भी आंख की पुतली में देखे जा सकते हैं। ये तरीका दोनो तरह की पथरी होने के संकेत देता है। आंखों की पुतली में एक काला धब्बा पथरी के बारे में जानकारी देता हैं।

Show More

MP/CG लाइव टीवी

खबरें और लेख पढ़ने का आपका अनुभव बेहतर हो और आप तक आपकी पसंद का कंटेंट पहुंचे , यह सुनिश्चित करने के लिए हम अपनी वेबसाइट में कूकीज (Cookies) का इस्तेमाल करते हैं। हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति (Privacy Policy ) और कूकीज नीति (Cookies Policy ) से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned