कोरोना संक्रमण पर मानव अधिकार आयोग ने जेल डीजीपी से मांगा जवाब

मध्यप्रदेश की जेलों में 300 बंदी कोराना संक्रमित

By: Hitendra Sharma

Updated: 05 May 2021, 08:25 AM IST

भोपाल. मध्यप्रदेश मानव अधिकार आयोग ने प्रदेश के जेल महानिदेशक से पूछा है कि जेल में संक्रमण के फैलने के बाद 300 कैदी इसकी चपेट में आ गए हैं। इसके साथ ही जेल में कोरोना टीकाकरण का ताजा स्थिति पर भी जवाब तलब किया है।

Must see: MP में कोरोना के ताजा आंकड़े

आयोग के अध्यक्ष न्यायमूर्ति नरेन्द्र कुमार जैन ने मानव अधिकार हनन से जुड़े मामलों में संज्ञान लेकर डीजी जेल से प्रतिवेदन मांगा है। दरअसल कोरोना संक्रमण की दूसरी लहर में जेलों में संक्रमण का खतरा बढ गया है। मध्यप्रदेश की जेलों में अभी तक 300 बंदी संक्रमित हुये हैं। जेल प्रशासन कोरोना की रोकथाम के लिये प्रयास कर रहा है, लेकिन क्षमता से अधिक बंदी होने के कारण संकट से बचने के उपाय आसान नहीं है। बंदियों की संख्या कम करने के लिये जेल प्रशासन द्वारा 4500 बंदियों को पैरोल पर छोडा गया है।

must see: जनप्रतिनिधियों के यहां से बांट रहे हैं रेमडेसिविर इंजेक्शन

कोरोना संक्रमण की दूसरी लहर के दौरान करीब 8000 नये बंदी जेल पहुंचे हैं। इससे बंदियों की संख्या कम नहीं हुई है और शारीरिक दूरी रखने जैसे उपाय करने में भारी दिक्कतें आ रही है। इस बीच जेलों में भी संक्रमण पहुंच चुका है। इस मामले में आयोग ने पुलिस महानिदेशक, जेल एवं सुधारात्मक सेवाएं, मध्यप्रदेश से 18 मई 2021 तक जवाब मांगा है। आयोग ने जेल महानिदेशक से यह भी पूछा है कि कितने कैदियों को पहला व दूसरा टीका लग चुका है ? यदि नहीं लगा है, तो क्यों, कारण बताएं ? यह भी बताएं कि कोरोना से बचने के लिये सभी जेलों में क्या व्यवस्थाएं की गई है ?

must see: डॉक्टर ही कर रहे नर्सो का काम

Hitendra Sharma
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned