मोबाइल से चिपके रहते हैं पति,रसोई या घर के कोई काम में नहीं कर रहे मदद

200 शिकायतें महिला आयोग तक पहुंची

By: Amit Mishra

Published: 28 May 2020, 08:51 AM IST

भोपाल। कोरोना कॉल में लॉक डाउन का असर महिलाओं की जिंदगी में भी पड़ रहा है। पिछले 2 माह की अवधि में गृहणियों की करीब 200 शिकायतें महिला आयोग तक पहुंची। लॉक डाउन के कारण सभी लोग घर में कैद हैं। कई लोग कंपनियों के वर्क फ्रॉम होम के निर्देश के बाद घर से काम कर रहे हैं। ऐसे में महिलाओं का आरोप है कि पति दिन भर फोन और लैपटॉप से ही चिपके रहते हैं। घर का कोई काम बोल दो तो नहीं करते उल्टा दुनिया भर की फरमाइश करते रहते हैं। अधिकांश महिलाओं ने पत्तियों के द्वारा जिम्मेदराना रवैये को लेकर आई है। ग्वालियर बुंदेलखंड ऐसी शिकायतें ज्यादा है।

पत्नियों को ये है पतियों से शिकायतें
1- ग्वालियर की गृहणी ने लिखा कि पति दिनभर मोबाइल कंप्यूटर से चिपके रहते हैं ना बात करते हैं ना बात सुनते हैं।

2- दतिया से एक कामकाजी महिला ने लिखा कि पति उनके साथ रसोई या घर के कोई काम में मदद नहीं कर रहे हैं।

3- टीकमगढ़ और छतरपुर की 25 से ज्यादा महिलाओं ने शराब ना मिलने से घर में मारपीट की घटनाओं की शिकायत की है।

4-कुछ महिलाओं ने लिखा कि पति वेतन कम मिलने से पत्नियों पर गुस्सा उतार रहे हैं।

5- मुरैना की कुछ महिलाओं ने कहा कि शादी का लंबा वक्त बीतने के बाद अब ससुराल वाले दहेज की मांग करने लगे हैं।

आयोग पर 10 हजार शिकायतों का बोझ
आयोग पर डेढ़ साल में 10 हजार से ज्यादा शिकायतों का बोझ आ गया है। कांग्रेस की सरकार के समय सवा साल तक महिला आयोग में अध्यक्ष और सदस्य के पद खाली रहे, जिससे शिकायतों की संख्या बढ़ती रही। कमलनाथ सरकार के गिरने के चंद रोज पहले आयोग की अध्यक्ष और सदस्यों की नियुक्ति की गई। नई सरकार में नियुक्ति कानूनी दांव पेच में उलझ गई। अब हाईकोर्ट ने नियुक्तियों पर स्टे दे दिया है।


200 शिकायतें आई हैं जिनमें घरेलू प्रताड़ना और पत्नियों के कामकाज में सहयोग न करने की शिकायतें भी हैं आयोग अब सुनवाई कर उचित कार्रवाई करेगा
संगीता शर्मा ,सदस्य राज्य महिला आयोग

Show More
Amit Mishra
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned