7 दिन रोज आए एक साथ, आठवें दिन बोले अब नहीं छोड़ेंगे हम साथ

7 दिन रोज आए एक साथ, आठवें दिन बोले अब नहीं छोड़ेंगे हम साथ

Pushpam Kumar | Publish: Sep, 03 2018 08:07:48 AM (IST) Bhopal, Madhya Pradesh, India

एसडीएम की पहल से पति-पत्नी में सुलह

भोपाल. तीन माह पहले शादी के बंधन में बंधे एक नवविवाहित जोड़े में विवाद इतना बढ़ गया कि एक दिन पति ने शराब के नशे में पत्नी को पीट दिया। आए दिन होने वाले विवाद और मारपीट से परेशान पत्नी ने डायल 100 में शिकायत कर दी। पुलिस ने पति को शांति भंग करने और पत्नी को पीटने के मामले में धारा 151 के तहत हुजूर एसडीएम राजकुमार खत्री की कोर्ट में पेश किया। एसडीएम ने दोनों पक्षों की सुनवाई की। इस दौरान पत्नी ने एसडीएम से कहा कि पति शराब पीता है और आए दिन मारपीट करता है। इन्हें जेल में डाल दो।

पति ने एसडीएम को जवाब दिया कि पत्नी छोटी-छोटी बातों को लेकर झगड़ा करती है। मेरे घर में एडजस्ट नहीं कर पा रही है। उल्टा मेरे खिलाफ मामला दर्ज करा दिया है। दोनों की बात सुनने के बाद एसडीएम ने कहा कि पति के जेल जाने के बाद परिवार का टूटना निश्चित है। परिवार न टूटे, इसलिए सात दिन की मोहलत देता हूं। जमानत के तौर पर दोनों को साथ रहना होगा और रोज साथ आना होगा। इसका फायदा भी हुआ। आठवें दिन पति-पत्नी ने एसडीएम से कहा- सर हम जिंदगीभर साथ रहेंगे अब कभी एक दूसरे को नहीं छोड़ेंगे।

 

यह है मामला

एसडीएम राजकुमार खत्री ने जब दोनों से बात की तो विवाद की मुख्य वजह सामने आने लगी। पत्नी ने बताया कि पति रोजाना शराब पीता है। शादी के तीन माह होने के बाद भी वह समय नहीं देता है। वो नए घर में एडजस्ट नहीं कर पा रही थी। बदला हुआ माहौल उसे रास नहीं आ रहा था। पत्नी पति के साथ रहना तो चाहती है, लेकिन पति की बिगड़ी हुई आदतों से परेशान है। इसलिए वो पति को जेल भेजने की मांग कर रही थी। एसडीएम खत्री ने दोनों को समस्या सुलझाने के लिए 7 दिन का समय दिया। उन्होंने कहा कि इस दौरान वे साथ आएंगे और साथ ही जाएंगे। इसके बाद तय होगा कि पति को जेल भेजना है या नहीं।

विवाद की वजह
एसडीएम राजकुमार खत्री ने जब दोनों से बात की तो विवाद की मुख्य वजह सामने आने लगी। पत्नी ने बताया कि पति रोजाना शराब पीता है। पत्नी नए घर में एडजस्ट नहीं कर पा रही थी। पत्नी पति के साथ रहना तो चाहती है, लेकिन पति की बिगड़ी आदतों से परेशान है। इसलिए उन्होंने सुलह का नया तरीका निकाला।

MP/CG लाइव टीवी

Ad Block is Banned