scriptI feel earthquake in building and my father got buried in front of me | भोपाल: ADG का दो मंजिला भवन गिरा, एक मजदूर की मौत- नया बंगला बनाने के लिए तोड़ी जा रही थी इमारत | Patrika News

भोपाल: ADG का दो मंजिला भवन गिरा, एक मजदूर की मौत- नया बंगला बनाने के लिए तोड़ी जा रही थी इमारत

लापरवाह ठेकेदार गिरफ्तार, शाहपुरा में मकान की छत गिरी, कमरे में काम कर रहे मजदूर की दबकर मौत, बेटा छत पर था इसलिए बच गया

प्रत्यक्षदर्शी और मृतक का पुत्र श्रमिक गुरुदयाल कहार बोला- 'बिल्डिंग में भूकंप जैसा झटका लगा, मैं नीचे गिरा और मेरे सामने पिताजी मलबे में दब गए'

भोपाल

Published: June 02, 2022 09:35:59 am

भोपाल। शाहपुरा कॉलोनी में एडीजी राजेश चावला की पुरानी दो मंजिली इमारत भरभरा कर गिर गई। इसमें दबकर श्रमिक रामविलास कहार (65) की मौत हो गई, जबकि गुरुदयाल, टिंकू और रूपा को चोटें आई हैं। जेसीबी से मलबा हटाने के दौरान मृतक रामविलास का पैर कटकर बाहर आ गया।

earthquack_in_bhopal.jpg

लापरवाही पर ठेकेदार कमल पटेल को पुलिस ने गिरफ्तार कर लिया है। मृतक के परिजनों को 4 लाख की सहायता राशि की स्वीकृति दी गई है। नया बंगला बनाने के लिए इसे तोड़ा जा रहा था। दरअसल, 1985 में बनी इस इमारत को हाल ही में एडीजी ने रिटायर्ड प्रोफेसर शैला सरतारकर से खरीदा था।

अव्यवस्थित तरीके से तोड़ रहे थे मकान
नया बंगला बनाने के लिए एडीजी ने ठेकेदार कमल सिंह पटेल को भवन तोडऩे का काम दिया था। इसे तोडऩे ठेकेदार ने श्रमिक गुरुदयाल कहार, रामविलास कहार, टिंकू व रूपा बाई को लगाया। अव्यवस्थित तरीके से तोडऩे के दौरान बुधवार शाम 5.25 बजे बिल्डिंग भरभरा गई और एक श्रमिक की मौत हो गई।

दोषी पर होगा केस: शाम 5.40 बजे से प्रशासन ने रेस्क्यू किया। दो घंटे के बाद शाम 7.40 बजे श्रमिक का शव निकाला जा सका। मौके पर कलेक्टर अविनाश लवानिया ने कहा, जांच की जा रही है।

ऐसे समझें पूरा मामला-
दरअसल शाहपुरा ए सेक्टर में बंगला नंबर 108 लगभग 36 साल पहले बनकर तैयार हुआ था। पिछले 4 दिन से मौके पर काम लगा हुआ था। ठेेकेदार ने बगैर कॉलम के खड़ी पुरानी बिङ्क्षल्डग को छत से तोडऩे की बजाय नीचे से तोडऩे का जोखिम भरा काम शुरू करवाया था। बुधवार शाम 5:00 बजे धूल और धूप से बचने के लिए ठेकेदार सामने बने गार्डन में पेड़ की छांव में खड़ा हुआ था।

निचले कमरे में रामविलास कहार कमरों की दीवार तोड़ रहा था जबकि उसका बेटा गुरुदयाल कहार छत पर बाउंड्रीवॉल तोडऩे का काम कर रहा था। प्रत्यक्षदर्शी एवं मृतक के पुत्र श्रमिक गुरुदयाल कहार ने बताया कि गिरने से पहले बिङ्क्षल्डग में जोरदार भूकंप जैसा झटका लगा तो वह बगल वाली बिङ्क्षल्डग की बाउंड्री पकड़ कर लटक गया।

थोड़ी ही देर में पूरा लेंटर नीचे गिरने लगा, उसकी पकड़ ढीली हो गई और वह लेंटर के साथ ही नीचे आकर धड़ाम से गिर गया। बाहर खड़े ठेकेदार और हादसे में बच कर सड़क पर घायल पड़े मजदूरों ने बताया कि उसके पिता रामविलास अंदर ही दबे रह गए हैं। वह बहुत देर तक चीखता चिल्लाता रहा लेकिन उसके पिता की आवाज नहीं आई। गुरु दयाल ने बताया कि थोड़ी ही देर में पुलिस और प्रशासन के अधिकारी मौके पर पहुंच गए लेकिन उसके पिता ने मलबे में दबकर दम तोड़ दिया। पुलिस ने आरोपी ठेकेदार को गिरफ्तार कर लिया है।

सात श्रमिक काम कर रहे थे
गुरुदयाल कहार ने बताया कि उसके पिता, उसका भाई ङ्क्षटकू एवं रूपा बाई नामक लेबर के अलावा कुल 7 लोग काम कर रहे थे। घटना के वक्त 4 श्रमिक गेट के बाहर खड़े हुए थे। रूपा और ङ्क्षटकू बाउंड्री वॉल के अंदर थे और उन्होंने दौड़ कर अपनी जान बचाई। छत पर रहने की वजह से उसकी जान बच गई लेकिन उसके पिता निचले कमरे में फंसकर रह गए। पूरी बिल्डिंग का मलबा उनके ऊपर गिर गया।

रिटायर्ड प्रोफेसर बैंगलुरु शिफ्ट
शाहपुरा ए सेक्टर के बंगला नंबर 108 में रहने वाली शैला सरतारकर सेवानिवृत्ति के बाद घर पर अकेली रहती थीं। उनके बच्चे बैंगलुरु में सेटल हो चुके हैं। पड़ोसियों ने बताया कि हाल ही में उन्होंने प्रॉपर्टी बेचकर बैंगलुरु शिफ्ट हो गई थीं।

पड़ोसियों के मकान पर मंडराया खतरा
बंगला नंबर 108 पूरी तरह जर्जर होकर नीचे गिरने के बाद अब पड़ोस में 109 नंबर एवं 110 नंबर के बंगले कि किनारे वाली दीवाल जर्जर हो गई है। इसमें रहने वाले परिवारों को खतरा है कि कहीं उनका मकान कंपन से नीचे ना गिर जाए। मौके पर अभी भी जेसीबी एवं बुलडोजर की सहायता से मलबा हटाने का काम चल रहा है जो आने वाले कुछ दिन जारी रहेगा।
पड़ोसियों ने जताई थी आपत्ति

ठेकेदार कमल सिंह पटेल द्वारा बेतरतीब तरीके से किए जा रहे तोडफ़ोड़ पर पड़ोसियों ने एतराज जताया था लेकिन उसने अनसुनी कर दी। पड़ोस में रहने वाले अशोक ग्वालानी ने बताया कि निचले हिस्से की तुड़ाई करने से ऊपर का हिस्सा लगातार कंपन की वजह से हिल रहा था। प्रत्यक्षदर्शी दिलीप पांडे ने बताया कि हादसे के दौरान ऊपर का लेंटर नीचे गिरना चालू हुआ जिसके वजन से नीचे की मंजिल टूटकर मलबे में बदल गई।
नगर निगम से नहीं ली थी अनुमति
शाहपुरा ए सेक्टर में नवनिर्माण के लिए की जा रही तोडफ़ोड़ की वजह से जो मकान गिरा है, उसकी निगम से कोई अनुमति नहीं ली गई थी। बावजूद इसके नगर निगम भवन मालिक पर कोई बड़ी कार्रवाई नहीं कर सकता। लिखार के अनुसार इस तरह के मामलों में सिर्फ नोटिस जारी होगा और पूछा जाएगा कि अनुमति है या नहीं। यदि नहीं तो क्यों नहीं ली। जो भी जवाब होगा, उससे भवन अनुज्ञा को संतुष्ट होना होगा।
यह है नियम
नगर निगम के चीफ सिटी प्लानर नीरज आनंद लिखार का कहना है कि बिल्डिंग परमिशन नियम के तहत पुराने मकान को गिराने के साथ ही नवनिर्माण की अनुमति का प्रावधान है। इसमें तय मानक के अनुसार ही तोडफ़ोड़ करने का प्रावधान है, ताकि कोई नुकसान न हो।
क्षेत्रीय इंजीनियर को करनी थी मॉनिटरिंग
भवन अनुज्ञा के क्षेत्रीय प्रभारी इंजीनियर महेश सिरोलिया की जिम्मेदारी थी कि बिना अनुमति हो रही इस तरह की तोडफ़ोड़ पर नजर रखें। भवन अनुज्ञा कार्यालय के पास ही ये निर्माण हो रहा था, लेकिन एक बार भी नोटिस देकर पूछताछ नहीं की गई। स्थिति ये है कि पौने छह बजे भवन गिरा, लेकिन रात दस बजे तक निगम के अफसरों को इसकी अनुज्ञा को लेकर सिरोहिया स्पष्ट जानकारी नहीं दे पाए।
बिना अनुमति हो रहे निर्माण
अरेरा कॉलोनी से लेकर शाहपुरा, चूनाभट्टी में बिना अनुमति धड़ल्ले से निर्माण हो रहे हैं, लेकिन नोटिस तक जारी नहीं किए जा रहे। अवैधतौर पर मकान बनाकर मकान मालिक कोर्ट में मामला दाखिल कर देता है। भवन अनुज्ञा कोई रिस्पांस नहीं करती और वह निर्माण अघोषिततौर पर सहीं साबित कर दिया जाता है।

सबसे लोकप्रिय

शानदार खबरें

Newsletters

epatrikaGet the daily edition

Follow Us

epatrikaepatrikaepatrikaepatrikaepatrika

Download Partika Apps

epatrikaepatrika

Trending Stories

Monsoon Alert : राजस्थान में 26 से फिर होगी झमाझम बारिश, यहां बरसेगी मेहरबुध ने रोहिणी नक्षत्र में किया प्रवेश, 4 राशि वालों के लिए धन और उन्नति मिलने के बने योगबुध जल्द अपनी स्वराशि मिथुन में करेंगे प्रवेश, जानें किन राशि वालों का होगा भाग्योदयपनीर, चिकन और मटन से भी महंगी बिक रही प्रोटीन से भरपूर ये सब्जी, बढ़ाती है इम्यूनिटीबेहद शार्प माइंड के होते हैं इन राशियों के बच्चे, सीखने की होती है अद्भुत क्षमतानोएडा में पूर्व IPS के घर इनकम टैक्स की छापेमारी, बेसमेंट में मिले 600 लॉकर से इतनी रकम बरामदझगड़ते हुए नहर पर पहुंचा परिवार, पहले पिता और उसके बाद बेटा नहर में कूदा3 हजार करोड़ रुपए से जबलपुर बनेगा महानगर, ये हो रही तैयारी

बड़ी खबरें

Maharashtra Political Crisis: उद्धव ठाकरे ने शिंदे खेमे को फटकारा, बोले- मेरे गर्दन और सिर में दर्द था, मैं अपनी आंखें नहीं खोल पा रहा था...Maharashtra Politics: बीजेपी नेता ने राज्यपाल को लिखा पत्र, कहा- उद्धव सरकार 2 दिन से अंधाधुंध ले रही फैसले, डिप्टी CM ने दिया जवाबMaharashtra Political Crisis: नासिक में एकनाथ शिंदे का भारी विरोध, शिवसैनिकों ने पोस्टर पर कालिख पोती, शिंदे ने टाला मुंबई आने का प्लानG7 Summit 2022: पीएम मोदी कल जी7 शिखर सम्मेलन में हिस्सा लेने जर्मनी जाएंगे, जानिए किन मुद्दों पर होगी चर्चाखुशखबर, यूपी में मिले लुप्तप्राय दुर्लभ प्रजाति के राज गिद्धMumbai News Live Updates: अजीत पवार बोले- MVA के पास अभी भी बहुमत, उद्धव ठाकरे से मिलने शाम 6.30 बजे मातोश्री जाएंगे एनसीपी नेताPresidential Election: NDA प्रत्याशी द्रौपदी मुर्मू ने सोनिया गांधी, ममता बनर्जी व शरद पवार से की बात, सपा का यशवंत सिन्हा को सर्मथन का ऐलानगुजरात दंगाः जाकिया जाफरी को सुप्रीम कोर्ट से बड़ा झटका, SIT की क्लीन चिट के खिलाफ याचिका खारिज
Copyright © 2021 Patrika Group. All Rights Reserved.