IITTM: देश भर के टोल बैरियर कर्मियों को पढ़ाएगा विनम्रता का पाठ

IITTM: देश भर के टोल बैरियर कर्मियों को पढ़ाएगा विनम्रता का पाठ

Deepesh Tiwari | Publish: Jan, 14 2018 10:20:04 AM (IST) Bhopal, Madhya Pradesh, India

एनएचएआई ने किया अनुबंध, टोल प्लाजा पर जाकर दी जाएगी ट्रेनिंग,जयपुर-दिल्ली हाईवे से हो सकती है शुरूआत...

आलोक पांडया@भोपाल

नेशनल हाईवे के टोल प्लाजा पर तैनात कर्मचारी अगर आप से अदब से बात करे, सम्मान के साथ आपसे पैसा ले और अपने विनम्र व्यवहार से आप का दिल जीत ले तो कहने ही क्या। अगर एेसा हो जाए तो टोल बैरियर पर होने वाली मारपीट की घटनाओं में तेजी से कमी आ जाए।

जी हां, जल्द एेसा होने वाला है। नेशनल हाईवे अथॉरिटी ऑफ इंडिया देश भर के टोल प्लाजा कर्मचारियों को व्यवहार कुशल बनने की ट्रेनिंग देने जा रहा है। इस ट्रेनिंग का जिम्मा इंडियन इंस्टीट्यूट आफ टूरिज्म एंड टे्रवल मैनेजमेंट आईआईटीएम को दिया गया है।

 

देश भर में एेसी घटनाएं सामने आती है जब नेशनल हाईवे के टोल बैरियर पर यात्रियों और बैरियर के कर्मचारियों के बीच विवाद हो जाता है। कई बार मारपीट की घटनाएं भी सामने आती है। इनमें से अधिकांश घटनाओं के पीछे कारण यही निकल कर आता है कि टोल बैरियर पर तैनात कर्मचारी का व्यवहार ठीक नहीं था और इसके चलते हालात मारपीट तक जा पहुंचे।

 

एनएचएआई ने अब टोल बैरियर कॢमयों को विनम्रता का पाठ पढ़ाने के लिए आईआईटीटीएम के साथ करार किया है। आईआईटीटीएम की टीमें देश में भर में नेशनल हाइवे पर ही बने एनएचएआई के दफ्तरों में टोल प्लाजा कॢमयों को दो दिन का प्रशिक्षण देगी।

एक बैच में बीस से पच्चीस टोल कर्मियां को प्रशिक्षण दिया जाएगा। आईआईटीटीएम के दो विशेषज्ञ एक टीम में शामिल रहेंगे। एनएचएआई ने देश भर के टोल प्लाजा पर काम करने वाले तकरीबन ११ हजार कर्मचारियांे को ट्रेनिंग देने का जिम्मा आईआईटीटीएम को सौंपा है। पहला ट्रेनिंग प्रोग्राम जयपुर-दिल्ली नेशनल हाईवे पर शुरू करने का प्रस्ताव है। जो कि २६ से २८ जनवरी के बीच किया जा सकता है।

 

अनूठे प्रशिक्षणों के लिए पहचाना जाता है आईआईटीटीएम

आईआईटीटीएम देश का पहला संस्थान है जो यात्रा एवं पर्यटन से जुड़े मामलों मंे ट्रेनिंग कोर्स चलाता है। इसमें गाइड ट्रेनिंग से लेकर ट्रेवल्स आपॅरेशन तक के कोर्सेस हैं। इसका मुख्यालय ग्वायिलर में स्थित है तो वहीं भुवनेश्वर, नोयडा, गोवा और में इसके ट्रेनिंग सेंटर स्थित है।

हाल ही में आईआईटीटीएम पुजारियों और खादिमों के प्रशिक्षण को लेकर भी चर्चा में आया था।आईआईटीटीएम पुजारियों-खादिमों को प्रशिक्षण देने जा रहा है कि वे किस तरह से देशी विदेशी पर्यटकांे का उनकी ही भाषा मंे स्वागत करंे और उन्हे अपनी धाॢमक विरासत के बारे में बताए।

 

एनएचएआई ने हमसे टोल बैरियर कर्मचारियों को प्रशिक्षित करने का जिम्मा सौंपा है। टोल प्लाजा पर टोल टिकट काटने वालों से लेकर वहां से सिक्युरिटी गार्ड तक को हम प्रशिक्षण देने जा रहे हैं। इस प्रशिक्षण में यह सिखाया जाएगा कि किस तरह का व्यवहार टोल प्लाजा पर पहुंचने वाले यात्रियों के साथ किया जाए। प्रशिक्षण में व्यवहार के साथ ही क्रास कल्चर कम्युनिकेशन, स्ट्रेस मैनेजमंेट, इंटर पर्सनल कम्यूनिकेशन भी सिखाया जाएगा।
- संदीप कुलश्रेष्ठ, डायरेक्टर, आईआईटीटीएम ग्वालियर

 

लेकिन माननीयों के व्यवहार में कैसे होगा सुधार(पत्रिका व्यू)
अक्सर देखा जाता है कि नेता अपने वाहन को मुफ्त में ले जाना चाहते हैं और इसी के चलते टोल प्लाजा पर विवाद या मारपीट की घटनाएं होती हैं। इन घटनाओं में अक्सर विवाद का कारण नेताओं का व्यवहार भी होता है। उधर स्थानीय दबंग भी टोलबैरियर पर अपना रूतबा जमाकार गाड़ी निकालने की जुगाड़ में रहते हैं। एनएचएआई अपने बैरियर पर तैनात कर्मचारियों को तो विनम्र व्यवहार सिखा रहा है। लेकिन नेताओं और स्थानीय दबंगों के व्यवहार को कैसे सुधारा जाएगा ?

 

MP/CG लाइव टीवी

Ad Block is Banned