वैसे तो लिकर मना है, लेकिन आपके लिए कर देंगे...

- शहर में अवैध रूप से चल रहे हुक्का लाउंज, प्रशासन सब जानते हुए भी करता रहता अनदेखी

भोपाल. प्रशासन की कार्रवाई का असर हुक्का लाउंज संचालकों पर दिखाई नहीं दे रहा है। कार्रवाई के नाम पर खानापूर्ति के बाद हुक्का लाउंज फिर से उसी तरह चलने लगते हैं। इतना ही नहीं, इस बिजनेस में युवाओं को खोखला किया जा रहा है। फ्लेवर्ड हुक्का के नाम पर नई पीढ़ी को नशे का आदी बनाया जा रहा है। इस कारोबार में इतना मुनाफा है कि गली-कूचों में बिल्डिंग्स की छतों पर हुक्का लाउंज संचालित किए जा रहे हैं। छतों पर बिना परमीशन हुक्का चलाए जा रहे हैं। इनमें नियमों की धज्जियां उड़ाई जा रही हैं। रूफ टॉप हुक्का लाउंज में तेज आंधी-पानी में हादसे का डर रहता है। नशे में कोई व्यक्ति गिरकर भी मर सकता है। प्रतिबंधित होने के बावजूद शराब आदि परोसी जाती है। इस बात का खुलासा पत्रिका एक्सपोज के स्टिंग में हुआ।

संवाददाता ने एमपी नगर स्थित एलपीके और दानिश कुंज, कोलार रोड स्थित फ्रेस्का बिस्ट्रो लाउंज का हाल देखा। दोनों रूफ-टॉप हुक्का लाउंज का संचालन करते हैं। एलपीके में सभी आयु वर्ग के लोग हुक्का खींच रहे थे। कम उम्र के युवा फिल्मी स्टाइल में धुएं के छल्ले बना रहे थे। यहां पर जनवरी मध्य में प्रशासन ने कार्रवाई की थी। इसके बाद यहां फिर से वही हालात हैं। इसके बाद संवाददाता को कोलार रोड क्षेत्र की दानिश कुंज कॉलोनी में फ्रेस्का बिस्ट्रो लाउंज संचालन की सूत्र ने बात बताई। वहां पर संवाददाता पहुंचा तो बिल्डिंग के बार कई गाडिय़ां खड़ी थीं। साइड से जीना खुला था। पहली मंजिल पर बने हॉल में कोयला सुलग रहा था। कुछ सामान भी बिखरा था। दूसरी मंजिल पर दो अलग-अलग टेबल पर गु्रप बनाकर युवक हुक्का खींच रहे थे। संवाददाता ने पार्टी आयोजित करने की बात की। संचालक के कर्मचारी ने रूफ टॉप पर बनी व्यवस्था भी ले जाकर दिखाई। इसके बाद पार्टी करने की पूरी बात तय हुई। हुक्का के साथ शराब परोसने के लिए भी संचालक तैयार हो गया और उसने यह भी कहा कि पार्टी के समय रूफ टॉप पर किसी को भी नहीं जाने देगा।

सीधी बात हुक्का संचालक से:
संवाददाता: पार्टी करनी है, व्यवस्था हो जाएगी?
हुक्का संचालक: हां, जगह देख लो। रूफ-टॉप भी है। (इसके बाद हुक्का लाउंज कर्मचारी ने छत पर ले जाकर रूफ टॉप पर कई गई व्यवस्थाएं दिखाईं। फिर नीचे सेकेंड फ्लोर पर बैठकर बात की, जहां दो टेबल पर हुक्का चल रहे थे।)
संवाददाता: 10-12 लोग रहेंगे। स्टार्टर और मेन कोर्स में क्या रहेगा?
हुक्का संचालक: वेज में तंदूरी प्लेटर 249 रुपए प्रति प्लेट में बेस्ट रहेगा। नॉन-वेज में चिकन टिक्का ले सकते हैं। (हुक्का संचालक ने वेज का प्रिंटेड मीनू और नॉन-वेज का मौखिक बताया।)
संवाददाता: मटन रोस्टेड मिलेगा, मटन के शौकीन लोग अधिक हैं?
हुक्का संचालक: नहीं मटन तो नहीं हो पाएगा। चिकन के आइटम मिल जाएंगे।
संवाददाता: लिकर की व्यवस्था हो जाएगी?
हुक्का संचालक: वैसे तो लिकर की मना करते हैं, लेकिन आपके लिए कर देंगे।
संवाददाता: रूफ टॉप का किराया क्या होगा, खाने के अलावा?
हुक्का संचालक: वैसे तो 1500 रुपए लेते हैं, लेकिन आपके लिए 1000 रुपए लगेंगे।
संवाददाता: कितनी देर तक रूफ टॉप यूज कर सकेंगे, रात में देर तक चाहिए?
हुक्का संचालक: तीन घंटे तक, देर होगी तो एडजस्ट कर लेंगे।


डिस्ट्रिक एडमिनिस्ट्रेशन के साथ हुक्का लाउंज के खिलाफ कार्रवाई चल रही थी। जिनकी अभी सूचना मिली है, उनको चेक करवा लेता हूं।
- डीके नागेन्द्र, ज्वाइंट कंट्रोलर, एफडीए

दिनेश भदौरिया
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned