scriptIMD Weather Update on Latest Rainy Season in hindi | Rainy Season 2022- सितंबर 2022 के दूसरे सप्ताह के बाद तक जारी रह सकता बारिश का दौर | Patrika News

Rainy Season 2022- सितंबर 2022 के दूसरे सप्ताह के बाद तक जारी रह सकता बारिश का दौर

locationभोपालPublished: Aug 27, 2022 11:07:46 am

- मौसम विज्ञानियों के अनुसार 30 सितंबर तक माना जाता है मानसून का सीजन
- खेतों में खिल गए कांस के फूल पर अभी बूढ़ी नहीं हुई बारिश
- इस सीजन में अब तक 67.48 इंच और अगस्त में 30.6 इंच हो चुकी बरसात
- 27 अगस्त के बाद फिर हो सकती है जोरदार बरसात
- अभी हल्की और मध्यम वर्षा का चल रहा है दौर
- अब तक सामान्य औसत से दोगुनी बारिश

bhopal_city.png
,,

भोपाल@प्रवीण सावरकर

शहर में पिछले कुछ घंटाें में छिटपुट बारिश हुई। वहीं खेतों में कांस के सफेद फूल खिले हुए दिखने शुरू हो गए हैं। ऐसे में आमजन यह कहने लगे हैं कि संभवत: अब बारिश बूढ़ी हो चली है। अब बारिश थम जाएगी।

लेकिन, मौसम वैज्ञानिक ऐसा नहीं मान रहे। उनके मुताबिक बारिश का दौर अभी खत्म नहीं हुआ है। सिस्टम और सक्रिय होगा। 27 अगस्त के बाद एक बार फिर जोरदार बरसात का दौर शुरू हो सकता है। इस तरह सितंबर माह तक बारिश की गतिविधियां जारी रहेंगी।

राजधानी में इस बार मानसून की दस्तक 18 जून को हुई थी। जून में कम पानी गिरा। 1 जुलाई के बाद से बारिश का क्रम तेज हुआ। और जुलाई-अगस्त माह में कोटे से दोगुनी बारिश हो गई।

आगामी दिनाें में माैसम-
आज अनेक स्थानों पर रीवा, शहडोल, जबलपुर , सागर, च्ंबल एवं ग्वालियर संभागों के जिलों में जबकि इंदौर , नर्मदापुरम ,भोपाल और उज्जैन संभागों के जिलों में कुछ स्थानो पर वर्षा या गरज चमक के साथ बौछार पद सकती हैं ।
इसके अलावा माैसम के जानकाराें के अनुसार अागामी 31 अगस्त तक कुछ जगह बारिश अत्यधिक तेज ताे कहीं हल्की रफ्तार में बनी रहेगी।

मानसूनी कोटे के मुकाबले 25 इंच ज्यादा बारिश: शहर में 1 जून से 30 सितंबर तक कुल मानसूनी बारिश का कोटा 42.04 इंच का है। शहर में अब तक 67.48 इंच बारिश हो चुकी है। इस तरह 25 इंच ज्यादा बारिश हुई है। अगस्त माह में भी कोटे से दोगुनी बरसात हो चुकी है।

पिछले दस सालों में भोपाल में बारिश की स्थिति-
वर्ष - बारिश इंच में
2012 - 45.24
2013 - 50.52
2014 - 29
2015 - 39.92
2016 - 39.92
2017 - 31.24
2018 - 32.24
2019 - 70.62
2020 - 53.8
2021 - 37.6
2022 अब तक 67.48

kanse_ke_phool.png

रामचरित मानस में लिखा है -
तुलसीदास कृत रामचरित मानस में लिखा है- फूले कांस सकल महि छाई, जिमि वर्षा रितु प्रगट बुढ़ाई। इसका मतलब ही यही है कि कांस में फूल आ गए तो बरसात खत्म हो गई।

खेतों और सड़कों के किनारे लंबी घास में रुई जैसे फूल अब दिखने लगे हैं। चौपाई के अनुसार ये फूल बताते हैं कि अब बारिश नहीं होगी।

सितंबर के दूसरे सप्ताह तक बारिश: मौसम वैज्ञानिक (रेडार) डॉ. वेदप्रकाश सिंह के अनुसार परिस्थितियां जिस हिसाब से बन रही हैं, उसके अनुसार बारिश का दौर सितंबर के दूसरे सप्ताह के बाद तक जारी रह सकता है। इस समय झारखंड के ऊपर चक्रवातीय परिसंचरण सक्रिय है। 27 अगस्त के बाद मध्यम और तेज बारिश हो सकती है।

सम्बधित खबरे

सबसे लोकप्रिय

Newsletters

epatrikaGet the daily edition

Follow Us

epatrikaepatrikaepatrikaepatrikaepatrika

Download Partika Apps

epatrikaepatrika

Trending Stories

Weather Update: राजस्थान में बारिश को लेकर मौसम विभाग का आया लेटेस्ट अपडेट, पढ़ें खबरTata Blackbird मचाएगी बाजार में धूम! एडवांस फीचर्स के चलते Creta को मिलेगी बड़ी टक्करजयपुर के करीब गांव में सात दिन से सो भी नहीं पा रहे ग्रामीण, रात भर जागकर दे रहे पहरासातवीं के छात्रों ने चिट्ठी में लिखा अपना दुःख, प्रिंसिपल से कहा लड़कियां class में करती हैं ऐसी हरकतेंनए रंग में पेश हुई Maruti की ये 28Km माइलेज़ देने वाली SUV, अगले महीने भारत में होगी लॉन्चGanesh Chaturthi 2022: गणेश चतुर्थी पर गणपति जी की मूर्ति स्थापना का सबसे शुभ मुहूर्त यहां देखेंJaipur में सनकी आशिक ने कर दी बड़ी वारदात, लड़की थाने पहुंची और सुनाई हैरान करने वाली कहानीOptical Illusion: उल्लुओं के बीच में छुपी है एक बिल्ली, आपकी नजर है तेज तो 20 सेकंड में ढूंढकर दिखाये

बड़ी खबरें

गुजरात चुनाव LIVE: पहले चरण के मतदान के छह घंटे पूरे, दोपहर 1 बजे तक 34.48 % वोटिंग'कांग्रेस वल्लभ भाई पटेल व अंबेडकर का करती है विरोध', गुजरात में बोले योगी आदित्यनाथदिल्ली में तीन नहीं बिकेगी शराब, बैचेन हुए शराबीमुंबई में कोरियन महिला यूट्यूबर से छेड़छाड़, वीडियो वायरल होने के बाद 2 गिरफ्तारकेएल राहुल छिपा रहे थे अथिया से शादी की तारीख, बीसीसीआई के अधिकारी ने खोल दिया राजगुजरात चुनावः खरगे के रावण वाले बयान पर बोले PM मोदी- जितना कीचड़ उछालोगे उतना कमल खिलेगागुजरात में वोटिंग से बीच बड़ा बवाल, BJP प्रत्याशी पर जानलेवा हमला, कांग्रेस पर आरोपएलएसी के पास चीन बना रहा एक और सैन्य चौकी, अमेरिकी सांसद ने खोली पोल
Copyright © 2021 Patrika Group. All Rights Reserved.