जांच में हुआ खुलासा: सामान्य मरीजों के साथ कोरोना पीड़ितों का इलाज करने के कारण बढ़ रहा संक्रमण

हमीदिया अस्पताल में आखिर डॉक्टर और स्टाफ क्यों हो रहे हैं संक्रमित: अस्पताल में 35 कोरोना पॉजीटिव सामने आ चुके हैं, वहीं 150 से ज्यादा डॉक्टर और स्टाफ क्वारंटीन में हैं।

By: योगेंद्र Sen

Published: 28 May 2020, 07:46 PM IST

भोपाल. हमीदिया अस्पताल में संक्रमण लगतार बढ़ता ही जा रहा है। अस्पताल में नर्सिंग स्टाफ से लेकर जूनियर डॉक्टर और एसआर तक संक्रमित हो रहे हैं। स्थिति यह है अस्पताल में 35 कोरोना पॉजीटिव सामने आ चुके हैं, वहीं 150 से ज्यादा डॉक्टर और स्टाफ क्वारंटीन में हैं। अस्पताल में लगातार कोरोना पॉजीटिव मरीजों की बढ़ती संख्या को देखते हुए इसकी जांच की गई। जांच रिपोर्ट में चौंकाने वाले परिणाम सामने आए हैं। हमीदिया अस्पताल में कोरोना के साथ सामान्य मरीजों के इलाज के चलते ही संक्रमण बढ़ रहा है। दरअसल, हमीदिया अस्पताल में कोरोना केयर सेंटर के अलावा सामान्य मरीजों के लिए भी ओपीडी चालू है। कोरोना वार्ड में संक्रमण से बचने के लिए पूरी व्यवस्था की जाती है। लेकिन ओपीडी में संक्रमण रोकने के लिए उतने कारगर उपाय नहीं है। यही कारण है कि डॉक्टर और स्टाफ संक्रमित हो रहा है।

दूसरी बार संक्रमित
स्थिति की भयावता को ऐसे मसझा जा सकता है कि हमीदिया अस्पताल के डॉक्टर और स्टाफ दोबारा संक्रमण की चपेट में आ रहे हैं। विशेषज्ञों का कहना है कि दोबारा संक्रमित होने का अर्थ है उस जगह पर संक्रमण की दर बहुत ज्यादा हो। यह करना चाहिए था विभाग को विशेषज्ञों का मत है कि हमीदिया अस्पताल को सिर्फ सामान्य मरीजों के लिए रहने दिया जाता। अगर अस्पताल को कोरोना केयर सेंटर बनाया गया है तो सामान्य मरीजों के लिए कहीं और व्यवस्था करनी चाहिए।

कोरोना वार्ड से सिर्फ दो पॉजिटिव
जांच के दौरान सामने आया कि कोरोना वार्ड में ड्यूटी करने वाले डॉक्टरों और स्टाफ में से सिर्फ दो ही कोरोना पॉजिटिव हुए हैं। बाकी अस्पताल के सामान्य ओपीडी में काम कर रहे थे। ओपीडी में आने वाले मरीजों में से कुछ मरीज कोरोना संक्रमित होंगे जिनसे संक्रमण अस्पताल में फैल गया।

किया था दोनों इलाज का विरोध
मालूम हो कि जूनियर डॉक्टर सहित मेडिकल टीचर्स में भी कोरोना के साथ सामान्य मरीजों के इलाज से नाखुशी जाहिर की थी। उन्होंनें कहा था कि इससे अस्पताल में संक्रमण फैल सकता है। शहर में चिरायु समेत कोरोना के इलाज में लगे अन्य अस्पतालों में सामान्य मरीजों का इलाज नहीं किया जाता, इसलिए संक्रमण कम फैलता है।

अब शाम को सैंपल लेगी जीएमसी की टीम
भीषण गर्मी को देखते हुए गांधी मेडिकल कॉलेज की टीम अब शाम को कोरोना के सैंपल लेगी। बुधवार शाम हुई बैठक में यह निर्णय लिया गया कि टेंपरिंग करने वाली टीम दोपहर तीन बजे से शाम सात बजे तक शहर के विभिन्न क्षेत्रों में जाएगी। मालूम हो कि पिछले 2 दिनों में पीपी किट पहनने से जूडा सहित 22 कर्मचारी बीमार पड़ गए थे इनमें से 6 कर्मचारी बेहोश हो गए थे ये हालात देख बुधवार शाम जीएमसी में बैठक बुलाई गई जिसमें यह निर्णय लिया गया कि अब टीम शाम को ही सैंपल लेगी।

Corona virus
योगेंद्र Sen Reporting
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned