कोरोना लॉकडाउन: किराए को लेकर भारतीय रेलवे का बड़ा फैसला.....

- किराये में दी जाने वाली छूट खत्म
- स्लीपर और एसी की सीटे फुल

By: Ashtha Awasthi

Updated: 05 Apr 2020, 01:23 PM IST

भोपाल। कोरोना वायरस से निपटने के लिए प्रधानमंत्री मोदी के द्वारा दिए गए आदेश के बाद पूरे देश में 14 अप्रैल तक पूर्ण लॉकडाउन जारी है। लॉकडाउन के बाद से ही देश की लगभग सभी सेवाएं पूरी तरह से बंद हैं। वहीं बात अगर रेलवे की करें तो 15 अप्रैल से रेल परिचालन शुरू होने की संभावना के मद्देनजर टिकट बुक कराने वालों की भी भीड़ बढ़ गई है।

 

seats in indian railways trains are full during holi 2020 festival

बड़ी संख्या में लोग ट्रेनों में टिकट बुक कर रहे हैं। जिसके चलते अब ट्रेनों में 16 से 20 अप्रैल की स्लीपर और एसी की सीटे फुल होने के कारण वेटिंग लिस्ट की स्थिति पहुंच गई है। तेजी से बढ़ती बुकिंग को देखते हुए रेलवे की ओर से सीनियर सिटीजन यानी वरिष्ठ नागरिकों को किराये में दी जाने वाली छूट नहीं दी जा रही है।

Indian railway: यात्रियों को इस ट्रेन में परोसा जाएगा गुजराती खाना

लोग न करें अनावश्यक यात्रा...

कोरोना वायरस के बढ़ते कहर को देखते हुए सरकार इस समय किसी भी तरह से भीड़ नहीं करना चाहती है। पूरी तरह से सोशल डिस्टेशिंग को बनाए रखना चाहती है। यही कारण है कि भारतीय रेलवे सीनियर सिटीजन को किराए में छूट नहीं दे रही है। सरकार यही चाहती है कि अभी लोग अनावश्यक यात्रा करने से बचें। बता दें कि अब तक महिलाओं को 50 तथा पुरुषों को 40 फीसदी छूट सीनियर सिटीजन के नाते दी जाती थी।

Indian Railway : कृपया यात्रीगण ध्यान दें, आधा दर्जन एक्सप्रेस ट्रेनें रहेंगी रद्द

वहीं 20 मार्च आधी रात से रेलवे ने कोरोना वायरस के फैलाव को कम करने के उद्देश्य से विद्यार्थी, दिव्यांगजनों, मरीजों को छोड़कर विभिन्न कुल 53 श्रेणियों के तहत दी जाने वाल रियायात समाप्त कर दी थी। इसका मकसद कम से कम संख्या में लोग ट्रेनों से सफर करें।

 

Indian Railway
IMAGE CREDIT: Patrika

इन ट्रेनों में भर गई हैं सीटें...

आपको बता दें कि 14 अप्रैल से लॉकडाउन हटने के बाद रेलवे ने सभी जोनल-डिवीजन के संबंधित अधिकारियों को ड्यूटी पर तैयार रहने के निर्देश दिए हैं। इसको देखते हुए रेल यात्रियों ने एडवांस टिकट बुक कराने शुरू कर दिए हैं। ट्रेनों में सभी सीटें बुक होने के कारण वेटिंग टिकट मिल पा रहे हैं। इसमें हावड़ा-देहरादून एक्सप्रेस, दिल्ली-पुरुषोत्तम एक्सप्रेस, जलियांवाला बाग एक्सप्रेस, टाटा जम्मू तवी एक्सप्रेस, उत्कल एक्सप्रेस आदि की एसी व स्लीपर की सीटे भर गई हैं।

Show More
Ashtha Awasthi
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned