scriptinfatuation over by B.Ed, 30 thousand seats are vacant | ई-प्रवेश में छात्रों का अजीब ट्रेंड, ऑनलाइन सीट बुक की, पर नहीं ले रहे दाखिला | Patrika News

ई-प्रवेश में छात्रों का अजीब ट्रेंड, ऑनलाइन सीट बुक की, पर नहीं ले रहे दाखिला

- बीएड से छूट रहा मोह, 30 हजार सीटें खाली

- कभी प्राथमिकता में रहे बीएड को युवा अब विकल्प के तौर पर देख रहे

- पहले चरण में 25 हजार, दूसरे में 25,500 सीटें आवंटित हुईं, लेकिन प्रवेश लिया मात्र 21,689 ने

भोपाल

Published: June 27, 2022 04:12:27 pm

भोपाल@श्याम सिंह तोमर

प्रदेश के स्नातक, स्नातकोत्तर और राष्ट्रीय अध्यापक शिक्षा परिषद् (एनसीटीई) के पाठयक्रमों में ऑनलाइन प्रवेश के दौरान नया ट्रेंड सामने आ रहा है। कभी सरकारी और निजी स्कूलों में नौकरी की गारंटी माने जाने वाला बीएड अब युवाओं की प्राथमिकता से बाहर हो चुका है।

b-ed_course.png

इसी का नतीजा है कि बीएड में ऑनलाइन प्रवेश (ई-प्रवेश) का तीसरा चरण पूरा होने को आया, फिर भी राज्य के कॉलेजों की 70 में से 30 हजार सीटें अब भी खाली हैं। कॉलेज स्तर की कांउसिलिंग में भी तस्वीर बदलने वाली नहीं है। कॉलेज संचालकों का कहना है कि यही स्थिति रही तो कॉलेज संचालन का खर्च भी निकालना मुश्किल हो जाएगा।

यह है कारण... : निजी कॉलेजों में फीस ज्यादा, फीस जितनी सुविधाएं नहीं

दूसरे राउंड में भी निराशा
इसी तरह से 26 मई से 18 जून तक दूसरे चरण में 28,479 सीटें आवंटित हुईं। इनमें 16 हजार छात्रों को पहली च्वॉइस मिली। 2300 को दूसरी, 1400 को तीसरी वरीयता का कॉलेज मिला। इस बार स्थिति और नीचे चली गई। केवल 6,689 विद्यार्थियों ने फीस जमाकर एडमिशन लिया। अभी 7 से 27 जून के बीच तीसरा चरण चल रहा है। इसमें भी तस्वीर बदलती नहीं दिख रही।

- निजी कॉलेजों में फीस ज्यादा
- फीस जितनी सुविधाएं नहीं

बीएड की प्रथम पांच वरीयताएं
प्रथम : 16,562

द्वितीय : 2,470

तृतीय : 1220

चतुर्थ : 757

पंचम : 517

इसलिए दूरी बना रहे छात्र

: बीएड पहले प्राथमिकता में था। अब विकल्प है।

: निजी कॉलेज औसतन एक साल में 40-80 हजार, यानी दो साल 80 हजार से 1 लाख फीस लेते हैं।

: इसके बावजूद कॉलेजों में सुविधाएं, लैब और स्तरीय फैकल्टी नहीं मिलती।

महज 15 हजार छात्रों ने ही फीस जमा की
उच्च शिक्षा विभाग के आंकड़े बताते हैं, 17 मई से 6 जून के बीच चले पहले चरण में एनसीटीई के 9 पाठॺक्रमों में सबसे ज्यादा बीएड में 24,781 सीटें आवंटित हुई थीं। इनमें 16,562 छात्रों को पसंदीदा कॉलेज मिले। इसके बाद 2, 470 को द्वितीय, 1, 220 तृतीय, 757 चतुर्थ और 517 को पांचवें क्रम के कॉलेज मिले। यानी, करीब 20 हजार विद्यार्थियों को पसंदीदा कॉलेज मिले। इसके बाद भी अंतिम तौर पर महज 15 हजार छात्रों ने ही फीस जमा की।

एनसीटीई के पाठ्यक्रमों में विद्यार्थियों का रुझान पिछले साल की तुलना में कम दिख रहा है। आंकड़ों से स्पष्ट है विद्यार्थी पहले कॉलेज आवंटित होने पर शुल्क जमा कर एडमिशन में रुचि नहीं ले रहे हैं। छात्र जागरूक हुए हैं। वे सर्वश्रेष्ठ कॉलेज में ही प्रवेश लेना चाहते हैं। कॉलेजों को अकादमिक गुणवत्ता बढ़ाना चाहिए।
- धीरेंद्र शुक्ला, ओएसडी अकादमिक, आयुक्त कार्यालय

सबसे लोकप्रिय

शानदार खबरें

Newsletters

epatrikaGet the daily edition

Follow Us

epatrikaepatrikaepatrikaepatrikaepatrika

Download Partika Apps

epatrikaepatrika

Trending Stories

Monsoon Alert : राजस्थान के आधे जिलों में कमजोर पड़ेगा मानसून, दो संभागों में ही भारी बारिश का अलर्टमुस्कुराए बांध: प्रदेश के बांधों में पानी की आवक जारी, बीसलपुर बांध के जलस्तर में छह सेंटीमीटर की हुई बढ़ोतरीराजस्थान में राशन की दुकानों पर अब गार्ड सिस्टम, मिलेगी ये सुविधाधन दायक मानी जाती हैं ये 5 अंगूठियां, लेकिन इस तरह से पहनने पर हो सकता है नुकसानस्वप्न शास्त्र: सपने में खुद को बार-बार ऊंचाई से गिरते देखना नहीं है बेवजह, जानें क्या है इसका मतलबराखी पर बेटियों को तोहफे में देना चाहता था भाई, बेटे की लालसा में दूसरे का बच्चा चुरा एक पिता बना किडनैपरबंटी-बबली ने मकान मालिक को लगाई 8 लाख रुपए की चपत, बलात्कार के केस में फंसाने की दी थी धमकीराजस्थान में ईडी की एन्ट्री, शेयर ब्रोकर को किया गिरफ्तार, पैसे लगाए बिना करोड़ों की दौलत

बड़ी खबरें

सुशील कुमार मोदी का नीतीश सरकार पर हमला, कहा - 'लालू के दामाद और कार्यकर्ता चला रहे सरकार, नीतीश लाचार'CM हेमंत सोरेन के आवास पर आज UPA की बैठक, JMM, कांग्रेस और RJD होंगे शामिलड‍िप्‍टी सीएम मनीष स‍िसोद‍िया के यहां CBI की रेड के बाद LG का बड़ा आदेश, 12 IAS अफसरों का ट्रांसफरमनीष सिसोदिया के घर समेत 31 जगहों पर रेड, 17 अगस्त को ही दर्ज हुई थी FIR, CBI ने जारी की पूरी डीटेलउपमुख्यमंत्री मनीष सिसोदिया के आवास पर CBI की छापेमारी के बाद आम आदमी पार्टी ने किया ऐलान - '2024 में मोदी Vs केजरीवाल'PICS: देशभर में श्री कृष्ण जन्माष्टमी की धूम, सुनाई दे रही जयश्री कृष्णा की गूंजक्यों मनीष सिसोदिया के घर पर CBI कर रही छापेमारी? जानिए क्या है पूरा मामलामहाकाल की शाही सवारी 22 को, चार लाख श्रद्धालुओं के आने का अनुमान
Copyright © 2021 Patrika Group. All Rights Reserved.