मास्क और हैंड सेनिटाइजर की उपलब्धता, कीमत और गुणवत्ता पर नियंत्रण रखने के निर्देश

प्रमुख सचिव शुक्ला ने सभी कलेक्टरों को भेजा पत्र

By: Ashok gautam

Published: 19 Mar 2020, 08:21 PM IST

भोपाल। राज्य सरकार ने सभी जिला कलेक्टरों को निर्देश जारी किये हैं कि नोवल कोरोना वायरस से बचाव में उपयोग किए जाने वाले मास्क एवं हैंड सेनिटाइजर की गुणवत्ता, उपलब्धता और कीमतों की नियमित समीक्षा करें। प्रमुख सचिव, खाद्य-नागरिक आपूर्ति एवं उपभोक्ता संरक्षण शिव शेखर शुक्ला ने कलेक्टरों को पत्र भेजकर बताया है कि भारत सरकार ने आवश्यक वस्तु अधिनियम 1955 के प्रावधानों में तहत मास्क (2 प्लाई एवं 3 प्लाई सर्जिकल मास्क, एन 95 मास्क) और हैंड सेनिटाइजर को नवीन अनुसूची में सम्मिलित किया है।
सभी जिला कलेक्टरों से कहा गया है कि जिले में कार्यरत मास्क और हैंड सेनिटाइजर निर्माताओं तथा व्यापारियों के प्रतिनिधियों की बैठक आयोजित कर उन्हें आवश्यक वस्तु अधिनियम 1955 के संशोधित प्रावधान तथा चोर बाजारी निवारण और आवश्यक वस्तु प्रदाय अधिनियम, 1980 के प्रावधान से अवगत कराएं। साथ ही, उन्हें इन वस्तुओं की सामान्य उपलब्धता बनाये रखने के लिए आवश्यक निर्देश दिए जाएं। जिले में मास्क और हैंड सेनिटाइजर की उपलब्धता एवं कीमतों की नियमित समीक्षा एवं निगरानी की जाए। प्रमुख सचिव ने कहा है कि सूचना तंत्र विकसित करते हुए जमाखोरों के विरूद्ध छापे की कार्यवाही की जाए। स्टॉक की नियमित जांच की जाए। अनियमितता पाई जाने पर कठोर कार्यवाही भी की जाए, इस बारे में की गई कार्यवाई से संचालक खाद्य, नागरिक आपूर्ति एवं उपभोक्ता संरक्षण को नियमित रूप से अवगत कराया जाए।

प्रदेश में अभी तक कोई पाजीटिव प्रकरण नहीं

भोपाल के महाराणा प्रताप नगर स्थित एक होटल में नोवल कोरोना वायरस के संभावित मरीजों की जानकारी मिलते ही मुख्य चिकित्सा अधिकारी द्वारा केन्द्र सरकार की गाइडलाईन अनुसार त्वरित कार्यवाही की गई। यात्री जिस कमरे में ठहरा था, उस कमरे सहित इस फ्लोर के सभी कमरों को तत्काल खाली करवा दिया गया है। होटल में कार्य करने वाले सभी कर्मचारियों का चिकित्सकों द्वारा स्वास्थ्य परीक्षण कराया गया, जिसमें सभी कर्मचारी स्वस्थ पाये गये। संभावित चार मरीजों को सर्विलेंस एवं आईसोलेशन में रखा गया है ।
नोवल कोरोना वायरस बीमारी का प्रदेश में अभी तक कोई पाजीटिव प्रकरण नहीं है। संक्रमण से निपटने के लिये राज्य शासन ने निगरानी और नियंत्रण के उपायों को सुदृढ़ किया है। राज्य सर्विलेंस इकाई से प्राप्त जानकारी के अनुसार आज तक नोवल कोरोना वायरस से प्रभावित देशों से आने वाले 1000 यात्रियों की पहचान की जा चुकी है। इनमें से 541 यात्री अपने घरों में आइसोलेशन में रखे गए हैं तथा 382 यात्रियों का सर्विलेंस पूरा हो चुका है।

Corona virus
Ashok gautam
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned