बढ़ते उपयोग के कारण जल्द पूरी दुनिया से खत्म हो जाएगा इंटरनेट, वैज्ञानिकों ने दी जानकारी

बढ़ते उपयोग के कारण जल्द पूरी दुनिया से खत्म हो जाएगा इंटरनेट, वैज्ञानिकों ने दी जानकारी

Faiz Mubarak | Publish: Sep, 10 2018 05:17:55 PM (IST) Bhopal, Madhya Pradesh, India

बढ़ते उपयोग के कारण जल्द पूरी दुनिया से खत्म हो जाएगा इंटरनेट, वैज्ञानिकों ने दी जानकारी

भोपालः आज के समय में इंटरनेट हमारे जीवन का एक अभिन्न हिस्सा बन गया है। पिछले कुछ सालों में इंटरनेट ने हमें अपना आदि बना लिया है। दुनियाभर के करोड़ों लोग इंटरनेट इस्तेमाल कर रहे हैं। इंटरनेट की वजह से आज हमारा जीवन काफी आसान हो गया है। आज हालात यह हैं कि, इंटरनेट के बिना दुनिया की एक बड़ी आबादी जीवन की कल्पना भी नहीं कर सकती। हालांकि, इंटरनेट का प्रयोग हर क्षेत्र के लिए काफी महत्वपूर्ण है। ज्यादातर सरकारी और गैर सरकारी विभाग कारोबार, ऑनलाइन शॉपिंग से लेकर अपने मनोरंजन, बिलों का भुगतान, व्यापारिक दस्तावेजो का आदान प्रदान जैसे अनेकों काम अब इंटरनेट की मदद से बहुत आसान हो गए हैं।

क्या आपको यह मालूम है?

लेकिन क्या आपने को यह मालूम है कि, इंटरनेट आखिर आता कहां से है और इसके काम करने का तरीका क्या है? क्या आपने कभी कल्पना की है कि अगर इंटरनेट खत्म हो जाए तो क्या होगा इससे हमारी जिंदगी पर क्या प्रभाव पड़ेगा। आप जानते हैं आज के समय में इंटरनेट हमारे लिए इतना जरूरी हो गया है की यदि एक मिनट भी इंटरनेट बंद हो जाये तो दुनिया के करोड़ो लोगों का कितना नुकसान होगा? सोचिए जब हममे से कई लोग इस बात की कल्पना भी नही कर सकते, तो अगर यह सच में ना हो तो लोगों का क्या हो, व्यवस्थाओं का ज़रूरतों का क्या हो।

इंटरनेट के कुछ रोचक तथ्य, जिन्हें जानकर आप रह जाएंगे हैरान

इंटरनेट का सबसे पहले आविष्कार साल 1969 में (DOD) डिपार्टमेंट ऑफ डिफेन्स द्वारा किया गया था। भारत में इसकी शुरुआत 15 अगस्त 1995 को सरकारी कंपनी BSNL ने की थी। हाल ही में इंटरनेट को लेकर एक हैरान कर देने वाली बात सामने आई हैं। आपको बता दें कि हम जो इंटरनेट यूज करते हैं वो सेटेलाइट के जरिए सिर्फ 1 प्रतिशत ही आ पाता है। हमने 8 लाख किलोमीटर से भी ज्यादा लम्बाई वाले आप्टिकल फाइबर केबल समुद्र में बिछाए है जिसमे हमारे इंटरनेट का 90 प्रतिशत यूज होता है। समुद्र में वही आप्टिकल फाइबर केबल बिछाए जाते है जिनमे कम नुकसान और कम लागत लगे और एक खास टीम समय इन आप्टिकल फाइबर केबल की निगरानी करती रहती है।

इस कारण ध्वस्त हो सकता है इंटरनेट ध्वस्त

कुछ दिनो पहले लंदन के एक अंग्रेजी अखबार में प्रकाशित किया गया था कि जिसके मुताबिक जिस हिसाब से आज के समय में इंटरनेट का प्रयोग बढ़ रहा है उसको देखते हुए भविष्य में हमें दिक्कत उठानी पड़ सकती है। एक रिपोर्ट के अनुसार आने वाले आठ वर्षों में इंटरनेट का उपयोग इतना ज्यादा बढ़ जाएगा कि इसे चलाने वाली फाइबर केबल्स यह भार नहीं झेल पाएंगी और इंटरनेट धवस्त हो जाएगा। हालांकि वैज्ञानिक इस स्थिति से निपटने के लिए पूरजोर कोशिश कर रहे हैं और उम्मीद है कि वैज्ञानिक कोई नई तकनीक तलाश कर इंटरनेट को ध्वस्त होने से बचा लेने में कामयाब होंगे। आपको बता दें कि, शुरुआत में इंटरनेट सेटेलाइट से चलता था लेकिन इसमें डेटा काफी कम स्पीड में लोड होता था ये तकनीक अब बहुत पुरानी हो चुकी है। वर्तमान में ऑप्टिकल फाइबर केबल की मदद से 255 टेराबाइट प्रति सेकेंड की स्पीड इस्तेमाल की जा चुकी है। हालांकि, वैज्ञानिक अभी भी लगातार इस प्रयास में जुटे हैं, कि इससे भी ज्यादा स्पीड हासिल करने के प्रयास में हैं।

Ad Block is Banned