भारत में IS का प्रचार कर रहा था संदिग्ध आतंकी, NIA ने पकड़ा

भारत में IS का प्रचार कर रहा था संदिग्ध आतंकी, NIA ने पकड़ा

एनआईए और भोपाल क्राइम ब्रांच ने सोमवार को राजधानी भोपाल से आईएस एजेंट अजहर इकबाल को गिरफ्तार किया।


भोपाल. सीरिया और इराक समेत सभी खाड़ी देशों में आतंक का पर्याय बन चुका आतंकी संगठन इस्लामिक स्टेट यानि IS अब देश के साथ-साथ मध्य प्रदेश में भी अपनी जड़ें जमा रहा है। इस तथ्य की पुष्टि सोमवार को जैसे ही हुई सरकार से लेकर पुलिस प्रशासन में खलबली मच गयी। एनआईए (नेशनल इन्वेस्टिगेशन एजेंसी) दिल्ली की टीम ने भोपाल क्राइम ब्रांच की मदद से आईएस के 23 साल के फरार संदिग्ध आतंकी एजेंट अजहर इकबाल पिता तौफीक इकबाल को गिरफ्तार किया है। एनआईए ने गिरफ्तार एजेंट समेत 16 लोगों के खिलाफ दिल्ली में 9 दिसंबर को मामला दर्ज किया था। तब से वह फरार था।

आज होगा कोर्ट में पेश
भोपाल में वह अपने वकील ताऊ के घर फरारी काट रहा था। उसके संबंध में ताऊ को कोई जानकारी नहीं है। पुलिस सूत्रों का कहना है कि अजहर पाकिस्तान की ख़ुफ़िया एजेंसी ISI के लिए भी काम करता है। फ़िलहाल एनआईए टीम और क्राइम ब्रांच कुछ अहम दस्तावेज और लैपटॉप जब्त करने के लिए उसे लेकर औबेदुल्लागंज जाने वाली है। उसे मंगलवार को कोर्ट में पेश करने के बाद दिल्ली ले जाया जाएगा।


एएसपी शैलेन्द्र सिंह चौहान ने बताया कि अजहर ग्राम बरखेड़ा औबेदुल्लागंज का रहने वाला है। वह आईएसआई एजेंट हैं। सहारनपुर यूपी के देबवन में वह मदरसे में रहता था, जहां इसने अपने 15 साथियों के साथ आईएस के कहने पर एक संगठन बनाया था। एनआईए दिल्ली ने इसके खिलाफ प्रकरण दर्ज किया था। एनआईए ने इसके 15 साथियों को गिरफ्तार कर लिया था, यह फरार चल रहा था। करीब 20 दिन पहले यह अपने ताऊ के घर फरारी काटने आ गया था।

बुर्का पहनकर पहुंची महिला आरक्षक
एएसपी शैलेन्द्र सिंह चौहान ने बताया कि एनआईए ने आईएस आंतकी एजेंट अजहर के छिपे होने की जानकारी दी। जानकारी के साथ पता और उसका फोटो दिया। इसके बाद क्राइम ब्रांच में एक स्पेशल टीम बनाई गई, जिसमें एनआईए की टीम भी शामिल थी। टीम ने दो महिला आरक्षकों को शामिल किया गया। शाम 6 बजे एक महिला आरक्षक को बुर्का पहनाकर अजहर के ताऊ के घर भेजा गया। उसके पीछे टीम चल रही थी। महिला आरक्षक आंतकी एजेंट अजहर के ताऊ से मिली और कहा कि अजहर ने उसे बुलाया था। इस बीच उसके ताऊ ने अजहर को आवजा लगाकर बुलाया तभी पहले से घात लगाकर बैठी क्राइम ब्रांच टीम ने उसे दबोचा लिया।

अजहर पर ये हैं आरोप
एनआईए दिल्ली ने 9 दिसंबर को 16 लोगों के खिलाफ आतंकवादी संगठनों का प्रचार करने समेत राष्टविरोधी और देशद्रोही गतिविधियों में शामिल होने के आरोप में मामला दर्ज किया था। जिसमें अजहर फरार चल रहा था। उसने अपने साथियों के साथ जनूत-उल-खलीफा-ए-हिंद नाम से एक संगठन बना रखा था। वह यूएपीए (अन्नाफुल एक्टिविस्ट प्रवेंशन एक्ट) में भी संदिग्ध था।

फेसबुक, स्काईपी और व्हाटसप्प के माध्ययम से यह आईएसआई के आकाओं से संपर्क में था, इनका इरादा इंडिया में कई प्रसिद्व जगहों पर अटैक करने का था। एनआईए को अजहर की भोपाल में होने की सूचना मिली थी। इसके बाद क्राइम ब्रांच एएसपी शैलेन्द्र सिंह चौहान ने अपनी टीम के साथ टीलाजमालपुरा थाना क्षेत्र के पुतलीघर निवासी लईक अहमद के घर दबिश देकर उसे दबोच लिया। 

MP/CG लाइव टीवी

खबरें और लेख पढ़ने का आपका अनुभव बेहतर हो और आप तक आपकी पसंद का कंटेंट पहुंचे , यह सुनिश्चित करने के लिए हम अपनी वेबसाइट में कूकीज (Cookies) का इस्तेमाल करते हैं। हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति (Privacy Policy ) और कूकीज नीति (Cookies Policy ) से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned