आशिया का नाम शाजिया है और वो मेरी पत्नी है...

आशिया का नाम शाजिया है और वो मेरी पत्नी है...
bhopal

Sumeet Pandey | Updated: 15 Feb 2017, 01:29:00 AM (IST) Bhopal, Madhya Pradesh, India

आईएसआई केस: ध्रुव का गुर्गा हिमांशु गिरफ्तार, बोला...



भोपाल. जासूसी कांड में गिरफ्तार कथित भाजयुमो नेता ध्रुव सक्सेना के गुर्गे हिमांशु बघेल को पिपलानी पुलिस ने अवैध हथियार के साथ गिरफ्तार करने का दावा किया है। सूत्रों की मानें तो इससे पहले नौ फरवरी को हिमांशु को एटीएस ने जासूसी कांड में पूछताछ के लिए उठाया था। जब एटीएस ने उसे दो दिन पहले छोड़ा तो पिपलानी पुलिस ने गिरफ्तार कर लिया।
पुलिस के मुताबिक, मूलत: तिलक नगर रीवा निवासी हिमांशु सिंह बघेल को दो कट्टे, राउंड के साथ गिरफ्तार किया गया है। पुलिस ने न्यू मिनाल रेसीडेंसी ई-350 मकान से उसे गिरफ्तार करने का दावा कर रही है। हिमांशु के साथ मकान में एक युवती भी रहती थी। हिमांशु ने कबूल किया कि वह उसकी पत्नी है। उसका असली नाम शाजिया है।

एटीएस सोने नहीं देती, कोर्ट आए तो लगी नींद
एटीएस आरोपियों से पूछताछ कर रही है, खासकर बलराम और ध्रुव सक्सेना से। सूत्र बताते हैं कि बलराम से देर रात तक पूछताछ की गई। उसे सोने नहीं दिया जाता ताकि वह सच-सच बताए। वह अदालत में अधिकांश समय सोता रहा। ध्रुव और मनीष गांधी भी झपकी ले रहे थे। बलराम से पूछताछ के लिए टीमें बनाई गई हैं, जो एक के बाद एक पूछताछ करती हैं। एक बात कई बार पूछते हैं, ताकि वह झूठ बोल रहा हो तो पकड़ा जाए।मनीष की तबीयत बिगड़ी! एटीएस की पूछताछ के दौरान मनीष गांधी बार-बार घबराहट और तबीयत खराब होने की बात कहता है। उसके परिजनों ने भी एटीएस से कहा कि उसे दिल की बीमारी है। वर्ष 2014 में उसे सीने में तकलीफ हुई थी। उन्होंने अदालत से दवाईयां उपलब्ध कराने की इजाजत भी मांगी।  

सुरक्षा सलाहकार  ने ली जानकारी
भारत सरकार के वरिष्ठ सुरक्षा सलाहकार विजय कुमार भी मंगलवार को भोपाल में थे। डीजीपी और इंटेलीजेंस के अधिकारियों से केस जुड़ी गिरफ्तारियों की जानकारी ली। इस दौरान नक्सलवाद, सिमी और आईएसआई से जुड़े मुद्दों पर भी बात हुई।

आधा दर्जन शहरों में डेरा, एक और हत्थे चढ़ा
एटीएस की टीम सतना, बुरहानपुर, बैतूल और महाराष्ट्र के भंडारा सहित आधा दर्जन शहरों में डेरा डाले हुए है। मुंबई एटीएस की मदद भी ली जा रही है। भोपाल से भागा ध्रुव का एक साथी बड़ौदा में मुंबई एटीएस के हत्थे चढ़ गया। उससे पूछताछ की जा रही है। उत्तरप्रदेश, महाराष्ट्र और राजस्थान की एटीएस से भी आरोपियों से हासिल जानकारियां साझा की जा रही है। सूत्रों ने बताया कि एटीएस की टीमें आरोपियों के अन्य साथियों की तलाश में मध्यप्रदेश और महाराष्ट्र से लगे कई शहरों में डेरा डाले हुए है। सतना गई टीम को बलराम के भाई की तलाश है। उससे कुछ सामान बरामद करना है।

कॉल सेंटर की ट्रेनर निकली
हिमांशु ने पुलिस की पूछताछ में बताया कि आशिया ध्रुव के कॉल सेंटर में नौकरी करती थी। वह कॉल सेंटर के नए कर्मचारियों को कम्प्यूटर की ट्रेङ्क्षनग देती थी। आशिया से एटीएस भी पूछताछ कर चुकी है। उसके खिलाफ जासूसी से जुड़े कोई साक्ष्य नहीं मिले हैं। वहीं हिमंाशु ने यह भी बताया कि ध्रुव का उसके घर आना जाना था। हालांकि, एटीएस हिमांशु व आशिया से पूछताछ करने इंकार करती रही।

विहिप ने आशीष को पद से हटाया
सतना. आईएसआई की टेरर फंडिंग के मास्टर माइंड बलराम से बजरंग दल के जिला गौरक्षा प्रमुख आशीष सिंह राठौर की संबद्धता उजागर होने पर विहिप के प्रांत मंत्री गोविन्द शेन्डे ने उसे पद से हटा दिया। आशीष सिंह ने अपने एचडीएफसी बैंक का एटीएम बलराम को दे दिया था। इस खाते में कथिततौर पर आईएसआई के हैण्डलरों द्वारा लाखों रुपये डाले जा रहे थे, जिसे बलराम आतंकियों के मददगारों तक पहुंचा रहा था।

MP/CG लाइव टीवी

खबरें और लेख पढ़ने का आपका अनुभव बेहतर हो और आप तक आपकी पसंद का कंटेंट पहुंचे , यह सुनिश्चित करने के लिए हम अपनी वेबसाइट में कूकीज (Cookies) का इस्तेमाल करते हैं। हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति (Privacy Policy ) और कूकीज नीति (Cookies Policy ) से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned