भ्रष्टाचार की जड़ें इतनी गहरी कि मठा डालने में वक्त लगेगा : मंत्री तोमर

भ्रष्टाचार की जड़ें इतनी गहरी कि मठा डालने में वक्त लगेगा : मंत्री तोमर
assembly news today

Anil Chaudhary | Updated: 22 Jul 2019, 05:10:20 AM (IST) Bhopal, Bhopal, Madhya Pradesh, India

दन में गूंजा पिछली भाजपा सरकार के समय हुआ भ्रष्टाचार
स्पीकर ने दी जांच की व्यवस्था, कई कमेटियां बनीं, मंत्री ने किया एक एमडी निलंबित

भोपाल. पिछली भाजपा सरकार के समय हुआ भ्रष्टाचार रविवार को विधानसभा में जमकर गूंजा। प्रश्नकाल, शून्यकाल और ध्यानाकर्षण व बजट मांगों पर चर्चा में पुरानी सरकार की गड़बडिय़ों पर सवाल उठते रहे। मंत्री प्रद्युम्न सिंह तोमर ने यह तक कह दिया कि 15 साल में भ्रष्टाचार की जड़ें इतनी गहरी हो गई हैं कि मठा डालकर भी इन्हें खत्म करने में वक्त लगेगा। कभी वॉटर कूलर रिपेयरिंग घोटाले का मुद्दा गूंजा तो कभी आदिवासी किसानों का पैसा खा जाने पर नाराजगी छाई रही। चावल घोटाले में नॉन का एक क्षेत्रीय एमडी भी निलंबित कर दिया गया। स्पीकर ने जांच की व्यवस्था दी तो कई कमेटियां बना दी गईं।
- नान के क्षेत्रीय एमडी निलंबित
बसपा के संजीव सिंह ने टीकमगढ़ व निवाड़ी में चार हजार मीट्रिक टन अमानक चावल भंडारण का मुद्दा ध्यानाकर्षण में उठाया। इस पर मंत्री प्रद्युम्न सिंह तोमर ने जवाब दिया कि 510 मीट्रिक टन अमानक चावल भंडारण पाया तो संजीव ने कहा कि यदि सही जांच हो तो इससे कई गुना ज्यादा मिलेगा। डीएम नान ने केवल 87800 की पेनॉल्टी लगाई। कलेक्टर के दो-दो पत्र हैं, जिसमें 1.80 करोड़ की पेनॉल्टी है। इससे सांठगांठ साबित होती है। ये 2013 का मामला है। इस पर मंत्री तोमर ने कहा कि 15 सालों में भ्रष्टाचार की जड़ें गहरी हो गई हैं। इस पर मठा डालने में वक्त लगेगा। संजीव सिंह ने तुरंत कार्रवाई मांगी तो मंत्री ने कहा कि संबंधित क्षेत्रीय डीएम नान को निलंबित करता हूं। परिवहनकर्ता को पहले ही निलंबित कर चुके हैं। अब जांच कराऊंगा जो भी दोषी साबित होगा, उसके खिलाफ एफआइआर की जाएगी। वसूली के आदेश भी दिए गए हैं। एक हफ्ते में जांच पूरी करके कार्रवाई होगी।
- वॉटर कूलर-आरओ में घोटाला, जांच बैठी
विधायक रघुराज सिंह कंसाना ने मुरैना चिकित्सालय में मशीनरी, वॉटर कूलर, पंखे व आरओ में खर्च का सवाल उठाया तो मंत्री तुलसी सिलावट ने कहा कि इसमें गड़बड़ी सामने आ रही हंै। हम क्षेत्रीय संचालक से जांच कराएंगे। पंद्रह दिन में दोषियों पर कार्रवाई की जाएगी। इस पर कंसाना ने कहा कि जनप्रतिनिधि को भी जांच में शामिल करें तो मंत्री ने कहा कि आपको भी शामिल करेंगे।
- ईओडब्ल्यू के पास घोटाले के रेकॉर्ड नहीं
भाजपा के मनोहर ऊंटवाल ने आगर मालवा की नगर परिषद कानड में अध्यक्ष व सीईओ परिषद के भ्रष्टाचार का मुद्दा उठाया। पूछा कि ईओडब्ब्ल्यू में इस पर क्या प्रकरण दर्ज है। मंत्री गोविंद सिंह ने कहा कि ईओडब्ल्यू के पास पूरा रेकॉर्ड नहीं है। हमने रेकॉड मांगा है। मनोहर ने कहा कि मुझे भी जांच में शामिल करो तो गोविंद ने कहा कि आपने लिखा कि अफसरों ने भाई को ठेका दिया, लेकिन पहले प्रकरण तो बने। इसकी जांच कराएंगे।

- 50 रुपए के स्टाम्प पर ठेका
विधायक सुनील सराफ ने सवाल उठाया कि गुजरात के दीपक फाउंडेशन को अलीराजपुर में स्वास्थ्य का ठेका महज 50 रुपए के स्टाम्प पर दे दिया गया। इस पर मंत्री तुलसी सिलावट ने कहा कि ठेका मार्च 2018 तक ही था। सराफ ने कहा कि अलीराजपुर में निश्चेतना विशेषज्ञ को जून 2016 से मार्च 2018 तक अनुबंध के हिसाब से रहना था, पर वह केवल तीन महीने रहा तो इतने समय ऑपरेशन कैसे हुए? इस पर मंत्री सिलावट ने कहा कि इसकी जांच कराई जाएगी।
- घोटालेबाजों की नजर आदिवासी की लंगोट पर
कांग्रेस के फुंदेलाल मार्को ने आदिम जाति कल्याण विभाग के तहत आदिवासी किसानों को मार्केटिंग के लिए बजट का फायदा न मिलने व भ्रष्टाचार का मुद्दा ध्यानाकर्षण में उठाया। मार्को ने कहा कि आदिवासी समाज लंगोट पहनता है। इन लोगों को मौका मिला तो उसका लंगोट भी उतरवा लेंगे। उनके नाम का पैसा खाया है। इस पर कृषि मंत्री सचिन यादव ने कहा कि पिछले 15 साल में जिन योजनाओं का इन आदिवासी किसानों को फायदा मिलना था वो नहीं मिल सका है। कमेटी बनाकर जांच कराई जाएगी। इसमें मार्को को भी शामिल करेंगे। इस पर विधानसभा अध्यक्ष ने व्यवस्था दी कि इस पर सात विधायकों ने सवाल लगाए हैं। उन सभी को जांच कमेटी में शामिल कर लिया जाए। इस पर मंत्री ने सहमति दी।
- बिना सड़क बनाए चल रहा टोल नाका
विधायक देवेंद्र पटेल ने रायसेन के उदयपुरा एनएच-12 और हिरन नदी, सिंदूर नदी व बरेली सड़क मार्ग का काम गुणवत्तायुक्त न होने का मुद्दा ध्यानाकर्षण के जरिए उठाया। मंत्री सज्जन सिंह वर्मा ने इस पर सतत काम होने का जवाब दिया तो इस पर स्पीकर एनपी प्रजापति ने कहा कि यदि सड़क बनी है तो टोल नाका चले, बिना सड़क बने क्यों चले। इसकी जांच करा लें। उन्होंने कहा कि इसमें दो ध्यानाकर्षण आ गए हैं। तीन पुलों की जो बात है, उसमें मूल रास्ता ठेकेदार रिपेयर नहीं कर रहा है। पांचों पैकेज में ठेकेदार ऐसा कर रहे हैं। यहां अफसर बैठे हैं, वे भी वहां नर्मदा किनारे जाएं। रेस्ट हाउस में रुकें सड़क देख लें और हमसे भी वहां चर्चा कर लें।
- आश्वासनों में समयसीमा पर शिकंजा
प्रश्नकाल में सुरेंद्र सिंह शेरा ने बुरहानपुर अस्पताल में सुविधाएं न होने का सवाल उठाया। इस पर मंत्री तुलसी सिलावट ने कहा कि अतिशीघ्र संजीवनी 108 एम्बूलेंस दी जाएगी। शेरा ने पूछा अतिशीघ्र मतलब क्या। इस पर अध्यक्ष ने कहा कि बिलकुल समयसीमा मतलब समय तय हो। वही, भाजपा के रामेश्वर शर्मा ने होशंगाबाद रोड पर अवैध रेत भंडारण व रात को ट्रक खड़े होने का मुद्दा उठाया, जिस पर मंत्री आरिफ अकील ने ट्रकों के खड़े होने पर रोक लगवाने का आश्वासन दिया।

 

MP/CG लाइव टीवी

खबरें और लेख पढ़ने का आपका अनुभव बेहतर हो और आप तक आपकी पसंद का कंटेंट पहुंचे , यह सुनिश्चित करने के लिए हम अपनी वेबसाइट में कूकीज (Cookies) का इस्तेमाल करते हैं। हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति (Privacy Policy ) और कूकीज नीति (Cookies Policy ) से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned