'मोगलीलैंड': विकास में पीछे छूटा...

'मोगलीलैंड': विकास में पीछे छूटा...

Deepesh Tiwari | Publish: Oct, 14 2018 07:45:34 AM (IST) Bhopal, Madhya Pradesh, India

जल, जंगल और जमीन के लिए संघर्षरत हैं लोग...

गोविंद ठाकरे की रिपोर्ट...
मोगलीलैंड के नाम से प्रसिद्ध सिवनी जिले में वनांचल से शहरों तक सियासत की बात हो रही है। दावेदार टिकट के लिए बगावत और भितरघात तक करने को आमादा हैं। रुडयार्ड किपलिंग ने भले यहां के रहस्यलोक को जंगलबुक के माध्यम से रच दिया, लेकिन विकास के पटल पर जिला अब भी पिछड़ा है।

वनी, लखनादौन, केवलारी और बरघाट विधानसभा क्षेत्र में लोग नेताओं की नाकामियों से नाराज हैं। अनुसूचित जनजाति के लिए आरक्षित सीट लखनादौन का घंसौर थाना क्षेत्र आदिवासी बहुल है। यहां लोग जल, जंगल और जमीन का हक पाने संघर्षरत हैं।

कुछ महीने पहले जम्होड़ीखुर्द, पनारझिरी सहित कई जगहों पर संविधान की पांचवीं अनुसूची का हवाला देते हुए 'ग्राम सभा के बिना अनुमति गांव में प्रवेश वर्जित है...' के बोर्ड लगा दिए गए थे। बाद में प्रशासनिक हस्तेक्षप से मामला शांत हुआ, लेकिन इसकी आग अब भी भीतर ही भीतर सुलग रही है।

seoni02

सिवनी शहर के प्रमुख चौक चौपाल और सिद्ध मठ में स्थानीय नागरिक बीएम भगत, रमेश ठाकुर, बीएल तिवारी, एके पांडे, दिलीप माना ठाकुर और डॉ. भूपेंद्र मिश्रा ने बताया कि अपेक्षाकृत विकास नहीं होने से बेरोजगारी ज्यादा है।

ब्रॉडगेज का काम धीमी गति से चल रहा है। पेयजल की समस्या है तो जिला अस्पताल में डॉक्टरों की कमी है। स्वास्थ्य सुविधाओं सहित तमाम समस्याओं से घंसौर कस्बा भी घिरा है।

विकास जैन बोले, सौ बिस्तरों के अस्पताल में एक डॉक्टर है, वह भी शाम के बाद कभी नहीं आते। घंसौर को नगर पंचायत बनाए जाने की मांग पूरी नहीं होने से लोगों में नाराजगी है। यही गुस्सा केवलारी के तेज सिंह ने भी व्यक्त किया।

कलकुही गांव के चौक पर राजकुमार हल्दकार, बेनीप्रसाद आर्मो, रघुनाथ उइके व अन्य लोग मिल गए। उन्होंने बताया कि बरगी बांध के पायली टापू से लगे होने के बावजूद यहां कई गांवों में पेयजल की समस्या विकाराल है।

हमें गांव से एक-डेढ़ किमी दूर उस जगह तक लेकर गए, जहां उनका एकमात्र पेयजल स्रोत झीरिया है। लंबी चढ़ाई चढ़कर महिलाएं निस्तार लायक पानी जुटा पाती हैं। इन अभावग्रस्त गांवों से थोड़ी दूरी पर 600 मेगावॉट के एक निजी पॉवर प्लांट के लिए बरगी डैम से लिफ्ट कर पानी पहुंचाया जाता है।

सिवनी से 20 किमी दूर सांसद बोधसिंह भगत द्वारा गोद ली गई ग्राम पंचायत गोपालगंज की हालत खराब है। गोद लेने के बाद सांसद झांकने तक नहीं पहुंचे। मुकेश मालवीय ने बताया विकास के नाम पर यहां ऐसा कुछ नहीं हुआ, जिसे गिनाया जा सके। कुलदीप जायसवाल, अजय कुमार, जगत चौरसिया ने कहा कि हाइवे से लगे इस गांव में विकास की काफी संभावनाएं हैं, लेकिन कोई सार्थक कदम नहीं उठाए गए।

विधायक राय ठोकेंगे टिकट का दावा
भाजपा के भितरघातियों से परेशान नहीं हूं। कार्यकर्ता मुझे स्वीकार कर रहे हैं। यदि किसी को नाराजगी होगी तो मैं उसे मनाने का प्रयास करूंगा। भाजपा ने टिकट दिया तो मैं चुनाव लड़ूगा। नहीं मिला तो भी भाजपा का साथ नहीं छोड़ूंगा।

- दिनेश राय मुनमुन, विधायक सिवनी

MP/CG लाइव टीवी

Ad Block is Banned